Breaking News :

हवाओं,बूंदाबांदी ने बढ़ाई सर्दी, प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में हल्की बारिश की संभावना भोपाल, देश के दक्षिणी हिस्से को अपनी चपेट में लेकर गुजरात की ओर बढ़ रह 'ओखी' चक्रवात के मध्यप्रदेश में भी असर से प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में कहीं हवाओं और कहीं बूंदाबांदी ने अचानक सर्दी बढ़ा दी है. मौसम विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक अरब सागर में उठ रहे ओखी चक्रवात के असर से मध्यप्रदेश के पश्चिमी और गुजरात से लगे कुछ हिस्सों में सुबह हल्की बूंदाबांदी दर्ज हुई है. रतलाम, उज्जैन और शिवपुरी जिले में हल्की बूंदाबांदी और समूचे प्र्रदेश में दिन के तापमान में कमी आने से अचानक सर्दी महसूस हो रही है. चक्रवात के अगले दो दिन तक असर बने रहने से पश्चिमी मध्यप्रदेश के हिस्सों में हल्की बारिश की संभावना है. दिन का तापमान कम होगा और हवाओं की तीव्रता तेज होने से सर्दी का असर बढ़ सकता है. राजधानी भोपाल में आज सुबह से बादलों के छिटपुट जमावड़े और हवाओं के बीच धूप की तीव्रता कम होने से खासी सर्दी महसूस की जा रही है. सर्दी के चलते सुबह-सुबह स्कूल जाने वाले बच्चे भी ठंड से ठिठुरते देखे गए. अचानक बढ़ी सर्दी के कारण सुबह से सड़कों पर गाड़यिों का आवागमन भी कम दिखाई दिया. प्रदेश के इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर समेत अन्य स्थानों से भी ठंड बढऩे की खबरें हैं. मौसम वैज्ञानिक आरआर त्रिपाठी ने बताया कि राजधानी भोपाल में देर रात तक हल्की बूंदाबांदी की संभावना बन सकती है. भोपाल में अगले तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना है. इसकी वजह से न्यूनतम तापमान में मामूली उठाव आने की संभावना है."/> हवाओं,बूंदाबांदी ने बढ़ाई सर्दी, प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में हल्की बारिश की संभावना भोपाल, देश के दक्षिणी हिस्से को अपनी चपेट में लेकर गुजरात की ओर बढ़ रह 'ओखी' चक्रवात के मध्यप्रदेश में भी असर से प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में कहीं हवाओं और कहीं बूंदाबांदी ने अचानक सर्दी बढ़ा दी है. मौसम विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक अरब सागर में उठ रहे ओखी चक्रवात के असर से मध्यप्रदेश के पश्चिमी और गुजरात से लगे कुछ हिस्सों में सुबह हल्की बूंदाबांदी दर्ज हुई है. रतलाम, उज्जैन और शिवपुरी जिले में हल्की बूंदाबांदी और समूचे प्र्रदेश में दिन के तापमान में कमी आने से अचानक सर्दी महसूस हो रही है. चक्रवात के अगले दो दिन तक असर बने रहने से पश्चिमी मध्यप्रदेश के हिस्सों में हल्की बारिश की संभावना है. दिन का तापमान कम होगा और हवाओं की तीव्रता तेज होने से सर्दी का असर बढ़ सकता है. राजधानी भोपाल में आज सुबह से बादलों के छिटपुट जमावड़े और हवाओं के बीच धूप की तीव्रता कम होने से खासी सर्दी महसूस की जा रही है. सर्दी के चलते सुबह-सुबह स्कूल जाने वाले बच्चे भी ठंड से ठिठुरते देखे गए. अचानक बढ़ी सर्दी के कारण सुबह से सड़कों पर गाड़यिों का आवागमन भी कम दिखाई दिया. प्रदेश के इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर समेत अन्य स्थानों से भी ठंड बढऩे की खबरें हैं. मौसम वैज्ञानिक आरआर त्रिपाठी ने बताया कि राजधानी भोपाल में देर रात तक हल्की बूंदाबांदी की संभावना बन सकती है. भोपाल में अगले तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना है. इसकी वजह से न्यूनतम तापमान में मामूली उठाव आने की संभावना है."/> हवाओं,बूंदाबांदी ने बढ़ाई सर्दी, प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में हल्की बारिश की संभावना भोपाल, देश के दक्षिणी हिस्से को अपनी चपेट में लेकर गुजरात की ओर बढ़ रह 'ओखी' चक्रवात के मध्यप्रदेश में भी असर से प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में कहीं हवाओं और कहीं बूंदाबांदी ने अचानक सर्दी बढ़ा दी है. मौसम विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक अरब सागर में उठ रहे ओखी चक्रवात के असर से मध्यप्रदेश के पश्चिमी और गुजरात से लगे कुछ हिस्सों में सुबह हल्की बूंदाबांदी दर्ज हुई है. रतलाम, उज्जैन और शिवपुरी जिले में हल्की बूंदाबांदी और समूचे प्र्रदेश में दिन के तापमान में कमी आने से अचानक सर्दी महसूस हो रही है. चक्रवात के अगले दो दिन तक असर बने रहने से पश्चिमी मध्यप्रदेश के हिस्सों में हल्की बारिश की संभावना है. दिन का तापमान कम होगा और हवाओं की तीव्रता तेज होने से सर्दी का असर बढ़ सकता है. राजधानी भोपाल में आज सुबह से बादलों के छिटपुट जमावड़े और हवाओं के बीच धूप की तीव्रता कम होने से खासी सर्दी महसूस की जा रही है. सर्दी के चलते सुबह-सुबह स्कूल जाने वाले बच्चे भी ठंड से ठिठुरते देखे गए. अचानक बढ़ी सर्दी के कारण सुबह से सड़कों पर गाड़यिों का आवागमन भी कम दिखाई दिया. प्रदेश के इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर समेत अन्य स्थानों से भी ठंड बढऩे की खबरें हैं. मौसम वैज्ञानिक आरआर त्रिपाठी ने बताया कि राजधानी भोपाल में देर रात तक हल्की बूंदाबांदी की संभावना बन सकती है. भोपाल में अगले तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना है. इसकी वजह से न्यूनतम तापमान में मामूली उठाव आने की संभावना है.">

प्रदेश में ओखी तूफान की दस्तक

2017/12/06



हवाओं,बूंदाबांदी ने बढ़ाई सर्दी, प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में हल्की बारिश की संभावना भोपाल, देश के दक्षिणी हिस्से को अपनी चपेट में लेकर गुजरात की ओर बढ़ रह 'ओखी' चक्रवात के मध्यप्रदेश में भी असर से प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में कहीं हवाओं और कहीं बूंदाबांदी ने अचानक सर्दी बढ़ा दी है. मौसम विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक अरब सागर में उठ रहे ओखी चक्रवात के असर से मध्यप्रदेश के पश्चिमी और गुजरात से लगे कुछ हिस्सों में सुबह हल्की बूंदाबांदी दर्ज हुई है. रतलाम, उज्जैन और शिवपुरी जिले में हल्की बूंदाबांदी और समूचे प्र्रदेश में दिन के तापमान में कमी आने से अचानक सर्दी महसूस हो रही है. चक्रवात के अगले दो दिन तक असर बने रहने से पश्चिमी मध्यप्रदेश के हिस्सों में हल्की बारिश की संभावना है. दिन का तापमान कम होगा और हवाओं की तीव्रता तेज होने से सर्दी का असर बढ़ सकता है. राजधानी भोपाल में आज सुबह से बादलों के छिटपुट जमावड़े और हवाओं के बीच धूप की तीव्रता कम होने से खासी सर्दी महसूस की जा रही है. सर्दी के चलते सुबह-सुबह स्कूल जाने वाले बच्चे भी ठंड से ठिठुरते देखे गए. अचानक बढ़ी सर्दी के कारण सुबह से सड़कों पर गाड़यिों का आवागमन भी कम दिखाई दिया. प्रदेश के इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर समेत अन्य स्थानों से भी ठंड बढऩे की खबरें हैं. मौसम वैज्ञानिक आरआर त्रिपाठी ने बताया कि राजधानी भोपाल में देर रात तक हल्की बूंदाबांदी की संभावना बन सकती है. भोपाल में अगले तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना है. इसकी वजह से न्यूनतम तापमान में मामूली उठाव आने की संभावना है.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts