Breaking News :

नयी दिल्ली, सडक परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि भारत दुनिया में सबसे बडे सड़क नेटवर्क वाले देशों में एक है तथा इसे और विस्तार देने के लिए 23 किलोमीटर प्रति दिन की दर से निर्माण कार्य किया जा रहा है। श्री गडकरी ने सड़क निर्माण तथा सडक सुरक्षा पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि सड़क नेटवर्क को देश के हर कोने तक फैलाने के लिए ‘भारत माला’ नाम से एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सहित दुनिया में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है लेकिन चिंता की बात यह है कि सड़क दुर्घटनाओं में भी तेजी आ रही है।सड़क सुरक्षा को अत्यंत संवेदनशील मुद्दा बताते हुए उन्होंने कहा कि देश में हर साल पांच लाख दुर्घटनाएं हो रही है जिनमें डेढ़ लाख लोग दम तोड देते हैं। उन्होंने खुशी जतायी कि इस साल मार्च तक पहले तीन माह में सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाने वाले लोगों की संख्या चार प्रतिशत घटी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने 2020 तक सड़क दुर्घटनाओं को 50 फीसदी कम करने का चार्टर बनाया है और भारत इस चार्टर से सहमत है।ग्रेटर नोएडा में आयोजित विश्व सम्मेलन में कनाडा, फिनलैंड, लग्जमबर्ग, रूस तथा संयुक्त अरब अमीरात सहित आठ देशों के परिवहन मंत्रियों के साथ ही देश के कई राज्यों के परिवहन मंत्री हिस्सा ले रहे हैं।"/> नयी दिल्ली, सडक परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि भारत दुनिया में सबसे बडे सड़क नेटवर्क वाले देशों में एक है तथा इसे और विस्तार देने के लिए 23 किलोमीटर प्रति दिन की दर से निर्माण कार्य किया जा रहा है। श्री गडकरी ने सड़क निर्माण तथा सडक सुरक्षा पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि सड़क नेटवर्क को देश के हर कोने तक फैलाने के लिए ‘भारत माला’ नाम से एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सहित दुनिया में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है लेकिन चिंता की बात यह है कि सड़क दुर्घटनाओं में भी तेजी आ रही है।सड़क सुरक्षा को अत्यंत संवेदनशील मुद्दा बताते हुए उन्होंने कहा कि देश में हर साल पांच लाख दुर्घटनाएं हो रही है जिनमें डेढ़ लाख लोग दम तोड देते हैं। उन्होंने खुशी जतायी कि इस साल मार्च तक पहले तीन माह में सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाने वाले लोगों की संख्या चार प्रतिशत घटी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने 2020 तक सड़क दुर्घटनाओं को 50 फीसदी कम करने का चार्टर बनाया है और भारत इस चार्टर से सहमत है।ग्रेटर नोएडा में आयोजित विश्व सम्मेलन में कनाडा, फिनलैंड, लग्जमबर्ग, रूस तथा संयुक्त अरब अमीरात सहित आठ देशों के परिवहन मंत्रियों के साथ ही देश के कई राज्यों के परिवहन मंत्री हिस्सा ले रहे हैं।"/> नयी दिल्ली, सडक परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि भारत दुनिया में सबसे बडे सड़क नेटवर्क वाले देशों में एक है तथा इसे और विस्तार देने के लिए 23 किलोमीटर प्रति दिन की दर से निर्माण कार्य किया जा रहा है। श्री गडकरी ने सड़क निर्माण तथा सडक सुरक्षा पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि सड़क नेटवर्क को देश के हर कोने तक फैलाने के लिए ‘भारत माला’ नाम से एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सहित दुनिया में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है लेकिन चिंता की बात यह है कि सड़क दुर्घटनाओं में भी तेजी आ रही है।सड़क सुरक्षा को अत्यंत संवेदनशील मुद्दा बताते हुए उन्होंने कहा कि देश में हर साल पांच लाख दुर्घटनाएं हो रही है जिनमें डेढ़ लाख लोग दम तोड देते हैं। उन्होंने खुशी जतायी कि इस साल मार्च तक पहले तीन माह में सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाने वाले लोगों की संख्या चार प्रतिशत घटी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने 2020 तक सड़क दुर्घटनाओं को 50 फीसदी कम करने का चार्टर बनाया है और भारत इस चार्टर से सहमत है।ग्रेटर नोएडा में आयोजित विश्व सम्मेलन में कनाडा, फिनलैंड, लग्जमबर्ग, रूस तथा संयुक्त अरब अमीरात सहित आठ देशों के परिवहन मंत्रियों के साथ ही देश के कई राज्यों के परिवहन मंत्री हिस्सा ले रहे हैं।">

प्रतिदिन बन रही है 23 किलोमीटर सड़क : गडकरी

2017/11/14



नयी दिल्ली, सडक परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि भारत दुनिया में सबसे बडे सड़क नेटवर्क वाले देशों में एक है तथा इसे और विस्तार देने के लिए 23 किलोमीटर प्रति दिन की दर से निर्माण कार्य किया जा रहा है। श्री गडकरी ने सड़क निर्माण तथा सडक सुरक्षा पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि सड़क नेटवर्क को देश के हर कोने तक फैलाने के लिए ‘भारत माला’ नाम से एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सहित दुनिया में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है लेकिन चिंता की बात यह है कि सड़क दुर्घटनाओं में भी तेजी आ रही है।सड़क सुरक्षा को अत्यंत संवेदनशील मुद्दा बताते हुए उन्होंने कहा कि देश में हर साल पांच लाख दुर्घटनाएं हो रही है जिनमें डेढ़ लाख लोग दम तोड देते हैं। उन्होंने खुशी जतायी कि इस साल मार्च तक पहले तीन माह में सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाने वाले लोगों की संख्या चार प्रतिशत घटी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने 2020 तक सड़क दुर्घटनाओं को 50 फीसदी कम करने का चार्टर बनाया है और भारत इस चार्टर से सहमत है।ग्रेटर नोएडा में आयोजित विश्व सम्मेलन में कनाडा, फिनलैंड, लग्जमबर्ग, रूस तथा संयुक्त अरब अमीरात सहित आठ देशों के परिवहन मंत्रियों के साथ ही देश के कई राज्यों के परिवहन मंत्री हिस्सा ले रहे हैं।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts