Breaking News :

नयी दिल्ली, भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीमें पदक के वादे के साथ ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चार अप्रैल से होने वाले 21 वें राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार को रवाना हो गयीं। मनप्रीत सिंह की कप्तानी में पुरुष टीम और रानी की अगुवाई में महिला टीम यहां इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से ब्रिस्बेन के लिए रवाना हुई।हॉकी इंडिया के अधिकारियों, मित्रों और परिवार के सदस्यों ने हवाई अड्डे पर खिलाड़ियों को विदाई दी। 25 वर्षीय मनप्रीत ने रवानगी से पहले कहा, “हमारा लक्ष्य गोल्ड कोस्ट में गोल्ड जीतना है।हम पिछले दो राष्ट्रमंडल खेलों में ऑस्ट्रेलिया से फाइनल में लगातार हार चुके हैं लेकिन इस बार हम पदक का रंग बदलना चाहते हैं। टीम ने कैंप में इन खेलों के लिए कड़ी तैयारी की है और अपने खेल की कमजोरियों को दूर किया है।अब हमें अपनी योजनाओं को मैदान में लागू करना है और पूरे टूर्नामेंट में प्रदर्शन में निरंतरता को बनाये रखना है।” भारतीय पुरुष टीम पूल बी में पाकिस्तान, मलेशिया, वेल्स और इंग्लैंड के साथ है।पुरुष टीम का पहला मुकाबला सात अप्रैल को पाकिस्तान से होना है जबकि महिला टीम अपने अभियान की शुरुआत पांच अप्रैल को वेल्स के खिलाफ करेगी।महिला टीम पूल ए में वेल्स, मलेशिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के साथ है। महिला टीम की कप्तान रानी ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि किसी टीम को हराना आसान होगा।हर मैच चुनौतीपूर्ण होगा लेकिन जीत के साथ शुरुआत करना आदर्श होगा।हम पदक के प्रबल दावेदार रहेंगे।हम जीतने के लिए बेताब हैं और एशियाई चैंपियन होने की प्रतिष्ठा से पूरा न्याय करेंगे।हमने अपनी तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ी है।हम उत्साहित हैं और पूरे देश की शुभकामनाएं लेकर जा रहे हैं।”
"/>
नयी दिल्ली, भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीमें पदक के वादे के साथ ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चार अप्रैल से होने वाले 21 वें राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार को रवाना हो गयीं। मनप्रीत सिंह की कप्तानी में पुरुष टीम और रानी की अगुवाई में महिला टीम यहां इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से ब्रिस्बेन के लिए रवाना हुई।हॉकी इंडिया के अधिकारियों, मित्रों और परिवार के सदस्यों ने हवाई अड्डे पर खिलाड़ियों को विदाई दी। 25 वर्षीय मनप्रीत ने रवानगी से पहले कहा, “हमारा लक्ष्य गोल्ड कोस्ट में गोल्ड जीतना है।हम पिछले दो राष्ट्रमंडल खेलों में ऑस्ट्रेलिया से फाइनल में लगातार हार चुके हैं लेकिन इस बार हम पदक का रंग बदलना चाहते हैं। टीम ने कैंप में इन खेलों के लिए कड़ी तैयारी की है और अपने खेल की कमजोरियों को दूर किया है।अब हमें अपनी योजनाओं को मैदान में लागू करना है और पूरे टूर्नामेंट में प्रदर्शन में निरंतरता को बनाये रखना है।” भारतीय पुरुष टीम पूल बी में पाकिस्तान, मलेशिया, वेल्स और इंग्लैंड के साथ है।पुरुष टीम का पहला मुकाबला सात अप्रैल को पाकिस्तान से होना है जबकि महिला टीम अपने अभियान की शुरुआत पांच अप्रैल को वेल्स के खिलाफ करेगी।महिला टीम पूल ए में वेल्स, मलेशिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के साथ है। महिला टीम की कप्तान रानी ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि किसी टीम को हराना आसान होगा।हर मैच चुनौतीपूर्ण होगा लेकिन जीत के साथ शुरुआत करना आदर्श होगा।हम पदक के प्रबल दावेदार रहेंगे।हम जीतने के लिए बेताब हैं और एशियाई चैंपियन होने की प्रतिष्ठा से पूरा न्याय करेंगे।हमने अपनी तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ी है।हम उत्साहित हैं और पूरे देश की शुभकामनाएं लेकर जा रहे हैं।”
"/>
नयी दिल्ली, भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीमें पदक के वादे के साथ ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चार अप्रैल से होने वाले 21 वें राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार को रवाना हो गयीं। मनप्रीत सिंह की कप्तानी में पुरुष टीम और रानी की अगुवाई में महिला टीम यहां इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से ब्रिस्बेन के लिए रवाना हुई।हॉकी इंडिया के अधिकारियों, मित्रों और परिवार के सदस्यों ने हवाई अड्डे पर खिलाड़ियों को विदाई दी। 25 वर्षीय मनप्रीत ने रवानगी से पहले कहा, “हमारा लक्ष्य गोल्ड कोस्ट में गोल्ड जीतना है।हम पिछले दो राष्ट्रमंडल खेलों में ऑस्ट्रेलिया से फाइनल में लगातार हार चुके हैं लेकिन इस बार हम पदक का रंग बदलना चाहते हैं। टीम ने कैंप में इन खेलों के लिए कड़ी तैयारी की है और अपने खेल की कमजोरियों को दूर किया है।अब हमें अपनी योजनाओं को मैदान में लागू करना है और पूरे टूर्नामेंट में प्रदर्शन में निरंतरता को बनाये रखना है।” भारतीय पुरुष टीम पूल बी में पाकिस्तान, मलेशिया, वेल्स और इंग्लैंड के साथ है।पुरुष टीम का पहला मुकाबला सात अप्रैल को पाकिस्तान से होना है जबकि महिला टीम अपने अभियान की शुरुआत पांच अप्रैल को वेल्स के खिलाफ करेगी।महिला टीम पूल ए में वेल्स, मलेशिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के साथ है। महिला टीम की कप्तान रानी ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि किसी टीम को हराना आसान होगा।हर मैच चुनौतीपूर्ण होगा लेकिन जीत के साथ शुरुआत करना आदर्श होगा।हम पदक के प्रबल दावेदार रहेंगे।हम जीतने के लिए बेताब हैं और एशियाई चैंपियन होने की प्रतिष्ठा से पूरा न्याय करेंगे।हमने अपनी तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ी है।हम उत्साहित हैं और पूरे देश की शुभकामनाएं लेकर जा रहे हैं।”
">

पदक के वादे के साथ हॉकी टीमें गोल्ड कोस्ट रवाना

2018/03/28



नयी दिल्ली, भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीमें पदक के वादे के साथ ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चार अप्रैल से होने वाले 21 वें राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार को रवाना हो गयीं। मनप्रीत सिंह की कप्तानी में पुरुष टीम और रानी की अगुवाई में महिला टीम यहां इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से ब्रिस्बेन के लिए रवाना हुई।हॉकी इंडिया के अधिकारियों, मित्रों और परिवार के सदस्यों ने हवाई अड्डे पर खिलाड़ियों को विदाई दी। 25 वर्षीय मनप्रीत ने रवानगी से पहले कहा, “हमारा लक्ष्य गोल्ड कोस्ट में गोल्ड जीतना है।हम पिछले दो राष्ट्रमंडल खेलों में ऑस्ट्रेलिया से फाइनल में लगातार हार चुके हैं लेकिन इस बार हम पदक का रंग बदलना चाहते हैं। टीम ने कैंप में इन खेलों के लिए कड़ी तैयारी की है और अपने खेल की कमजोरियों को दूर किया है।अब हमें अपनी योजनाओं को मैदान में लागू करना है और पूरे टूर्नामेंट में प्रदर्शन में निरंतरता को बनाये रखना है।” भारतीय पुरुष टीम पूल बी में पाकिस्तान, मलेशिया, वेल्स और इंग्लैंड के साथ है।पुरुष टीम का पहला मुकाबला सात अप्रैल को पाकिस्तान से होना है जबकि महिला टीम अपने अभियान की शुरुआत पांच अप्रैल को वेल्स के खिलाफ करेगी।महिला टीम पूल ए में वेल्स, मलेशिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के साथ है। महिला टीम की कप्तान रानी ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि किसी टीम को हराना आसान होगा।हर मैच चुनौतीपूर्ण होगा लेकिन जीत के साथ शुरुआत करना आदर्श होगा।हम पदक के प्रबल दावेदार रहेंगे।हम जीतने के लिए बेताब हैं और एशियाई चैंपियन होने की प्रतिष्ठा से पूरा न्याय करेंगे।हमने अपनी तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ी है।हम उत्साहित हैं और पूरे देश की शुभकामनाएं लेकर जा रहे हैं।”


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts