Breaking News :

महिला सहित 4 को किया गिरफ्तार

नवभारत न्यूज भोपाल, मंडीदीप में रहने वाली महिला से हुई लूट की घटना से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है. पुलिस को जांच मेें लूट की घटना फर्जी पाई गई है. पुलिस को सामने आया है कि महिला ने अपने पति के दोस्त के कहने पर लूट की घटना को अंजाम देना बताया था. पुलिस ने महिला समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है. मिसरोद पुलिस के मुताबिक 16 जनवरी को मोनिका पत्नी मनीष जैन ने थाने आकर रिपोर्ट दर्ज की थी कि उसके घर पर आए पति के दोस्त उसे बाइक से न्यू मार्केट के लिए ले जाने की कहकर ले गए थे, लेकिन उन्होंने समरधा पुलिया के पास महिला का मोबाइल, पर्स व चेन लूट ली है. घटना सामने आने के बाद जब पुलिस ने जांच की तो पुलिस को कुछ शक हुआ. पुलिस ने घटना के संबंध में सख्ती से पूछताछ की तो महिला टूट गई और उसने बताया कि उसके पति के दोस्त प्रमोद पटवा के कहने पर फरियादिया ने अपने भाई दीपक अग्रवाल एवं अरविंद के साथ मिलकर यह साजिश रची थी. पुलिस को महिला ने बताया कि प्रमोद पटवा को राजेश शर्मा व रंजीत पटेल ने एक धोखाधड़ी के मामले में जबलपुर में बंद कराया था, जिसके बाद से प्रमोद उनसे बदला लेने की फिराक में था. इसी के चलते महिला ने अपने भाईयों के साथ मिलकर लूट की मनगढंत साजिश रची. पुलिस ने जब जांच की तो सामने आया था कि घटना के दिन ये लोग भोपाल में नहीं थे, ना ही उस दिन इनका भोपाल आना सामने आया. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. ""/>

महिला सहित 4 को किया गिरफ्तार

नवभारत न्यूज भोपाल, मंडीदीप में रहने वाली महिला से हुई लूट की घटना से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है. पुलिस को जांच मेें लूट की घटना फर्जी पाई गई है. पुलिस को सामने आया है कि महिला ने अपने पति के दोस्त के कहने पर लूट की घटना को अंजाम देना बताया था. पुलिस ने महिला समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है. मिसरोद पुलिस के मुताबिक 16 जनवरी को मोनिका पत्नी मनीष जैन ने थाने आकर रिपोर्ट दर्ज की थी कि उसके घर पर आए पति के दोस्त उसे बाइक से न्यू मार्केट के लिए ले जाने की कहकर ले गए थे, लेकिन उन्होंने समरधा पुलिया के पास महिला का मोबाइल, पर्स व चेन लूट ली है. घटना सामने आने के बाद जब पुलिस ने जांच की तो पुलिस को कुछ शक हुआ. पुलिस ने घटना के संबंध में सख्ती से पूछताछ की तो महिला टूट गई और उसने बताया कि उसके पति के दोस्त प्रमोद पटवा के कहने पर फरियादिया ने अपने भाई दीपक अग्रवाल एवं अरविंद के साथ मिलकर यह साजिश रची थी. पुलिस को महिला ने बताया कि प्रमोद पटवा को राजेश शर्मा व रंजीत पटेल ने एक धोखाधड़ी के मामले में जबलपुर में बंद कराया था, जिसके बाद से प्रमोद उनसे बदला लेने की फिराक में था. इसी के चलते महिला ने अपने भाईयों के साथ मिलकर लूट की मनगढंत साजिश रची. पुलिस ने जब जांच की तो सामने आया था कि घटना के दिन ये लोग भोपाल में नहीं थे, ना ही उस दिन इनका भोपाल आना सामने आया. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. ""/>

महिला सहित 4 को किया गिरफ्तार

नवभारत न्यूज भोपाल, मंडीदीप में रहने वाली महिला से हुई लूट की घटना से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है. पुलिस को जांच मेें लूट की घटना फर्जी पाई गई है. पुलिस को सामने आया है कि महिला ने अपने पति के दोस्त के कहने पर लूट की घटना को अंजाम देना बताया था. पुलिस ने महिला समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है. मिसरोद पुलिस के मुताबिक 16 जनवरी को मोनिका पत्नी मनीष जैन ने थाने आकर रिपोर्ट दर्ज की थी कि उसके घर पर आए पति के दोस्त उसे बाइक से न्यू मार्केट के लिए ले जाने की कहकर ले गए थे, लेकिन उन्होंने समरधा पुलिया के पास महिला का मोबाइल, पर्स व चेन लूट ली है. घटना सामने आने के बाद जब पुलिस ने जांच की तो पुलिस को कुछ शक हुआ. पुलिस ने घटना के संबंध में सख्ती से पूछताछ की तो महिला टूट गई और उसने बताया कि उसके पति के दोस्त प्रमोद पटवा के कहने पर फरियादिया ने अपने भाई दीपक अग्रवाल एवं अरविंद के साथ मिलकर यह साजिश रची थी. पुलिस को महिला ने बताया कि प्रमोद पटवा को राजेश शर्मा व रंजीत पटेल ने एक धोखाधड़ी के मामले में जबलपुर में बंद कराया था, जिसके बाद से प्रमोद उनसे बदला लेने की फिराक में था. इसी के चलते महिला ने अपने भाईयों के साथ मिलकर लूट की मनगढंत साजिश रची. पुलिस ने जब जांच की तो सामने आया था कि घटना के दिन ये लोग भोपाल में नहीं थे, ना ही उस दिन इनका भोपाल आना सामने आया. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. "">

पति के दोस्त के कहने पर रची थी लूट की झूठी कहानी

2018/01/20



महिला सहित 4 को किया गिरफ्तार

नवभारत न्यूज भोपाल, मंडीदीप में रहने वाली महिला से हुई लूट की घटना से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है. पुलिस को जांच मेें लूट की घटना फर्जी पाई गई है. पुलिस को सामने आया है कि महिला ने अपने पति के दोस्त के कहने पर लूट की घटना को अंजाम देना बताया था. पुलिस ने महिला समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है. मिसरोद पुलिस के मुताबिक 16 जनवरी को मोनिका पत्नी मनीष जैन ने थाने आकर रिपोर्ट दर्ज की थी कि उसके घर पर आए पति के दोस्त उसे बाइक से न्यू मार्केट के लिए ले जाने की कहकर ले गए थे, लेकिन उन्होंने समरधा पुलिया के पास महिला का मोबाइल, पर्स व चेन लूट ली है. घटना सामने आने के बाद जब पुलिस ने जांच की तो पुलिस को कुछ शक हुआ. पुलिस ने घटना के संबंध में सख्ती से पूछताछ की तो महिला टूट गई और उसने बताया कि उसके पति के दोस्त प्रमोद पटवा के कहने पर फरियादिया ने अपने भाई दीपक अग्रवाल एवं अरविंद के साथ मिलकर यह साजिश रची थी. पुलिस को महिला ने बताया कि प्रमोद पटवा को राजेश शर्मा व रंजीत पटेल ने एक धोखाधड़ी के मामले में जबलपुर में बंद कराया था, जिसके बाद से प्रमोद उनसे बदला लेने की फिराक में था. इसी के चलते महिला ने अपने भाईयों के साथ मिलकर लूट की मनगढंत साजिश रची. पुलिस ने जब जांच की तो सामने आया था कि घटना के दिन ये लोग भोपाल में नहीं थे, ना ही उस दिन इनका भोपाल आना सामने आया. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. "


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts