Breaking News :

वॉशिंगटन, नॉर्थ कोरिया से बढ़ती चुनौतियों को देखते हुए अमेरिकी फौज ने अंतिम विकल्प के तौर पर चुपचाप जंग की तैयारी शुरू कर दी है. सेना और अधिकारी सभी शांतिपूर्ण तरीके से युद्ध की तैयारी कर रहे हैं. हालांकि उन्हें उम्मीद है कि इसकी नौबत नहीं आएगी फिर भी अपनी ओर से अमेरिका हरसंभव स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना चाहता है. दोनों देशों के नेताओं के बीच जुबानी हमले बढऩे के बाद तनाव काफी बढ़ गया था. ऐसे में अमेरिका सतर्क हो गया है. नॉर्थ कैरलाइना के फोर्ट ब्रैग में पिछले महीने अमेरिका के अपाची अटैक हेलिकॉप्टर और चिनूक कार्गो हेलिकॉप्टर्स ने मिलकर युद्धाभ्यास किया. इस दौरान अभ्यास किया गया कि जंग के समय जब दुश्मन की तोप से गोले दागे जा रहे हों तो सैनिकों की टुकड़ी और उपकरणों को सुरक्षित तरीके से कैसे मूव कराया जाए. दो दिन बाद निवाडा के आसमान में सेना की 82वीं एयरबॉर्न डिविजन के 119 सैनिकों ने ष्ट-17 मिलिट्री कार्गो प्लेन्स से पैराशूट की मदद से छलांग लगाने का अभ्यास किया."/> वॉशिंगटन, नॉर्थ कोरिया से बढ़ती चुनौतियों को देखते हुए अमेरिकी फौज ने अंतिम विकल्प के तौर पर चुपचाप जंग की तैयारी शुरू कर दी है. सेना और अधिकारी सभी शांतिपूर्ण तरीके से युद्ध की तैयारी कर रहे हैं. हालांकि उन्हें उम्मीद है कि इसकी नौबत नहीं आएगी फिर भी अपनी ओर से अमेरिका हरसंभव स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना चाहता है. दोनों देशों के नेताओं के बीच जुबानी हमले बढऩे के बाद तनाव काफी बढ़ गया था. ऐसे में अमेरिका सतर्क हो गया है. नॉर्थ कैरलाइना के फोर्ट ब्रैग में पिछले महीने अमेरिका के अपाची अटैक हेलिकॉप्टर और चिनूक कार्गो हेलिकॉप्टर्स ने मिलकर युद्धाभ्यास किया. इस दौरान अभ्यास किया गया कि जंग के समय जब दुश्मन की तोप से गोले दागे जा रहे हों तो सैनिकों की टुकड़ी और उपकरणों को सुरक्षित तरीके से कैसे मूव कराया जाए. दो दिन बाद निवाडा के आसमान में सेना की 82वीं एयरबॉर्न डिविजन के 119 सैनिकों ने ष्ट-17 मिलिट्री कार्गो प्लेन्स से पैराशूट की मदद से छलांग लगाने का अभ्यास किया."/> वॉशिंगटन, नॉर्थ कोरिया से बढ़ती चुनौतियों को देखते हुए अमेरिकी फौज ने अंतिम विकल्प के तौर पर चुपचाप जंग की तैयारी शुरू कर दी है. सेना और अधिकारी सभी शांतिपूर्ण तरीके से युद्ध की तैयारी कर रहे हैं. हालांकि उन्हें उम्मीद है कि इसकी नौबत नहीं आएगी फिर भी अपनी ओर से अमेरिका हरसंभव स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना चाहता है. दोनों देशों के नेताओं के बीच जुबानी हमले बढऩे के बाद तनाव काफी बढ़ गया था. ऐसे में अमेरिका सतर्क हो गया है. नॉर्थ कैरलाइना के फोर्ट ब्रैग में पिछले महीने अमेरिका के अपाची अटैक हेलिकॉप्टर और चिनूक कार्गो हेलिकॉप्टर्स ने मिलकर युद्धाभ्यास किया. इस दौरान अभ्यास किया गया कि जंग के समय जब दुश्मन की तोप से गोले दागे जा रहे हों तो सैनिकों की टुकड़ी और उपकरणों को सुरक्षित तरीके से कैसे मूव कराया जाए. दो दिन बाद निवाडा के आसमान में सेना की 82वीं एयरबॉर्न डिविजन के 119 सैनिकों ने ष्ट-17 मिलिट्री कार्गो प्लेन्स से पैराशूट की मदद से छलांग लगाने का अभ्यास किया.">

नॉर्थ कोरिया से चुपचाप युद्ध की तैयारी में यूएस

2018/01/17



वॉशिंगटन, नॉर्थ कोरिया से बढ़ती चुनौतियों को देखते हुए अमेरिकी फौज ने अंतिम विकल्प के तौर पर चुपचाप जंग की तैयारी शुरू कर दी है. सेना और अधिकारी सभी शांतिपूर्ण तरीके से युद्ध की तैयारी कर रहे हैं. हालांकि उन्हें उम्मीद है कि इसकी नौबत नहीं आएगी फिर भी अपनी ओर से अमेरिका हरसंभव स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना चाहता है. दोनों देशों के नेताओं के बीच जुबानी हमले बढऩे के बाद तनाव काफी बढ़ गया था. ऐसे में अमेरिका सतर्क हो गया है. नॉर्थ कैरलाइना के फोर्ट ब्रैग में पिछले महीने अमेरिका के अपाची अटैक हेलिकॉप्टर और चिनूक कार्गो हेलिकॉप्टर्स ने मिलकर युद्धाभ्यास किया. इस दौरान अभ्यास किया गया कि जंग के समय जब दुश्मन की तोप से गोले दागे जा रहे हों तो सैनिकों की टुकड़ी और उपकरणों को सुरक्षित तरीके से कैसे मूव कराया जाए. दो दिन बाद निवाडा के आसमान में सेना की 82वीं एयरबॉर्न डिविजन के 119 सैनिकों ने ष्ट-17 मिलिट्री कार्गो प्लेन्स से पैराशूट की मदद से छलांग लगाने का अभ्यास किया.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts