Breaking News :

घर बुलाकर दिया घटना को अंजाम रायसेन/सुल्तानपुर,  नवभारत न्यूज एक ओर दुष्कर्म की बढ़ती वारदातों पर रोक लगाने के लिए सरकार कड़े कानून बना रही है। इसके बाद भी ऐसी घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। इधर सरकार ने दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी दी और उधर सुल्तानपुर में एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना घटित हो गई। दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी मिलने के बाद संभवत: नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की यह पहली घटना है। रायसेन जिले के सुल्तानपुर में नगर परिषद उपाध्यक्ष के पति द्वारा एक 9 वर्षीय स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला प्रकाश आने से सनसनी फैल गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुल्तानपुर नगर परिषद उपाध्यक्ष श्रीमती सरिता उईके का पति मंगल उईके वार्ड क्र. 15 में किराने की दुकान चलाता है। रविवार को जब मंगल उईके की पत्नी और परिवार के अन्य सदस्य पड़ोस में एक जन्म दिवस समारोह में गए थे तब मंगल दुकान पर अकेला था। रविवार को मंगल ने अपनी दुकान पर एक बच्ची को बुलाकर दुकान से लगे कमरे में ले जाकर उसके साथ छेड़छाड़ की, लेकिन जब वह बच्ची रोने लगी तो मंगल ने उसे जाने दिया। इसके तुरंत बाद मंगल ने फिर एक बच्ची को दुकान पर बुलाया। मंगल ने उस बच्ची से उसकी एक सहेली को भी बुलाने को कहा। बच्ची के बुलाने पर जब उसकी सहेली जो कक्षा 4 की छात्रा है, मंगल की दुकान पर आ गई तो मंगल ने बच्ची को टाफी देकर घर भेज दिया। इसके बाद 9 वर्षीय स्कूली छात्रा को कमरे में ले जाकर मंगल उईके पर उसके साथ अश्लील हरकतें शुरू कर दीं। छात्रा के प्रतिकार करने के बाद भी मंगल ने उसके साथ दुष्कर्म किया। मां को बताई आपबीती दुष्कर्म की शिकार छात्रा ने घर पर पहुंचकर आपबीती अपनी मां को बताई। इस दौरान पीडि़ता का पिता मजदूरी करने ग्राम बिनेका गया था। पिता के 9 बजे घर लौटने पर पीडि़ता की मां ने सारा किस्सा उसे बताया। अगले दिन दर्ज कराई रिपोर्ट अगले दिन सोमवार को सुबह 10 बजे पीडि़ता अपने माता-पिता के साथ घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने सुल्तानपुर थाने पहुंच गई। टीआई जयपाल इनवाती ने घटना को गंभीरता से लेते हुए तत्काल ही आरोपी मंगल उईके को पुलिस अभिरक्षा में ले लिया।"/> घर बुलाकर दिया घटना को अंजाम रायसेन/सुल्तानपुर,  नवभारत न्यूज एक ओर दुष्कर्म की बढ़ती वारदातों पर रोक लगाने के लिए सरकार कड़े कानून बना रही है। इसके बाद भी ऐसी घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। इधर सरकार ने दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी दी और उधर सुल्तानपुर में एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना घटित हो गई। दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी मिलने के बाद संभवत: नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की यह पहली घटना है। रायसेन जिले के सुल्तानपुर में नगर परिषद उपाध्यक्ष के पति द्वारा एक 9 वर्षीय स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला प्रकाश आने से सनसनी फैल गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुल्तानपुर नगर परिषद उपाध्यक्ष श्रीमती सरिता उईके का पति मंगल उईके वार्ड क्र. 15 में किराने की दुकान चलाता है। रविवार को जब मंगल उईके की पत्नी और परिवार के अन्य सदस्य पड़ोस में एक जन्म दिवस समारोह में गए थे तब मंगल दुकान पर अकेला था। रविवार को मंगल ने अपनी दुकान पर एक बच्ची को बुलाकर दुकान से लगे कमरे में ले जाकर उसके साथ छेड़छाड़ की, लेकिन जब वह बच्ची रोने लगी तो मंगल ने उसे जाने दिया। इसके तुरंत बाद मंगल ने फिर एक बच्ची को दुकान पर बुलाया। मंगल ने उस बच्ची से उसकी एक सहेली को भी बुलाने को कहा। बच्ची के बुलाने पर जब उसकी सहेली जो कक्षा 4 की छात्रा है, मंगल की दुकान पर आ गई तो मंगल ने बच्ची को टाफी देकर घर भेज दिया। इसके बाद 9 वर्षीय स्कूली छात्रा को कमरे में ले जाकर मंगल उईके पर उसके साथ अश्लील हरकतें शुरू कर दीं। छात्रा के प्रतिकार करने के बाद भी मंगल ने उसके साथ दुष्कर्म किया। मां को बताई आपबीती दुष्कर्म की शिकार छात्रा ने घर पर पहुंचकर आपबीती अपनी मां को बताई। इस दौरान पीडि़ता का पिता मजदूरी करने ग्राम बिनेका गया था। पिता के 9 बजे घर लौटने पर पीडि़ता की मां ने सारा किस्सा उसे बताया। अगले दिन दर्ज कराई रिपोर्ट अगले दिन सोमवार को सुबह 10 बजे पीडि़ता अपने माता-पिता के साथ घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने सुल्तानपुर थाने पहुंच गई। टीआई जयपाल इनवाती ने घटना को गंभीरता से लेते हुए तत्काल ही आरोपी मंगल उईके को पुलिस अभिरक्षा में ले लिया।"/> घर बुलाकर दिया घटना को अंजाम रायसेन/सुल्तानपुर,  नवभारत न्यूज एक ओर दुष्कर्म की बढ़ती वारदातों पर रोक लगाने के लिए सरकार कड़े कानून बना रही है। इसके बाद भी ऐसी घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। इधर सरकार ने दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी दी और उधर सुल्तानपुर में एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना घटित हो गई। दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी मिलने के बाद संभवत: नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की यह पहली घटना है। रायसेन जिले के सुल्तानपुर में नगर परिषद उपाध्यक्ष के पति द्वारा एक 9 वर्षीय स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला प्रकाश आने से सनसनी फैल गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुल्तानपुर नगर परिषद उपाध्यक्ष श्रीमती सरिता उईके का पति मंगल उईके वार्ड क्र. 15 में किराने की दुकान चलाता है। रविवार को जब मंगल उईके की पत्नी और परिवार के अन्य सदस्य पड़ोस में एक जन्म दिवस समारोह में गए थे तब मंगल दुकान पर अकेला था। रविवार को मंगल ने अपनी दुकान पर एक बच्ची को बुलाकर दुकान से लगे कमरे में ले जाकर उसके साथ छेड़छाड़ की, लेकिन जब वह बच्ची रोने लगी तो मंगल ने उसे जाने दिया। इसके तुरंत बाद मंगल ने फिर एक बच्ची को दुकान पर बुलाया। मंगल ने उस बच्ची से उसकी एक सहेली को भी बुलाने को कहा। बच्ची के बुलाने पर जब उसकी सहेली जो कक्षा 4 की छात्रा है, मंगल की दुकान पर आ गई तो मंगल ने बच्ची को टाफी देकर घर भेज दिया। इसके बाद 9 वर्षीय स्कूली छात्रा को कमरे में ले जाकर मंगल उईके पर उसके साथ अश्लील हरकतें शुरू कर दीं। छात्रा के प्रतिकार करने के बाद भी मंगल ने उसके साथ दुष्कर्म किया। मां को बताई आपबीती दुष्कर्म की शिकार छात्रा ने घर पर पहुंचकर आपबीती अपनी मां को बताई। इस दौरान पीडि़ता का पिता मजदूरी करने ग्राम बिनेका गया था। पिता के 9 बजे घर लौटने पर पीडि़ता की मां ने सारा किस्सा उसे बताया। अगले दिन दर्ज कराई रिपोर्ट अगले दिन सोमवार को सुबह 10 बजे पीडि़ता अपने माता-पिता के साथ घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने सुल्तानपुर थाने पहुंच गई। टीआई जयपाल इनवाती ने घटना को गंभीरता से लेते हुए तत्काल ही आरोपी मंगल उईके को पुलिस अभिरक्षा में ले लिया।">

नपं उपाध्यक्ष का पति दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार

2017/11/28



घर बुलाकर दिया घटना को अंजाम

  • किराने की दुकान चलाता है आरोपी,
  • पहले की छेड़छाड़ फिर किया दुष्कर्म
रायसेन/सुल्तानपुर,  नवभारत न्यूज एक ओर दुष्कर्म की बढ़ती वारदातों पर रोक लगाने के लिए सरकार कड़े कानून बना रही है। इसके बाद भी ऐसी घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। इधर सरकार ने दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी दी और उधर सुल्तानपुर में एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना घटित हो गई। दुष्कर्मियों को फांसी देने संबंधी विधेयक को मंजूरी मिलने के बाद संभवत: नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की यह पहली घटना है। रायसेन जिले के सुल्तानपुर में नगर परिषद उपाध्यक्ष के पति द्वारा एक 9 वर्षीय स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला प्रकाश आने से सनसनी फैल गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुल्तानपुर नगर परिषद उपाध्यक्ष श्रीमती सरिता उईके का पति मंगल उईके वार्ड क्र. 15 में किराने की दुकान चलाता है। रविवार को जब मंगल उईके की पत्नी और परिवार के अन्य सदस्य पड़ोस में एक जन्म दिवस समारोह में गए थे तब मंगल दुकान पर अकेला था। रविवार को मंगल ने अपनी दुकान पर एक बच्ची को बुलाकर दुकान से लगे कमरे में ले जाकर उसके साथ छेड़छाड़ की, लेकिन जब वह बच्ची रोने लगी तो मंगल ने उसे जाने दिया। इसके तुरंत बाद मंगल ने फिर एक बच्ची को दुकान पर बुलाया। मंगल ने उस बच्ची से उसकी एक सहेली को भी बुलाने को कहा। बच्ची के बुलाने पर जब उसकी सहेली जो कक्षा 4 की छात्रा है, मंगल की दुकान पर आ गई तो मंगल ने बच्ची को टाफी देकर घर भेज दिया। इसके बाद 9 वर्षीय स्कूली छात्रा को कमरे में ले जाकर मंगल उईके पर उसके साथ अश्लील हरकतें शुरू कर दीं। छात्रा के प्रतिकार करने के बाद भी मंगल ने उसके साथ दुष्कर्म किया। मां को बताई आपबीती दुष्कर्म की शिकार छात्रा ने घर पर पहुंचकर आपबीती अपनी मां को बताई। इस दौरान पीडि़ता का पिता मजदूरी करने ग्राम बिनेका गया था। पिता के 9 बजे घर लौटने पर पीडि़ता की मां ने सारा किस्सा उसे बताया। अगले दिन दर्ज कराई रिपोर्ट अगले दिन सोमवार को सुबह 10 बजे पीडि़ता अपने माता-पिता के साथ घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने सुल्तानपुर थाने पहुंच गई। टीआई जयपाल इनवाती ने घटना को गंभीरता से लेते हुए तत्काल ही आरोपी मंगल उईके को पुलिस अभिरक्षा में ले लिया।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts