Breaking News :

सेना दिवस पर भोपाल छावनी में 14 जनवरी को आयोजित होगा विशेष समारोह भोपाल, सशस्त्र सेना द्वारा गत वर्षों में भूतपूर्व सैनिकों से संबंधित कई मुद्दों जैसे स्थाई चिकित्सा भत्ता, भूतपूर्व सैनिक पुनॢनयुक्ति, डीपीआर पुनॢनयुक्ति योजना, भूतपूर्व सैनिक रैलियां, युद्ध में घायल भूतपूर्व सैनिकों के डाटा का एकत्रण, भूतपूर्व सैनिक अंशदान योजना की संशोधित दर जैसे कई विषयों के सुधार तथा संशोधन के उदाहरण प्रस्तुत किए गये हैं. 14 जनवरी को भोपाल छावनी में यह आयोजन  भी हमारे भूतपूर्व सैनिकों द्वारा सशस्त्र सेना तथा अपने देश के प्रति उनके विशाल योगदान को सम्मानित करने के प्रयास में एक पहल साबित होगा. अपने वार्षिक प्रवृत्ति को बनाए रखते हुए भारतीय सेना 14 जनवरी के दिन सेवानिवृत्ति दिवस का आयोजन कर रही है जोकि फील्ड मार्शल केएम करियप्पा, ओबीई, भारतीय सेना के प्रथम कमांडर- इन- चीफ के सेवानिवृत्ति दिवस 14 जनवरी 1953 के सम्मान तथा उनके द्वारा प्रदान की गई सेवाओं की पहचान को उजागर करने की दिशा तथा उपलक्ष्य में मनाया जाता है. भोपाल छावनी में 14 जनवरी के दिन समारोह के अवसर पर शहर तथा आस-पास के इलाकों के लगभग 300 सेवानिवृत्त व भूतपूर्व सैनिक मौजूद रहेंगे. समस्त अधिकारी गण इस दौरान अपने अनुभवों को साझा करेंगे.पहला सशस्त्र सेना सेवा निवृत्त दिवस गत वर्ष 14जनवरी को मनाया गया था. योद्धा स्थल पर होगा विशेष आयोजन सेना दिवस पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल मेंं 15 जनवरी को विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस दौरान सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में आम लोगों के अवलोकन के लिए स्थापित किया गया वायु सेना का लड़ाकू विमान मिग-23 आकर्षण का केंद्र रहेगा. सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि स्थानीय सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में कार्यक्रम 15 जनवरी को अपरान्ह चार बजे प्रारंभ होकर एक घंटे तक चलेगा. इस कार्यक्रम में आम लोगों को भी आमंत्रित किया गया है. कार्यक्रम के दौरान सेना के विशेष बैंड की प्रस्तुति के अलावा सेना के स्कूल की ओर से संगीतमय प्रस्तुति दी जाएगी. देश भक्ति से ओतप्रोत तराने भी लोगों को आकर्षित करेंगे. प्रवक्ता ने कहा कि योद्धास्थल में मिग-23 विमान स्थापित किया गया है. आने वाले दिनों में यह विमान आम लोगों के अवलोकन के लिए उपलब्ध रहेगा. मिग-23 विमान की मदद से विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया जाता है, हालाकि सेना में अब मिग की अगली सीरिज के और उन्नत तकनीकी के विमान उपलब्ध हैं."/> सेना दिवस पर भोपाल छावनी में 14 जनवरी को आयोजित होगा विशेष समारोह भोपाल, सशस्त्र सेना द्वारा गत वर्षों में भूतपूर्व सैनिकों से संबंधित कई मुद्दों जैसे स्थाई चिकित्सा भत्ता, भूतपूर्व सैनिक पुनॢनयुक्ति, डीपीआर पुनॢनयुक्ति योजना, भूतपूर्व सैनिक रैलियां, युद्ध में घायल भूतपूर्व सैनिकों के डाटा का एकत्रण, भूतपूर्व सैनिक अंशदान योजना की संशोधित दर जैसे कई विषयों के सुधार तथा संशोधन के उदाहरण प्रस्तुत किए गये हैं. 14 जनवरी को भोपाल छावनी में यह आयोजन  भी हमारे भूतपूर्व सैनिकों द्वारा सशस्त्र सेना तथा अपने देश के प्रति उनके विशाल योगदान को सम्मानित करने के प्रयास में एक पहल साबित होगा. अपने वार्षिक प्रवृत्ति को बनाए रखते हुए भारतीय सेना 14 जनवरी के दिन सेवानिवृत्ति दिवस का आयोजन कर रही है जोकि फील्ड मार्शल केएम करियप्पा, ओबीई, भारतीय सेना के प्रथम कमांडर- इन- चीफ के सेवानिवृत्ति दिवस 14 जनवरी 1953 के सम्मान तथा उनके द्वारा प्रदान की गई सेवाओं की पहचान को उजागर करने की दिशा तथा उपलक्ष्य में मनाया जाता है. भोपाल छावनी में 14 जनवरी के दिन समारोह के अवसर पर शहर तथा आस-पास के इलाकों के लगभग 300 सेवानिवृत्त व भूतपूर्व सैनिक मौजूद रहेंगे. समस्त अधिकारी गण इस दौरान अपने अनुभवों को साझा करेंगे.पहला सशस्त्र सेना सेवा निवृत्त दिवस गत वर्ष 14जनवरी को मनाया गया था. योद्धा स्थल पर होगा विशेष आयोजन सेना दिवस पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल मेंं 15 जनवरी को विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस दौरान सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में आम लोगों के अवलोकन के लिए स्थापित किया गया वायु सेना का लड़ाकू विमान मिग-23 आकर्षण का केंद्र रहेगा. सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि स्थानीय सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में कार्यक्रम 15 जनवरी को अपरान्ह चार बजे प्रारंभ होकर एक घंटे तक चलेगा. इस कार्यक्रम में आम लोगों को भी आमंत्रित किया गया है. कार्यक्रम के दौरान सेना के विशेष बैंड की प्रस्तुति के अलावा सेना के स्कूल की ओर से संगीतमय प्रस्तुति दी जाएगी. देश भक्ति से ओतप्रोत तराने भी लोगों को आकर्षित करेंगे. प्रवक्ता ने कहा कि योद्धास्थल में मिग-23 विमान स्थापित किया गया है. आने वाले दिनों में यह विमान आम लोगों के अवलोकन के लिए उपलब्ध रहेगा. मिग-23 विमान की मदद से विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया जाता है, हालाकि सेना में अब मिग की अगली सीरिज के और उन्नत तकनीकी के विमान उपलब्ध हैं."/> सेना दिवस पर भोपाल छावनी में 14 जनवरी को आयोजित होगा विशेष समारोह भोपाल, सशस्त्र सेना द्वारा गत वर्षों में भूतपूर्व सैनिकों से संबंधित कई मुद्दों जैसे स्थाई चिकित्सा भत्ता, भूतपूर्व सैनिक पुनॢनयुक्ति, डीपीआर पुनॢनयुक्ति योजना, भूतपूर्व सैनिक रैलियां, युद्ध में घायल भूतपूर्व सैनिकों के डाटा का एकत्रण, भूतपूर्व सैनिक अंशदान योजना की संशोधित दर जैसे कई विषयों के सुधार तथा संशोधन के उदाहरण प्रस्तुत किए गये हैं. 14 जनवरी को भोपाल छावनी में यह आयोजन  भी हमारे भूतपूर्व सैनिकों द्वारा सशस्त्र सेना तथा अपने देश के प्रति उनके विशाल योगदान को सम्मानित करने के प्रयास में एक पहल साबित होगा. अपने वार्षिक प्रवृत्ति को बनाए रखते हुए भारतीय सेना 14 जनवरी के दिन सेवानिवृत्ति दिवस का आयोजन कर रही है जोकि फील्ड मार्शल केएम करियप्पा, ओबीई, भारतीय सेना के प्रथम कमांडर- इन- चीफ के सेवानिवृत्ति दिवस 14 जनवरी 1953 के सम्मान तथा उनके द्वारा प्रदान की गई सेवाओं की पहचान को उजागर करने की दिशा तथा उपलक्ष्य में मनाया जाता है. भोपाल छावनी में 14 जनवरी के दिन समारोह के अवसर पर शहर तथा आस-पास के इलाकों के लगभग 300 सेवानिवृत्त व भूतपूर्व सैनिक मौजूद रहेंगे. समस्त अधिकारी गण इस दौरान अपने अनुभवों को साझा करेंगे.पहला सशस्त्र सेना सेवा निवृत्त दिवस गत वर्ष 14जनवरी को मनाया गया था. योद्धा स्थल पर होगा विशेष आयोजन सेना दिवस पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल मेंं 15 जनवरी को विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस दौरान सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में आम लोगों के अवलोकन के लिए स्थापित किया गया वायु सेना का लड़ाकू विमान मिग-23 आकर्षण का केंद्र रहेगा. सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि स्थानीय सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में कार्यक्रम 15 जनवरी को अपरान्ह चार बजे प्रारंभ होकर एक घंटे तक चलेगा. इस कार्यक्रम में आम लोगों को भी आमंत्रित किया गया है. कार्यक्रम के दौरान सेना के विशेष बैंड की प्रस्तुति के अलावा सेना के स्कूल की ओर से संगीतमय प्रस्तुति दी जाएगी. देश भक्ति से ओतप्रोत तराने भी लोगों को आकर्षित करेंगे. प्रवक्ता ने कहा कि योद्धास्थल में मिग-23 विमान स्थापित किया गया है. आने वाले दिनों में यह विमान आम लोगों के अवलोकन के लिए उपलब्ध रहेगा. मिग-23 विमान की मदद से विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया जाता है, हालाकि सेना में अब मिग की अगली सीरिज के और उन्नत तकनीकी के विमान उपलब्ध हैं.">

दूर होंगी भूतपूर्व सैनिकों की समस्याएं

2018/01/12



सेना दिवस पर भोपाल छावनी में 14 जनवरी को आयोजित होगा विशेष समारोह

भोपाल, सशस्त्र सेना द्वारा गत वर्षों में भूतपूर्व सैनिकों से संबंधित कई मुद्दों जैसे स्थाई चिकित्सा भत्ता, भूतपूर्व सैनिक पुनॢनयुक्ति, डीपीआर पुनॢनयुक्ति योजना, भूतपूर्व सैनिक रैलियां, युद्ध में घायल भूतपूर्व सैनिकों के डाटा का एकत्रण, भूतपूर्व सैनिक अंशदान योजना की संशोधित दर जैसे कई विषयों के सुधार तथा संशोधन के उदाहरण प्रस्तुत किए गये हैं. 14 जनवरी को भोपाल छावनी में यह आयोजन  भी हमारे भूतपूर्व सैनिकों द्वारा सशस्त्र सेना तथा अपने देश के प्रति उनके विशाल योगदान को सम्मानित करने के प्रयास में एक पहल साबित होगा. अपने वार्षिक प्रवृत्ति को बनाए रखते हुए भारतीय सेना 14 जनवरी के दिन सेवानिवृत्ति दिवस का आयोजन कर रही है जोकि फील्ड मार्शल केएम करियप्पा, ओबीई, भारतीय सेना के प्रथम कमांडर- इन- चीफ के सेवानिवृत्ति दिवस 14 जनवरी 1953 के सम्मान तथा उनके द्वारा प्रदान की गई सेवाओं की पहचान को उजागर करने की दिशा तथा उपलक्ष्य में मनाया जाता है. भोपाल छावनी में 14 जनवरी के दिन समारोह के अवसर पर शहर तथा आस-पास के इलाकों के लगभग 300 सेवानिवृत्त व भूतपूर्व सैनिक मौजूद रहेंगे. समस्त अधिकारी गण इस दौरान अपने अनुभवों को साझा करेंगे.पहला सशस्त्र सेना सेवा निवृत्त दिवस गत वर्ष 14जनवरी को मनाया गया था. योद्धा स्थल पर होगा विशेष आयोजन सेना दिवस पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल मेंं 15 जनवरी को विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस दौरान सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में आम लोगों के अवलोकन के लिए स्थापित किया गया वायु सेना का लड़ाकू विमान मिग-23 आकर्षण का केंद्र रहेगा. सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि स्थानीय सैन्य क्षेत्र योद्धास्थल में कार्यक्रम 15 जनवरी को अपरान्ह चार बजे प्रारंभ होकर एक घंटे तक चलेगा. इस कार्यक्रम में आम लोगों को भी आमंत्रित किया गया है. कार्यक्रम के दौरान सेना के विशेष बैंड की प्रस्तुति के अलावा सेना के स्कूल की ओर से संगीतमय प्रस्तुति दी जाएगी. देश भक्ति से ओतप्रोत तराने भी लोगों को आकर्षित करेंगे. प्रवक्ता ने कहा कि योद्धास्थल में मिग-23 विमान स्थापित किया गया है. आने वाले दिनों में यह विमान आम लोगों के अवलोकन के लिए उपलब्ध रहेगा. मिग-23 विमान की मदद से विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया जाता है, हालाकि सेना में अब मिग की अगली सीरिज के और उन्नत तकनीकी के विमान उपलब्ध हैं.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts