Breaking News :

मुंबई ,  बॉलीवुड अभिनेत्री तब्बू ने अनारकली ऑफ आरा फेम निर्देशक अविनाश दास को सरप्राइज देकर चकित कर दिया है। तब्बू ने अविनाश से एक वादा किया था और उसे पूरा कर उनका दिल जीत लिया है।अविनाश ने टि्वटर पर कहा , “चंडीगढ़ से मुंबई लौटा तो एक सरप्राइज़ मेरा इंतज़ार कर रहा था।तीन कार्टून भरी हुई किताबें घर पहुंची हुई थीं।कुछ निकाल कर मैंने तुरत शेल्फ़ में लगा ली।आप यक़ीन नहीं करेंगे, ये किताबें तब्बू ने भेजी हैं। कुछ महीने पहले उनसे मुलाक़ात हुई थी।हिंदी को लेकर मेरे अति उत्साह से उन्हें थोड़ा मज़ा आ गया।मुझसे कहा कि आपको अपनी कुछ पसंदीदा हिंदी किताबें भेजूंगी।उसी वक़्त मुझसे मेरा पता लेकर रख लिया।हफ़्ते भर मैंने किताबों का इंतज़ार किया, फिर भूल गया। बात की बात बात ही तो है, बात पर किसने अमल देखा है! लेकिन कुछ लोग इतने ज़हीन होते हैं कि देर सबेर अपने वादे पूरे कर ही देते हैं। शुक्रिया तबु, बहुत बहुत शुक्रिया।आप मेरी पसंदीदा अभिनेत्री रही हैं और इस ख़ूबसूरत हादसे के बाद मेरी पसंदीदा शख्सियत भी हो गयी हैं।”अविनाश ने लिखा , “ दिये जलते हैं फूल खिलते हैं बड़ी मुश्किल से मगर दुनिया में दोस्त मिलते हैं।”"/> मुंबई ,  बॉलीवुड अभिनेत्री तब्बू ने अनारकली ऑफ आरा फेम निर्देशक अविनाश दास को सरप्राइज देकर चकित कर दिया है। तब्बू ने अविनाश से एक वादा किया था और उसे पूरा कर उनका दिल जीत लिया है।अविनाश ने टि्वटर पर कहा , “चंडीगढ़ से मुंबई लौटा तो एक सरप्राइज़ मेरा इंतज़ार कर रहा था।तीन कार्टून भरी हुई किताबें घर पहुंची हुई थीं।कुछ निकाल कर मैंने तुरत शेल्फ़ में लगा ली।आप यक़ीन नहीं करेंगे, ये किताबें तब्बू ने भेजी हैं। कुछ महीने पहले उनसे मुलाक़ात हुई थी।हिंदी को लेकर मेरे अति उत्साह से उन्हें थोड़ा मज़ा आ गया।मुझसे कहा कि आपको अपनी कुछ पसंदीदा हिंदी किताबें भेजूंगी।उसी वक़्त मुझसे मेरा पता लेकर रख लिया।हफ़्ते भर मैंने किताबों का इंतज़ार किया, फिर भूल गया। बात की बात बात ही तो है, बात पर किसने अमल देखा है! लेकिन कुछ लोग इतने ज़हीन होते हैं कि देर सबेर अपने वादे पूरे कर ही देते हैं। शुक्रिया तबु, बहुत बहुत शुक्रिया।आप मेरी पसंदीदा अभिनेत्री रही हैं और इस ख़ूबसूरत हादसे के बाद मेरी पसंदीदा शख्सियत भी हो गयी हैं।”अविनाश ने लिखा , “ दिये जलते हैं फूल खिलते हैं बड़ी मुश्किल से मगर दुनिया में दोस्त मिलते हैं।”"/> मुंबई ,  बॉलीवुड अभिनेत्री तब्बू ने अनारकली ऑफ आरा फेम निर्देशक अविनाश दास को सरप्राइज देकर चकित कर दिया है। तब्बू ने अविनाश से एक वादा किया था और उसे पूरा कर उनका दिल जीत लिया है।अविनाश ने टि्वटर पर कहा , “चंडीगढ़ से मुंबई लौटा तो एक सरप्राइज़ मेरा इंतज़ार कर रहा था।तीन कार्टून भरी हुई किताबें घर पहुंची हुई थीं।कुछ निकाल कर मैंने तुरत शेल्फ़ में लगा ली।आप यक़ीन नहीं करेंगे, ये किताबें तब्बू ने भेजी हैं। कुछ महीने पहले उनसे मुलाक़ात हुई थी।हिंदी को लेकर मेरे अति उत्साह से उन्हें थोड़ा मज़ा आ गया।मुझसे कहा कि आपको अपनी कुछ पसंदीदा हिंदी किताबें भेजूंगी।उसी वक़्त मुझसे मेरा पता लेकर रख लिया।हफ़्ते भर मैंने किताबों का इंतज़ार किया, फिर भूल गया। बात की बात बात ही तो है, बात पर किसने अमल देखा है! लेकिन कुछ लोग इतने ज़हीन होते हैं कि देर सबेर अपने वादे पूरे कर ही देते हैं। शुक्रिया तबु, बहुत बहुत शुक्रिया।आप मेरी पसंदीदा अभिनेत्री रही हैं और इस ख़ूबसूरत हादसे के बाद मेरी पसंदीदा शख्सियत भी हो गयी हैं।”अविनाश ने लिखा , “ दिये जलते हैं फूल खिलते हैं बड़ी मुश्किल से मगर दुनिया में दोस्त मिलते हैं।”">

तब्बू ने अविनाश दास को दिया सरप्राइज

2017/11/14



मुंबई ,  बॉलीवुड अभिनेत्री तब्बू ने अनारकली ऑफ आरा फेम निर्देशक अविनाश दास को सरप्राइज देकर चकित कर दिया है। तब्बू ने अविनाश से एक वादा किया था और उसे पूरा कर उनका दिल जीत लिया है।अविनाश ने टि्वटर पर कहा , “चंडीगढ़ से मुंबई लौटा तो एक सरप्राइज़ मेरा इंतज़ार कर रहा था।तीन कार्टून भरी हुई किताबें घर पहुंची हुई थीं।कुछ निकाल कर मैंने तुरत शेल्फ़ में लगा ली।आप यक़ीन नहीं करेंगे, ये किताबें तब्बू ने भेजी हैं। कुछ महीने पहले उनसे मुलाक़ात हुई थी।हिंदी को लेकर मेरे अति उत्साह से उन्हें थोड़ा मज़ा आ गया।मुझसे कहा कि आपको अपनी कुछ पसंदीदा हिंदी किताबें भेजूंगी।उसी वक़्त मुझसे मेरा पता लेकर रख लिया।हफ़्ते भर मैंने किताबों का इंतज़ार किया, फिर भूल गया। बात की बात बात ही तो है, बात पर किसने अमल देखा है! लेकिन कुछ लोग इतने ज़हीन होते हैं कि देर सबेर अपने वादे पूरे कर ही देते हैं। शुक्रिया तबु, बहुत बहुत शुक्रिया।आप मेरी पसंदीदा अभिनेत्री रही हैं और इस ख़ूबसूरत हादसे के बाद मेरी पसंदीदा शख्सियत भी हो गयी हैं।”अविनाश ने लिखा , “ दिये जलते हैं फूल खिलते हैं बड़ी मुश्किल से मगर दुनिया में दोस्त मिलते हैं।”


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts