Breaking News :

पेट लवर्स को मिली नई नस्लों के बारे में जानकारी भोपाल, कैनल क्लब ऑफ भोपाल की ओर से रविवार को वृंदावन गार्डन में पांचवां और छठवां चैम्पियनशिप डॉग शो का आयोजन किया गया. इस प्रतियोगिता में देशभर से करीब 350 से अधिक डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. कैनल क्लब ऑफ इंडिया द्वारा सन 1902 में डिस्टिंक्ट ब्रीड घोषित की जा चुकी इंग्लिश स्पेनियल प्रतियोगिता में सभी डॉग लवर्स के बीच आकर्षण का केन्द्र रहा. बच्चों को पसंद आए चाउ-चाउ और टेरियर यह पहला मौका था, जब भोपाल में आयोजित डॉग शो में इटली और रशिया से डॉग हैंडलर्स भी प्रतियोगिता में शामिल हुए. इनके अलावा बैंगलोर, ऊटी, देहरादून, केरल, दिल्ली और भोपाल के डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. रविवार को वृंदावन गार्डन में पहली बार लेब्राडोर क्लब ऑफ भोपाल के लेब्राडोर शो का आयोजन भी किया गया. दोनों ही शो में अंजली वैद्य, मुकुल वैद्य और नवाब मुनीर बिन जंग शामिल हुए. डॉग शो में रॉट वाइलर, चाउ चाउ, पॉमेलियन, साइबेरियन हस्की, बीगल, गोल्डन रिट्राइवर, लेम्ब्राडोर, पग, शिहतजु, फ्रेंच बुलडॉग समेत ची हुआहुआ, यॉर्कशिर टेरियर, तिब्बतियन मैस्टिफ, सेंट बर्नार्ड और ग्रेट डेन शामिल हुए."/> पेट लवर्स को मिली नई नस्लों के बारे में जानकारी भोपाल, कैनल क्लब ऑफ भोपाल की ओर से रविवार को वृंदावन गार्डन में पांचवां और छठवां चैम्पियनशिप डॉग शो का आयोजन किया गया. इस प्रतियोगिता में देशभर से करीब 350 से अधिक डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. कैनल क्लब ऑफ इंडिया द्वारा सन 1902 में डिस्टिंक्ट ब्रीड घोषित की जा चुकी इंग्लिश स्पेनियल प्रतियोगिता में सभी डॉग लवर्स के बीच आकर्षण का केन्द्र रहा. बच्चों को पसंद आए चाउ-चाउ और टेरियर यह पहला मौका था, जब भोपाल में आयोजित डॉग शो में इटली और रशिया से डॉग हैंडलर्स भी प्रतियोगिता में शामिल हुए. इनके अलावा बैंगलोर, ऊटी, देहरादून, केरल, दिल्ली और भोपाल के डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. रविवार को वृंदावन गार्डन में पहली बार लेब्राडोर क्लब ऑफ भोपाल के लेब्राडोर शो का आयोजन भी किया गया. दोनों ही शो में अंजली वैद्य, मुकुल वैद्य और नवाब मुनीर बिन जंग शामिल हुए. डॉग शो में रॉट वाइलर, चाउ चाउ, पॉमेलियन, साइबेरियन हस्की, बीगल, गोल्डन रिट्राइवर, लेम्ब्राडोर, पग, शिहतजु, फ्रेंच बुलडॉग समेत ची हुआहुआ, यॉर्कशिर टेरियर, तिब्बतियन मैस्टिफ, सेंट बर्नार्ड और ग्रेट डेन शामिल हुए."/> पेट लवर्स को मिली नई नस्लों के बारे में जानकारी भोपाल, कैनल क्लब ऑफ भोपाल की ओर से रविवार को वृंदावन गार्डन में पांचवां और छठवां चैम्पियनशिप डॉग शो का आयोजन किया गया. इस प्रतियोगिता में देशभर से करीब 350 से अधिक डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. कैनल क्लब ऑफ इंडिया द्वारा सन 1902 में डिस्टिंक्ट ब्रीड घोषित की जा चुकी इंग्लिश स्पेनियल प्रतियोगिता में सभी डॉग लवर्स के बीच आकर्षण का केन्द्र रहा. बच्चों को पसंद आए चाउ-चाउ और टेरियर यह पहला मौका था, जब भोपाल में आयोजित डॉग शो में इटली और रशिया से डॉग हैंडलर्स भी प्रतियोगिता में शामिल हुए. इनके अलावा बैंगलोर, ऊटी, देहरादून, केरल, दिल्ली और भोपाल के डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. रविवार को वृंदावन गार्डन में पहली बार लेब्राडोर क्लब ऑफ भोपाल के लेब्राडोर शो का आयोजन भी किया गया. दोनों ही शो में अंजली वैद्य, मुकुल वैद्य और नवाब मुनीर बिन जंग शामिल हुए. डॉग शो में रॉट वाइलर, चाउ चाउ, पॉमेलियन, साइबेरियन हस्की, बीगल, गोल्डन रिट्राइवर, लेम्ब्राडोर, पग, शिहतजु, फ्रेंच बुलडॉग समेत ची हुआहुआ, यॉर्कशिर टेरियर, तिब्बतियन मैस्टिफ, सेंट बर्नार्ड और ग्रेट डेन शामिल हुए.">

डॉग शो में पहुंचे इटली और रशिया से डॉग हैंडलर्स

2017/12/25



पेट लवर्स को मिली नई नस्लों के बारे में जानकारी भोपाल, कैनल क्लब ऑफ भोपाल की ओर से रविवार को वृंदावन गार्डन में पांचवां और छठवां चैम्पियनशिप डॉग शो का आयोजन किया गया. इस प्रतियोगिता में देशभर से करीब 350 से अधिक डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. कैनल क्लब ऑफ इंडिया द्वारा सन 1902 में डिस्टिंक्ट ब्रीड घोषित की जा चुकी इंग्लिश स्पेनियल प्रतियोगिता में सभी डॉग लवर्स के बीच आकर्षण का केन्द्र रहा. बच्चों को पसंद आए चाउ-चाउ और टेरियर यह पहला मौका था, जब भोपाल में आयोजित डॉग शो में इटली और रशिया से डॉग हैंडलर्स भी प्रतियोगिता में शामिल हुए. इनके अलावा बैंगलोर, ऊटी, देहरादून, केरल, दिल्ली और भोपाल के डॉग लवर्स ने हिस्सा लिया. रविवार को वृंदावन गार्डन में पहली बार लेब्राडोर क्लब ऑफ भोपाल के लेब्राडोर शो का आयोजन भी किया गया. दोनों ही शो में अंजली वैद्य, मुकुल वैद्य और नवाब मुनीर बिन जंग शामिल हुए. डॉग शो में रॉट वाइलर, चाउ चाउ, पॉमेलियन, साइबेरियन हस्की, बीगल, गोल्डन रिट्राइवर, लेम्ब्राडोर, पग, शिहतजु, फ्रेंच बुलडॉग समेत ची हुआहुआ, यॉर्कशिर टेरियर, तिब्बतियन मैस्टिफ, सेंट बर्नार्ड और ग्रेट डेन शामिल हुए.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts