Breaking News :

12 साल तक महिला के साथ रहे लिव इन रिलेशनशिप में भोपाल, नवभारत संवाददाता. सीआईडी इंदौर में पदस्थ डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व शाहपुरा थाने में मामला दर्ज किया गया है. पुलिस का कहना है कि जांच रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने डीएसपी मिश्रा के साले अनुज पांडे के विरूद्व भी मामला दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि पीएचक्यू में मुख्यमंत्री से मिलने की जिद पर अड़ी महिला की खबर मीडिया में सामने आने के बाद मामला दर्ज किया गया है. गौरतलब है कि शाहपुरा में रहने वाली 35 वर्षीय महिला ने आरोप लगाए थे कि वह डीएसपी पवन मिश्रा के साथ 12 साल से लिव-इन-रिलेशन में रह रही है. महिला के पिता सामाजिक न्याय विभाग में उपसंचालक रहे है. महिला ने पीएचक्यू में अफसरों को यह भी बताया था कि डीएसपी की पत्नी व उनके साले द्वारा धमकी दी जा रही है. महिला ने शिकायत में बताया था कि वर्ष 2005 में डीएसपी पवन मिश्रा ने उनकी मांग में सिंदूर भरकर उसे पत्नी का हक दिया था. उनकी मुलाकात तब हुई जब मिश्रा हबीबगंज थाने में टीआई थे. कुछ दिन बाद जब इंदौर स्थानांतरण हो गया तो वे उसे वहां मिलने बुलाने लगे. महिला ने बताया कि जब भी मिश्रा की नाइट ड्यूटी होती थी, तब वे मुझसे होटल कंचन में मिलते थे. दोनों के बीच मेलमिलाप का सिलसिला लगातार जारी रहा. महिला का आरोप है कि जब उन्होंने पत्नी का हक मांगा तो डीएसपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी. इसको लेकर महिला आरक्षक ने जनसुनवाई में गुहार लगाई थी, जिसकी जांच एएसपी जोन-2 हितेष चौधरी ने की थी. जांच रिपोर्ट के आधार पर शाहपुरा पुलिस ने डीएसपी पवन मिश्रा व साले अनुज पांडे के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. धारा 294, 323,506,34, 493 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. वहीं पुलिस ने इनके साले अनुज पांडे के विरूद्व घर में घुसकर महिला के साथ मारपीट व धमकी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. बताया जा रहा है कि अनुज पांडे आईसीआईसीआई में पदस्थ हैं. बताया जा रहा है कि एफआईआर 8 से 10 पन्नों की है. बच्चे के स्कूल रिकॉर्ड में दर्ज है मिश्रा का नाम महिला ने पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों को दिखाया था कि उनका बेटा डीपीएस स्कूल में पढ़ता है, जिसके स्कूल रिकॉर्ड में बेटे के पिता का नाम पवन मिश्रा अंकित है. इस दौरान उन्होंने मीडिया को भी दस्तावेज दिखाए थे. सीएम के संज्ञान में आने पर दर्ज हुआ मामला महिला डीएसपी के विरूद्व कार्रवाई की मांग को लेकर लंबे समय से भटक रही थी, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही थी. महिला ने पुलिस मुख्यालय में जाकर अपना दुखड़ा रोया, इसके बाद जब मामला सीएम के संज्ञान में आया तो डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व मामला दर्ज किया गया."/> 12 साल तक महिला के साथ रहे लिव इन रिलेशनशिप में भोपाल, नवभारत संवाददाता. सीआईडी इंदौर में पदस्थ डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व शाहपुरा थाने में मामला दर्ज किया गया है. पुलिस का कहना है कि जांच रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने डीएसपी मिश्रा के साले अनुज पांडे के विरूद्व भी मामला दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि पीएचक्यू में मुख्यमंत्री से मिलने की जिद पर अड़ी महिला की खबर मीडिया में सामने आने के बाद मामला दर्ज किया गया है. गौरतलब है कि शाहपुरा में रहने वाली 35 वर्षीय महिला ने आरोप लगाए थे कि वह डीएसपी पवन मिश्रा के साथ 12 साल से लिव-इन-रिलेशन में रह रही है. महिला के पिता सामाजिक न्याय विभाग में उपसंचालक रहे है. महिला ने पीएचक्यू में अफसरों को यह भी बताया था कि डीएसपी की पत्नी व उनके साले द्वारा धमकी दी जा रही है. महिला ने शिकायत में बताया था कि वर्ष 2005 में डीएसपी पवन मिश्रा ने उनकी मांग में सिंदूर भरकर उसे पत्नी का हक दिया था. उनकी मुलाकात तब हुई जब मिश्रा हबीबगंज थाने में टीआई थे. कुछ दिन बाद जब इंदौर स्थानांतरण हो गया तो वे उसे वहां मिलने बुलाने लगे. महिला ने बताया कि जब भी मिश्रा की नाइट ड्यूटी होती थी, तब वे मुझसे होटल कंचन में मिलते थे. दोनों के बीच मेलमिलाप का सिलसिला लगातार जारी रहा. महिला का आरोप है कि जब उन्होंने पत्नी का हक मांगा तो डीएसपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी. इसको लेकर महिला आरक्षक ने जनसुनवाई में गुहार लगाई थी, जिसकी जांच एएसपी जोन-2 हितेष चौधरी ने की थी. जांच रिपोर्ट के आधार पर शाहपुरा पुलिस ने डीएसपी पवन मिश्रा व साले अनुज पांडे के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. धारा 294, 323,506,34, 493 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. वहीं पुलिस ने इनके साले अनुज पांडे के विरूद्व घर में घुसकर महिला के साथ मारपीट व धमकी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. बताया जा रहा है कि अनुज पांडे आईसीआईसीआई में पदस्थ हैं. बताया जा रहा है कि एफआईआर 8 से 10 पन्नों की है. बच्चे के स्कूल रिकॉर्ड में दर्ज है मिश्रा का नाम महिला ने पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों को दिखाया था कि उनका बेटा डीपीएस स्कूल में पढ़ता है, जिसके स्कूल रिकॉर्ड में बेटे के पिता का नाम पवन मिश्रा अंकित है. इस दौरान उन्होंने मीडिया को भी दस्तावेज दिखाए थे. सीएम के संज्ञान में आने पर दर्ज हुआ मामला महिला डीएसपी के विरूद्व कार्रवाई की मांग को लेकर लंबे समय से भटक रही थी, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही थी. महिला ने पुलिस मुख्यालय में जाकर अपना दुखड़ा रोया, इसके बाद जब मामला सीएम के संज्ञान में आया तो डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व मामला दर्ज किया गया."/> 12 साल तक महिला के साथ रहे लिव इन रिलेशनशिप में भोपाल, नवभारत संवाददाता. सीआईडी इंदौर में पदस्थ डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व शाहपुरा थाने में मामला दर्ज किया गया है. पुलिस का कहना है कि जांच रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने डीएसपी मिश्रा के साले अनुज पांडे के विरूद्व भी मामला दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि पीएचक्यू में मुख्यमंत्री से मिलने की जिद पर अड़ी महिला की खबर मीडिया में सामने आने के बाद मामला दर्ज किया गया है. गौरतलब है कि शाहपुरा में रहने वाली 35 वर्षीय महिला ने आरोप लगाए थे कि वह डीएसपी पवन मिश्रा के साथ 12 साल से लिव-इन-रिलेशन में रह रही है. महिला के पिता सामाजिक न्याय विभाग में उपसंचालक रहे है. महिला ने पीएचक्यू में अफसरों को यह भी बताया था कि डीएसपी की पत्नी व उनके साले द्वारा धमकी दी जा रही है. महिला ने शिकायत में बताया था कि वर्ष 2005 में डीएसपी पवन मिश्रा ने उनकी मांग में सिंदूर भरकर उसे पत्नी का हक दिया था. उनकी मुलाकात तब हुई जब मिश्रा हबीबगंज थाने में टीआई थे. कुछ दिन बाद जब इंदौर स्थानांतरण हो गया तो वे उसे वहां मिलने बुलाने लगे. महिला ने बताया कि जब भी मिश्रा की नाइट ड्यूटी होती थी, तब वे मुझसे होटल कंचन में मिलते थे. दोनों के बीच मेलमिलाप का सिलसिला लगातार जारी रहा. महिला का आरोप है कि जब उन्होंने पत्नी का हक मांगा तो डीएसपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी. इसको लेकर महिला आरक्षक ने जनसुनवाई में गुहार लगाई थी, जिसकी जांच एएसपी जोन-2 हितेष चौधरी ने की थी. जांच रिपोर्ट के आधार पर शाहपुरा पुलिस ने डीएसपी पवन मिश्रा व साले अनुज पांडे के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. धारा 294, 323,506,34, 493 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. वहीं पुलिस ने इनके साले अनुज पांडे के विरूद्व घर में घुसकर महिला के साथ मारपीट व धमकी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. बताया जा रहा है कि अनुज पांडे आईसीआईसीआई में पदस्थ हैं. बताया जा रहा है कि एफआईआर 8 से 10 पन्नों की है. बच्चे के स्कूल रिकॉर्ड में दर्ज है मिश्रा का नाम महिला ने पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों को दिखाया था कि उनका बेटा डीपीएस स्कूल में पढ़ता है, जिसके स्कूल रिकॉर्ड में बेटे के पिता का नाम पवन मिश्रा अंकित है. इस दौरान उन्होंने मीडिया को भी दस्तावेज दिखाए थे. सीएम के संज्ञान में आने पर दर्ज हुआ मामला महिला डीएसपी के विरूद्व कार्रवाई की मांग को लेकर लंबे समय से भटक रही थी, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही थी. महिला ने पुलिस मुख्यालय में जाकर अपना दुखड़ा रोया, इसके बाद जब मामला सीएम के संज्ञान में आया तो डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व मामला दर्ज किया गया.">

डीएसपी पवन मिश्रा के विरुद्ध मामला दर्ज

2017/11/24



12 साल तक महिला के साथ रहे लिव इन रिलेशनशिप में

  • पत्नी का हक मांगा तो बना लीं दूरियां
  • एएसपी की जांच के आधार पर हुआ मामला दर्ज
भोपाल, नवभारत संवाददाता. सीआईडी इंदौर में पदस्थ डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व शाहपुरा थाने में मामला दर्ज किया गया है. पुलिस का कहना है कि जांच रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने डीएसपी मिश्रा के साले अनुज पांडे के विरूद्व भी मामला दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि पीएचक्यू में मुख्यमंत्री से मिलने की जिद पर अड़ी महिला की खबर मीडिया में सामने आने के बाद मामला दर्ज किया गया है. गौरतलब है कि शाहपुरा में रहने वाली 35 वर्षीय महिला ने आरोप लगाए थे कि वह डीएसपी पवन मिश्रा के साथ 12 साल से लिव-इन-रिलेशन में रह रही है. महिला के पिता सामाजिक न्याय विभाग में उपसंचालक रहे है. महिला ने पीएचक्यू में अफसरों को यह भी बताया था कि डीएसपी की पत्नी व उनके साले द्वारा धमकी दी जा रही है. महिला ने शिकायत में बताया था कि वर्ष 2005 में डीएसपी पवन मिश्रा ने उनकी मांग में सिंदूर भरकर उसे पत्नी का हक दिया था. उनकी मुलाकात तब हुई जब मिश्रा हबीबगंज थाने में टीआई थे. कुछ दिन बाद जब इंदौर स्थानांतरण हो गया तो वे उसे वहां मिलने बुलाने लगे. महिला ने बताया कि जब भी मिश्रा की नाइट ड्यूटी होती थी, तब वे मुझसे होटल कंचन में मिलते थे. दोनों के बीच मेलमिलाप का सिलसिला लगातार जारी रहा. महिला का आरोप है कि जब उन्होंने पत्नी का हक मांगा तो डीएसपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी. इसको लेकर महिला आरक्षक ने जनसुनवाई में गुहार लगाई थी, जिसकी जांच एएसपी जोन-2 हितेष चौधरी ने की थी. जांच रिपोर्ट के आधार पर शाहपुरा पुलिस ने डीएसपी पवन मिश्रा व साले अनुज पांडे के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. धारा 294, 323,506,34, 493 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. वहीं पुलिस ने इनके साले अनुज पांडे के विरूद्व घर में घुसकर महिला के साथ मारपीट व धमकी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. बताया जा रहा है कि अनुज पांडे आईसीआईसीआई में पदस्थ हैं. बताया जा रहा है कि एफआईआर 8 से 10 पन्नों की है. बच्चे के स्कूल रिकॉर्ड में दर्ज है मिश्रा का नाम महिला ने पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों को दिखाया था कि उनका बेटा डीपीएस स्कूल में पढ़ता है, जिसके स्कूल रिकॉर्ड में बेटे के पिता का नाम पवन मिश्रा अंकित है. इस दौरान उन्होंने मीडिया को भी दस्तावेज दिखाए थे. सीएम के संज्ञान में आने पर दर्ज हुआ मामला महिला डीएसपी के विरूद्व कार्रवाई की मांग को लेकर लंबे समय से भटक रही थी, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही थी. महिला ने पुलिस मुख्यालय में जाकर अपना दुखड़ा रोया, इसके बाद जब मामला सीएम के संज्ञान में आया तो डीएसपी पवन मिश्रा के विरूद्व मामला दर्ज किया गया.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts