Breaking News :

डिफाल्टर दुकानदारों की लीज होगी निरस्त

2017/12/23



दुकानों के लाइसेंस बनाने लगेंगे शिविर निगम आयुक्त प्रियंका दास ने समीक्षा बैठक में दिए निर्देश भोपाल, निगम आयुक्त प्रियंका दास ने शुक्रवार को आई.एस.बी.टी. स्थित निगम कार्यालय के सभाकक्ष में राजस्व विभाग के कामकाज की समीक्षा की. निगम आयुक्त ने सम्पत्तिकर, जलदर के अतिरिक्त लायसेंस शुल्क, भवन किराया, पार्किंग, तहबाजारी, नामांतरण और लीज के प्रकरणों की भी समीक्षा की. उन्होंने दुकानदारों के लायसेंस बनाने की प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए 31 दिसम्बर 2017 तक शत-प्रतिशत दुकानदारों के लायसेंस बनाए जाएं. उन्होंने इसके लिए बाजार क्षेत्रों में शिविर लगाने के निर्देश दिए. निगम आयुक्त दास ने डिफाल्टर दुकानदारों की लीज निरस्तीकरण की कार्यवाही करने तथा राजस्व वसूली हेतु निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करने हेतु वसूली कार्य में सुधार लाने के निर्देश दिए. निगम आयुक्त प्रियंका दास ने नगर निगम क्षेत्र में स्थित निगम की सम्पत्तियां जो कि निगम में दर्ज है. उनका वेरीफिकेशन फ्लाईंग स्क्वार्ड के माध्यम से कराया जाए और दुकानों के किराए की राशि शत-प्रतिशत वसूल की जाए जो दुकानदार डिफाल्टर उनकी लीज निरस्त करने के निर्देश दिए. निगम आयुक्त ने निगम की दुकानों, भवनों के अविवादित लीज प्रकरणों का तुरंत निराकरण करने की कार्यवाही करने के साथ ही विवादित प्रकरणों में विशेष ध्यान देकर शीघ्रता से कार्यवाही करने के निर्देश दिए. राजस्व वसूली में तेजी लाने के निर्देश निगम आयुक्त प्रियंका दास ने समीक्षा के दौरान सम्पत्तिकर, जलदर सहित अन्य मदों से राजस्व वसूली कर निगम की आय बढ़ाने हेतु निर्देशानुसार राजस्व वसूली कार्य संपादित करने के निर्देश दिए. समीक्षा के दौरान निगम आयुक्त दास ने सभी जोनल अधिकारियों को नवीन लायसेंस बनाने का कार्य 31 दिसम्बर 2017 तक पूर्ण करने के साथ ही राजस्व वसूली हेतु निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु राजस्व वसूली कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए. दुकानों में नहीं आग से बचने के इंतजाम, निगम ने 58 प्रतिष्ठानों को थमाए नोटिस शहर के व्यवसायिक काम्पलेक्स व ऊंची इमारतों में अग्नि दुर्घटना से बचाव हेतु गठित अग्निशमन अधिकारियों के दल ने शुक्रवार को विभिन्न व्यवसायिक काम्पलेक्स और ऊंची इमारतों में अग्नि दुर्घटना से बचाव हेतु किए गए इंतजामों का जायजा लिया. निगम के फॉयर ऑफीसर रामेश्वर नील ने दल के साथ संत हिरदाराम नगर क्षेत्र में स्थापित व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के निरीक्षण के दौरान अग्नि दुर्घटना से बचाव हेतु व्यवस्था नहीं पाई गई जिस पर उन्हें मध्यप्रदेश नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 की धारा 351 तथा भारत की राष्ट्रीय भवन निर्माण संहिता 2016 के तहत अग्नि सुरक्षा संबंधी प्रावधान सुनिश्चित किए जाने हेतु नोटिस दिए गए. निरीक्षण के दौरान संत हिरदाराम नगर के कपड़ा व्यवसायी संघ के अध्यक्ष द्वारा संपूर्ण व्यवसायिक क्षेत्र में अग्निशमन यंत्र शीघ्र स्थापित किए जाकर फॉयर ब्रिगेड को अवगत कराने हेतु आश्वस्त किया. निगम के अग्नि दुर्घटना बचाव हेतु गठित दल ने होटल नैना पैलेस, होटल नमन पैलेस, होटल सिटी पैलेस, होटल प्लाजा इन, होटल सूरज पैलेस, मेसर्स सुराना मोटर्स, मेसर्स सांघी ब्रदर्स, सी.आई. ऑटो मोटर्स, सुदिती हॉस्पिटल, मनन हॉस्पिटल, आर.एम. हॉस्पिटल इत्यादि के भवनों अलावा 24 संस्थानों में अग्निशमन की व्यवस्था नहीं पाई गई इस कारण उन्हें निगम द्वारा नोटिस दिए गए है. सहायक फॉयर ऑफीसर इफ्तेखार खान ने दल के साथ सेंडलवुड होटल, सर्वधर्म शादी हॉल, होटल ग्रांड रेसीडेंसी, इण्डियन कॉफी हाउस, लक्ष्मी आयरन, अल्टीमेट आर्केड, कोहीनूर, टी.वी.एस शोरूम इत्यादि व्यवसायिक संस्थानों का निरीक्षण किया जिसमें अग्नि दुर्घटना से बचाव हेतु व्यवस्था नहीं पाई गई. इन संस्थानों के संचालकों को नोटिस देकर 07 दिवस में अग्निशमन व्यवस्था स्थापित कर फॉयर ब्रिगेड को अवगत कराने को कहा गया है. प्रभारी सहायक फॉयर ऑफीसर साजिद खान ने दल के साथ पिंक टॉवर, वरेण्यम मोटर्स, चौधरी हॉस्पिटल, करतार आर्केड काम्पलेक्स सहित 15 व्यवसायिक संस्थानों का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान उक्त संस्थानों में अग्निशमन संबंधी कोई व्यवस्था नहीं पाए जाने पर उन्हें नोटिस दिया गया .


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts