Breaking News :

मुंबई, बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्र में हेपेटाइटिस जागरूकता कार्यक्रम के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सद्भावना दूत नियुक्त किए गए। अमिताभ हेपेटाइटिस की रोकथाम के संबंध में लोगों को जागरूक करेंगे। अमिताभ ने कहा कि किसी को भी इस बीमारी से पीड़ित नहीं होना चाहिए। अमिताभ खुद हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रह चुके हैं और इसे मात दे चुके हैं। अमिताभ ने कहा, “मैं हेपेटाइटिस के रोकथाम से संबधित कामों के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध हूं, क्योंकि मैं भी हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रहा हूं और मैं इससे होने वाली दर्द एवं तकलीफ को बखूबी जानता हूं। मेरी यही कामना है कि कोई कभी भी वायरल हेपेटाइटिस से पीड़ित न हो। ” अमिताभ सार्वजनिक जागरूकता कार्यक्रम को अपनी आवाज और समर्थन देंगे, जिसका मकसद रोग निवारक उपायों को बढ़ावा देना और बीमारी के बोझ को कम करने के लिए शुरू में ही वायरल हेपेटाइटिस के इलाज के लिए प्रोत्साहित करना है।"/> मुंबई, बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्र में हेपेटाइटिस जागरूकता कार्यक्रम के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सद्भावना दूत नियुक्त किए गए। अमिताभ हेपेटाइटिस की रोकथाम के संबंध में लोगों को जागरूक करेंगे। अमिताभ ने कहा कि किसी को भी इस बीमारी से पीड़ित नहीं होना चाहिए। अमिताभ खुद हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रह चुके हैं और इसे मात दे चुके हैं। अमिताभ ने कहा, “मैं हेपेटाइटिस के रोकथाम से संबधित कामों के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध हूं, क्योंकि मैं भी हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रहा हूं और मैं इससे होने वाली दर्द एवं तकलीफ को बखूबी जानता हूं। मेरी यही कामना है कि कोई कभी भी वायरल हेपेटाइटिस से पीड़ित न हो। ” अमिताभ सार्वजनिक जागरूकता कार्यक्रम को अपनी आवाज और समर्थन देंगे, जिसका मकसद रोग निवारक उपायों को बढ़ावा देना और बीमारी के बोझ को कम करने के लिए शुरू में ही वायरल हेपेटाइटिस के इलाज के लिए प्रोत्साहित करना है।"/> मुंबई, बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्र में हेपेटाइटिस जागरूकता कार्यक्रम के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सद्भावना दूत नियुक्त किए गए। अमिताभ हेपेटाइटिस की रोकथाम के संबंध में लोगों को जागरूक करेंगे। अमिताभ ने कहा कि किसी को भी इस बीमारी से पीड़ित नहीं होना चाहिए। अमिताभ खुद हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रह चुके हैं और इसे मात दे चुके हैं। अमिताभ ने कहा, “मैं हेपेटाइटिस के रोकथाम से संबधित कामों के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध हूं, क्योंकि मैं भी हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रहा हूं और मैं इससे होने वाली दर्द एवं तकलीफ को बखूबी जानता हूं। मेरी यही कामना है कि कोई कभी भी वायरल हेपेटाइटिस से पीड़ित न हो। ” अमिताभ सार्वजनिक जागरूकता कार्यक्रम को अपनी आवाज और समर्थन देंगे, जिसका मकसद रोग निवारक उपायों को बढ़ावा देना और बीमारी के बोझ को कम करने के लिए शुरू में ही वायरल हेपेटाइटिस के इलाज के लिए प्रोत्साहित करना है।">

डब्ल्यूएचओ के सद्भावना दूत बने अमिताभ

2017/05/13



मुंबई, बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्र में हेपेटाइटिस जागरूकता कार्यक्रम के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सद्भावना दूत नियुक्त किए गए। अमिताभ हेपेटाइटिस की रोकथाम के संबंध में लोगों को जागरूक करेंगे। अमिताभ ने कहा कि किसी को भी इस बीमारी से पीड़ित नहीं होना चाहिए। अमिताभ खुद हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रह चुके हैं और इसे मात दे चुके हैं। अमिताभ ने कहा, “मैं हेपेटाइटिस के रोकथाम से संबधित कामों के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध हूं, क्योंकि मैं भी हेपेटाइटिस-बी से पीड़ित रहा हूं और मैं इससे होने वाली दर्द एवं तकलीफ को बखूबी जानता हूं। मेरी यही कामना है कि कोई कभी भी वायरल हेपेटाइटिस से पीड़ित न हो। ” अमिताभ सार्वजनिक जागरूकता कार्यक्रम को अपनी आवाज और समर्थन देंगे, जिसका मकसद रोग निवारक उपायों को बढ़ावा देना और बीमारी के बोझ को कम करने के लिए शुरू में ही वायरल हेपेटाइटिस के इलाज के लिए प्रोत्साहित करना है।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts