Breaking News :

नगर निगम परिषद की बैठक आज आईएसबीटी के परिषद हाल में नवभारत न्यूज भोपाल, नगर निगम परिषद की बैठक का आयोजन मंगलवार को आईएसबीटी स्थित परिषद हॉल में किया गया है. बैठक के हंगामेदार होने के आसार हैं. इसके लिये दोनों पार्षद दलों ने बैठक का आयोजन कर रणनीति भी तैयार की है. कांग्रेस के पार्षद वार्डों में काम ठप पडऩे का मुद्दा उठायेंगे. भाजपा पार्षद दल व एमआईसी की अलग-अलग बैठक आयोजित की गई, जिसमें सवालों के जवाब तैयार कराये गये एवं रणनीति बनाई गई ताकि विपक्ष का सामना किया जा सके. हाल ही में एमआईसी के दो सदस्यों को लेकर निगम आयुक्त द्वारा संभागायुक्त को लिखे पत्र को लेकर भी सत्ता पक्ष में असंतोष नजर आया. उधर कांग्रेस पार्षद दल की बैठक होटल विंड एंड वेज में आयोजित की गई, जिसमें नेता प्रतिपक्ष मो. सगीर ने कहा कि वार्डों में काम ठप है, क्योंकि पैसा नहीं है, जबकि नगर निगम अन्य कार्यों पर करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है. उनका कहना है कि इस मामले पर वे महापौर से जवाब मांगें कि स्वच्छता अभियान में आपने करीब बीस वार्डों का सम्मान किया, तो क्या शेष वार्ड गंदे हैं और भोपाल को स्वच्छता में दूसरी पायदान कैसे मिल गई. बहरहाल सीमित एजेंडा वाली इस बैठक में प्रश्नकाल के दौरान हंगामा होने के आसार हैं."/> नगर निगम परिषद की बैठक आज आईएसबीटी के परिषद हाल में नवभारत न्यूज भोपाल, नगर निगम परिषद की बैठक का आयोजन मंगलवार को आईएसबीटी स्थित परिषद हॉल में किया गया है. बैठक के हंगामेदार होने के आसार हैं. इसके लिये दोनों पार्षद दलों ने बैठक का आयोजन कर रणनीति भी तैयार की है. कांग्रेस के पार्षद वार्डों में काम ठप पडऩे का मुद्दा उठायेंगे. भाजपा पार्षद दल व एमआईसी की अलग-अलग बैठक आयोजित की गई, जिसमें सवालों के जवाब तैयार कराये गये एवं रणनीति बनाई गई ताकि विपक्ष का सामना किया जा सके. हाल ही में एमआईसी के दो सदस्यों को लेकर निगम आयुक्त द्वारा संभागायुक्त को लिखे पत्र को लेकर भी सत्ता पक्ष में असंतोष नजर आया. उधर कांग्रेस पार्षद दल की बैठक होटल विंड एंड वेज में आयोजित की गई, जिसमें नेता प्रतिपक्ष मो. सगीर ने कहा कि वार्डों में काम ठप है, क्योंकि पैसा नहीं है, जबकि नगर निगम अन्य कार्यों पर करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है. उनका कहना है कि इस मामले पर वे महापौर से जवाब मांगें कि स्वच्छता अभियान में आपने करीब बीस वार्डों का सम्मान किया, तो क्या शेष वार्ड गंदे हैं और भोपाल को स्वच्छता में दूसरी पायदान कैसे मिल गई. बहरहाल सीमित एजेंडा वाली इस बैठक में प्रश्नकाल के दौरान हंगामा होने के आसार हैं."/> नगर निगम परिषद की बैठक आज आईएसबीटी के परिषद हाल में नवभारत न्यूज भोपाल, नगर निगम परिषद की बैठक का आयोजन मंगलवार को आईएसबीटी स्थित परिषद हॉल में किया गया है. बैठक के हंगामेदार होने के आसार हैं. इसके लिये दोनों पार्षद दलों ने बैठक का आयोजन कर रणनीति भी तैयार की है. कांग्रेस के पार्षद वार्डों में काम ठप पडऩे का मुद्दा उठायेंगे. भाजपा पार्षद दल व एमआईसी की अलग-अलग बैठक आयोजित की गई, जिसमें सवालों के जवाब तैयार कराये गये एवं रणनीति बनाई गई ताकि विपक्ष का सामना किया जा सके. हाल ही में एमआईसी के दो सदस्यों को लेकर निगम आयुक्त द्वारा संभागायुक्त को लिखे पत्र को लेकर भी सत्ता पक्ष में असंतोष नजर आया. उधर कांग्रेस पार्षद दल की बैठक होटल विंड एंड वेज में आयोजित की गई, जिसमें नेता प्रतिपक्ष मो. सगीर ने कहा कि वार्डों में काम ठप है, क्योंकि पैसा नहीं है, जबकि नगर निगम अन्य कार्यों पर करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है. उनका कहना है कि इस मामले पर वे महापौर से जवाब मांगें कि स्वच्छता अभियान में आपने करीब बीस वार्डों का सम्मान किया, तो क्या शेष वार्ड गंदे हैं और भोपाल को स्वच्छता में दूसरी पायदान कैसे मिल गई. बहरहाल सीमित एजेंडा वाली इस बैठक में प्रश्नकाल के दौरान हंगामा होने के आसार हैं.">

ठप पड़ेे कार्यों को लेकर हंगामे के आसार

2017/12/05



नगर निगम परिषद की बैठक आज आईएसबीटी के परिषद हाल में नवभारत न्यूज भोपाल, नगर निगम परिषद की बैठक का आयोजन मंगलवार को आईएसबीटी स्थित परिषद हॉल में किया गया है. बैठक के हंगामेदार होने के आसार हैं. इसके लिये दोनों पार्षद दलों ने बैठक का आयोजन कर रणनीति भी तैयार की है. कांग्रेस के पार्षद वार्डों में काम ठप पडऩे का मुद्दा उठायेंगे. भाजपा पार्षद दल व एमआईसी की अलग-अलग बैठक आयोजित की गई, जिसमें सवालों के जवाब तैयार कराये गये एवं रणनीति बनाई गई ताकि विपक्ष का सामना किया जा सके. हाल ही में एमआईसी के दो सदस्यों को लेकर निगम आयुक्त द्वारा संभागायुक्त को लिखे पत्र को लेकर भी सत्ता पक्ष में असंतोष नजर आया. उधर कांग्रेस पार्षद दल की बैठक होटल विंड एंड वेज में आयोजित की गई, जिसमें नेता प्रतिपक्ष मो. सगीर ने कहा कि वार्डों में काम ठप है, क्योंकि पैसा नहीं है, जबकि नगर निगम अन्य कार्यों पर करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है. उनका कहना है कि इस मामले पर वे महापौर से जवाब मांगें कि स्वच्छता अभियान में आपने करीब बीस वार्डों का सम्मान किया, तो क्या शेष वार्ड गंदे हैं और भोपाल को स्वच्छता में दूसरी पायदान कैसे मिल गई. बहरहाल सीमित एजेंडा वाली इस बैठक में प्रश्नकाल के दौरान हंगामा होने के आसार हैं.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts