Breaking News :

वाशिंगटन, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरियाई प्रमुख किम जोंग उन के साथ अगले माह होने वाली बातचीत काे स्थगित कर दिया है, हालांंकि उत्तर कोरिया ने अपनी तरफ से हर संभव कोशिश की है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को रोक रहा है अौर इसी के मद्देनजर उसने आज एक परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट भी कर दिया है। श्री ट्रंप ने 12 जून को किम जोंग उन के साथ होने वाली बैठक का जिक्र करते हुए एक पत्र में कहा“ यह काफी दुखद है कि आपने हाल की अपने बयानों में काफी गुस्सा और खुली शत्रुता को दर्शाया और उसे देखते हुए मैं महसूस करता हूं कि इस समय इस बातचीत को आयाेजित किया जाना अनुपयुक्त है।” श्री ट्रंप ने कहा कि यह एक खोया हुआ अवसर है और उम्मीद है कि किसी न किसी दिन उन दोनों की मुलाकात होगी। इस बीच सोल में उत्तर कोरियाई मीडिया की ओर से जारी एक बयान में विदेश उप मंत्री छोई सोन हुई ने अमेरिकी उप राष्ट्रपति माइक पैंसे को राजनीतिक तौर पर उनके बयान के लिए “काठ का उल्लू’’ करार दिया है जिसमें उन्हाेंने उत्तर कोरिया की तुलना लीबिया से की थी। गौरतलब है कि अमेरिका के दबाव में अाकर वहां के शासक मुअम्मर गद्दाफी ने अपने परमाणु कार्यक्रम को बीच में ही छोड़ दिया था और बाद में नाटो सैनिकों के हमले में उनकी मौत हो गई है। उत्तर कोरिया सरकार ने आज अपने पुंग्गेई-रि स्थित परमाणु परीक्षण स्थल को पूरी तरह नष्ट करने के बाद कुछ चुनींदा मीडिया को बाद में इस बात का साक्षी बनाया। सरकारी संवाद समिति केसीएनए के मुताबिक उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण को बंद करने में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह कदम उठाया है। उत्तर कोरिया का कहना है कि परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट किया जाना इस बात का संकेत है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को लेकर चल रही तनातनी को समाप्त करने का इच्छुक है। उत्तर कोरियाई नेता ने अपने परमाणु जखीरे को पूर्ण करार दिया है। उन्हाेने यह बात इस संदर्भ में कही है कि यह परमाणु परीक्षण स्थल अनुपयुक्त हो गया था।"/> वाशिंगटन, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरियाई प्रमुख किम जोंग उन के साथ अगले माह होने वाली बातचीत काे स्थगित कर दिया है, हालांंकि उत्तर कोरिया ने अपनी तरफ से हर संभव कोशिश की है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को रोक रहा है अौर इसी के मद्देनजर उसने आज एक परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट भी कर दिया है। श्री ट्रंप ने 12 जून को किम जोंग उन के साथ होने वाली बैठक का जिक्र करते हुए एक पत्र में कहा“ यह काफी दुखद है कि आपने हाल की अपने बयानों में काफी गुस्सा और खुली शत्रुता को दर्शाया और उसे देखते हुए मैं महसूस करता हूं कि इस समय इस बातचीत को आयाेजित किया जाना अनुपयुक्त है।” श्री ट्रंप ने कहा कि यह एक खोया हुआ अवसर है और उम्मीद है कि किसी न किसी दिन उन दोनों की मुलाकात होगी। इस बीच सोल में उत्तर कोरियाई मीडिया की ओर से जारी एक बयान में विदेश उप मंत्री छोई सोन हुई ने अमेरिकी उप राष्ट्रपति माइक पैंसे को राजनीतिक तौर पर उनके बयान के लिए “काठ का उल्लू’’ करार दिया है जिसमें उन्हाेंने उत्तर कोरिया की तुलना लीबिया से की थी। गौरतलब है कि अमेरिका के दबाव में अाकर वहां के शासक मुअम्मर गद्दाफी ने अपने परमाणु कार्यक्रम को बीच में ही छोड़ दिया था और बाद में नाटो सैनिकों के हमले में उनकी मौत हो गई है। उत्तर कोरिया सरकार ने आज अपने पुंग्गेई-रि स्थित परमाणु परीक्षण स्थल को पूरी तरह नष्ट करने के बाद कुछ चुनींदा मीडिया को बाद में इस बात का साक्षी बनाया। सरकारी संवाद समिति केसीएनए के मुताबिक उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण को बंद करने में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह कदम उठाया है। उत्तर कोरिया का कहना है कि परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट किया जाना इस बात का संकेत है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को लेकर चल रही तनातनी को समाप्त करने का इच्छुक है। उत्तर कोरियाई नेता ने अपने परमाणु जखीरे को पूर्ण करार दिया है। उन्हाेने यह बात इस संदर्भ में कही है कि यह परमाणु परीक्षण स्थल अनुपयुक्त हो गया था।"/> वाशिंगटन, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरियाई प्रमुख किम जोंग उन के साथ अगले माह होने वाली बातचीत काे स्थगित कर दिया है, हालांंकि उत्तर कोरिया ने अपनी तरफ से हर संभव कोशिश की है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को रोक रहा है अौर इसी के मद्देनजर उसने आज एक परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट भी कर दिया है। श्री ट्रंप ने 12 जून को किम जोंग उन के साथ होने वाली बैठक का जिक्र करते हुए एक पत्र में कहा“ यह काफी दुखद है कि आपने हाल की अपने बयानों में काफी गुस्सा और खुली शत्रुता को दर्शाया और उसे देखते हुए मैं महसूस करता हूं कि इस समय इस बातचीत को आयाेजित किया जाना अनुपयुक्त है।” श्री ट्रंप ने कहा कि यह एक खोया हुआ अवसर है और उम्मीद है कि किसी न किसी दिन उन दोनों की मुलाकात होगी। इस बीच सोल में उत्तर कोरियाई मीडिया की ओर से जारी एक बयान में विदेश उप मंत्री छोई सोन हुई ने अमेरिकी उप राष्ट्रपति माइक पैंसे को राजनीतिक तौर पर उनके बयान के लिए “काठ का उल्लू’’ करार दिया है जिसमें उन्हाेंने उत्तर कोरिया की तुलना लीबिया से की थी। गौरतलब है कि अमेरिका के दबाव में अाकर वहां के शासक मुअम्मर गद्दाफी ने अपने परमाणु कार्यक्रम को बीच में ही छोड़ दिया था और बाद में नाटो सैनिकों के हमले में उनकी मौत हो गई है। उत्तर कोरिया सरकार ने आज अपने पुंग्गेई-रि स्थित परमाणु परीक्षण स्थल को पूरी तरह नष्ट करने के बाद कुछ चुनींदा मीडिया को बाद में इस बात का साक्षी बनाया। सरकारी संवाद समिति केसीएनए के मुताबिक उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण को बंद करने में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह कदम उठाया है। उत्तर कोरिया का कहना है कि परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट किया जाना इस बात का संकेत है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को लेकर चल रही तनातनी को समाप्त करने का इच्छुक है। उत्तर कोरियाई नेता ने अपने परमाणु जखीरे को पूर्ण करार दिया है। उन्हाेने यह बात इस संदर्भ में कही है कि यह परमाणु परीक्षण स्थल अनुपयुक्त हो गया था।">

ट्रंप आैर किम के बीच हाेने वाली बातचीत स्थगित

2018/05/25



वाशिंगटन, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरियाई प्रमुख किम जोंग उन के साथ अगले माह होने वाली बातचीत काे स्थगित कर दिया है, हालांंकि उत्तर कोरिया ने अपनी तरफ से हर संभव कोशिश की है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को रोक रहा है अौर इसी के मद्देनजर उसने आज एक परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट भी कर दिया है। श्री ट्रंप ने 12 जून को किम जोंग उन के साथ होने वाली बैठक का जिक्र करते हुए एक पत्र में कहा“ यह काफी दुखद है कि आपने हाल की अपने बयानों में काफी गुस्सा और खुली शत्रुता को दर्शाया और उसे देखते हुए मैं महसूस करता हूं कि इस समय इस बातचीत को आयाेजित किया जाना अनुपयुक्त है।” श्री ट्रंप ने कहा कि यह एक खोया हुआ अवसर है और उम्मीद है कि किसी न किसी दिन उन दोनों की मुलाकात होगी। इस बीच सोल में उत्तर कोरियाई मीडिया की ओर से जारी एक बयान में विदेश उप मंत्री छोई सोन हुई ने अमेरिकी उप राष्ट्रपति माइक पैंसे को राजनीतिक तौर पर उनके बयान के लिए “काठ का उल्लू’’ करार दिया है जिसमें उन्हाेंने उत्तर कोरिया की तुलना लीबिया से की थी। गौरतलब है कि अमेरिका के दबाव में अाकर वहां के शासक मुअम्मर गद्दाफी ने अपने परमाणु कार्यक्रम को बीच में ही छोड़ दिया था और बाद में नाटो सैनिकों के हमले में उनकी मौत हो गई है। उत्तर कोरिया सरकार ने आज अपने पुंग्गेई-रि स्थित परमाणु परीक्षण स्थल को पूरी तरह नष्ट करने के बाद कुछ चुनींदा मीडिया को बाद में इस बात का साक्षी बनाया। सरकारी संवाद समिति केसीएनए के मुताबिक उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण को बंद करने में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह कदम उठाया है। उत्तर कोरिया का कहना है कि परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट किया जाना इस बात का संकेत है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम को लेकर चल रही तनातनी को समाप्त करने का इच्छुक है। उत्तर कोरियाई नेता ने अपने परमाणु जखीरे को पूर्ण करार दिया है। उन्हाेने यह बात इस संदर्भ में कही है कि यह परमाणु परीक्षण स्थल अनुपयुक्त हो गया था।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts