Breaking News :

भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी, गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय, भुवनेश्वर, भारतीय हॉकी टीम ने अपने अच्छे डिफेंस के दम पर आज हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स में जर्मनी को रोमांचक मैच में मात देकर कांस्य पदक अपने नाम किया. कलिंगा स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी. मैच में गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय रहा. पहले क्वार्टर में जर्मनी की टीम गोल दागने में नाकाम रही. 14वें मिनट में जर्मनी को पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल दागने का अवसर मिला था, जिसे असफल करने में भारत कामयाब रहा. दूसरे क्वार्टर में 21वें मिनट में एस.वी. सुनील ने आकाशदीप से मिले पास को जर्मनी के नेट में पहुंचाया और भारत को 1-0 से बढ़त दी. जर्मनी ने तीसरे क्वार्टर में अच्छा खेल दिखाया. 36वें मिनट में मार्क एपेल ने गोल किया और स्कोर 1-1 से बराबर कर लिया. भारतीय टीम को इस बीच गोल दागने के अवसर मिले थे, लेकिन जर्मनी के गोलकीपर ने भारत को सफलता हासिल नहीं करने दी. भारतीय टीम को 54वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर हासिल हुआ. हरमनप्रीत ने कोई चूक न करते हुए बॉल सीधे जर्मनी के गोल पोस्ट तक पहुंचाई और 2-1 से जीत भारत की झोली में डाल दी. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स का कांस्य पदक अपने नाम कर लिया."/> भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी, गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय, भुवनेश्वर, भारतीय हॉकी टीम ने अपने अच्छे डिफेंस के दम पर आज हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स में जर्मनी को रोमांचक मैच में मात देकर कांस्य पदक अपने नाम किया. कलिंगा स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी. मैच में गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय रहा. पहले क्वार्टर में जर्मनी की टीम गोल दागने में नाकाम रही. 14वें मिनट में जर्मनी को पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल दागने का अवसर मिला था, जिसे असफल करने में भारत कामयाब रहा. दूसरे क्वार्टर में 21वें मिनट में एस.वी. सुनील ने आकाशदीप से मिले पास को जर्मनी के नेट में पहुंचाया और भारत को 1-0 से बढ़त दी. जर्मनी ने तीसरे क्वार्टर में अच्छा खेल दिखाया. 36वें मिनट में मार्क एपेल ने गोल किया और स्कोर 1-1 से बराबर कर लिया. भारतीय टीम को इस बीच गोल दागने के अवसर मिले थे, लेकिन जर्मनी के गोलकीपर ने भारत को सफलता हासिल नहीं करने दी. भारतीय टीम को 54वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर हासिल हुआ. हरमनप्रीत ने कोई चूक न करते हुए बॉल सीधे जर्मनी के गोल पोस्ट तक पहुंचाई और 2-1 से जीत भारत की झोली में डाल दी. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स का कांस्य पदक अपने नाम कर लिया."/> भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी, गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय, भुवनेश्वर, भारतीय हॉकी टीम ने अपने अच्छे डिफेंस के दम पर आज हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स में जर्मनी को रोमांचक मैच में मात देकर कांस्य पदक अपने नाम किया. कलिंगा स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी. मैच में गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय रहा. पहले क्वार्टर में जर्मनी की टीम गोल दागने में नाकाम रही. 14वें मिनट में जर्मनी को पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल दागने का अवसर मिला था, जिसे असफल करने में भारत कामयाब रहा. दूसरे क्वार्टर में 21वें मिनट में एस.वी. सुनील ने आकाशदीप से मिले पास को जर्मनी के नेट में पहुंचाया और भारत को 1-0 से बढ़त दी. जर्मनी ने तीसरे क्वार्टर में अच्छा खेल दिखाया. 36वें मिनट में मार्क एपेल ने गोल किया और स्कोर 1-1 से बराबर कर लिया. भारतीय टीम को इस बीच गोल दागने के अवसर मिले थे, लेकिन जर्मनी के गोलकीपर ने भारत को सफलता हासिल नहीं करने दी. भारतीय टीम को 54वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर हासिल हुआ. हरमनप्रीत ने कोई चूक न करते हुए बॉल सीधे जर्मनी के गोल पोस्ट तक पहुंचाई और 2-1 से जीत भारत की झोली में डाल दी. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स का कांस्य पदक अपने नाम कर लिया.">

जर्मनी को हरा भारत ने जीता कांस्य

2017/12/11



भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी, गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय, भुवनेश्वर, भारतीय हॉकी टीम ने अपने अच्छे डिफेंस के दम पर आज हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स में जर्मनी को रोमांचक मैच में मात देकर कांस्य पदक अपने नाम किया. कलिंगा स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारत ने जर्मनी को 2-1 से मात दी. मैच में गोलकीपर सूरज कारकेरा का प्रदर्शन सराहनीय रहा. पहले क्वार्टर में जर्मनी की टीम गोल दागने में नाकाम रही. 14वें मिनट में जर्मनी को पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल दागने का अवसर मिला था, जिसे असफल करने में भारत कामयाब रहा. दूसरे क्वार्टर में 21वें मिनट में एस.वी. सुनील ने आकाशदीप से मिले पास को जर्मनी के नेट में पहुंचाया और भारत को 1-0 से बढ़त दी. जर्मनी ने तीसरे क्वार्टर में अच्छा खेल दिखाया. 36वें मिनट में मार्क एपेल ने गोल किया और स्कोर 1-1 से बराबर कर लिया. भारतीय टीम को इस बीच गोल दागने के अवसर मिले थे, लेकिन जर्मनी के गोलकीपर ने भारत को सफलता हासिल नहीं करने दी. भारतीय टीम को 54वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर हासिल हुआ. हरमनप्रीत ने कोई चूक न करते हुए बॉल सीधे जर्मनी के गोल पोस्ट तक पहुंचाई और 2-1 से जीत भारत की झोली में डाल दी. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने हॉकी वल्र्ड लीग फाइनल्स का कांस्य पदक अपने नाम कर लिया.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts