Breaking News :

नयी दिल्ली,  केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा है कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार सिफारिश करती है तो दंगल फिल्म में पहलवान गीता फोगट का किरदार निभाने वाली अदाकार जायरा वसीम को केन्द्र की ओर से हर संभव सुरक्षा प्रदान की जा सकती है। श्री रिजिजू का यह बयान ऐसे समय आया है जब जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मु्फ्ती से मुलाकात के बाद से जायरा को सोशल मीडिया में जान से मारने की कई धमकियां मिली हैं। श्री रिजिजू ने इस संबंध में आज पत्रकारों की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार कहेगी तो केन्द्र जायरा की सुरक्षा के पूरे इंतजाम करेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह जायरा को जम्मू कश्मीर सरकार की ओर से सुरक्षा प्रदान करने की बात पहले ही कह चुके हैं। जायरा और सुश्री मुफ्ती की मुलाकात को लेकर विवाद तब खड़ा हुआ जब सुश्री मुफ्ती ने अपने एक ट्वीट संदेश में जायरा को कश्मीरी युवाओं का रोल मॉडल कह दिया। कश्मीर के अलगाववादी और कट्टरपंथी सोच वालों ने इस पर जायरा के खिलाफ अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकाली और उसे तथा गीता फोगट को भारत का एजेंट करार देते हुए दोनो के खिलाफ कई तरह की आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के साथ ही जायरा को जान से मारने की धमकी भी दे डाली। सोशल मीडिया पर ऐसी प्रतिक्रिया देखते ही जायरा ने सार्वजनिक रूप से मांफी मांगते हुए कहा कि उसका इरादा किसी की भावनाओं को आहत पहुंचाने का नहीं है। अनजाने में किए गए उसके किसी काम या बात से यदि किसी को तकलीफ पहुंची है तो वह इसके लिए माफी मांगती है। हालांकि इस विवाद में खुद दंगल फिल्म के निर्माला आमिर खान,जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्य मंत्री उमर अब्दुल्ला तथा श्री जितेन्द्र सिंह ने खुले रूप से जायरा का समर्थन करते हुए कहा है कि वह सब जायरा के साथ हैं साथ ही समाज को भी जायरा जैसी युवा प्रतिभाओं की सराहना करनी चाहिए न कि उनके खिलाफ ऐसी दकियानूसी सोच का इजहार करना चाहिए। पहलवान गीता फोगट ने भी इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि एक उभरती प्रतिभा को मानसिक रूप से इस कदर प्रताड़ित किया जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उसने कहा कि जायरा को इन धमकियों से भयभीत होने या माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है। पूरा देश उसके साथ है।"/> नयी दिल्ली,  केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा है कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार सिफारिश करती है तो दंगल फिल्म में पहलवान गीता फोगट का किरदार निभाने वाली अदाकार जायरा वसीम को केन्द्र की ओर से हर संभव सुरक्षा प्रदान की जा सकती है। श्री रिजिजू का यह बयान ऐसे समय आया है जब जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मु्फ्ती से मुलाकात के बाद से जायरा को सोशल मीडिया में जान से मारने की कई धमकियां मिली हैं। श्री रिजिजू ने इस संबंध में आज पत्रकारों की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार कहेगी तो केन्द्र जायरा की सुरक्षा के पूरे इंतजाम करेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह जायरा को जम्मू कश्मीर सरकार की ओर से सुरक्षा प्रदान करने की बात पहले ही कह चुके हैं। जायरा और सुश्री मुफ्ती की मुलाकात को लेकर विवाद तब खड़ा हुआ जब सुश्री मुफ्ती ने अपने एक ट्वीट संदेश में जायरा को कश्मीरी युवाओं का रोल मॉडल कह दिया। कश्मीर के अलगाववादी और कट्टरपंथी सोच वालों ने इस पर जायरा के खिलाफ अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकाली और उसे तथा गीता फोगट को भारत का एजेंट करार देते हुए दोनो के खिलाफ कई तरह की आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के साथ ही जायरा को जान से मारने की धमकी भी दे डाली। सोशल मीडिया पर ऐसी प्रतिक्रिया देखते ही जायरा ने सार्वजनिक रूप से मांफी मांगते हुए कहा कि उसका इरादा किसी की भावनाओं को आहत पहुंचाने का नहीं है। अनजाने में किए गए उसके किसी काम या बात से यदि किसी को तकलीफ पहुंची है तो वह इसके लिए माफी मांगती है। हालांकि इस विवाद में खुद दंगल फिल्म के निर्माला आमिर खान,जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्य मंत्री उमर अब्दुल्ला तथा श्री जितेन्द्र सिंह ने खुले रूप से जायरा का समर्थन करते हुए कहा है कि वह सब जायरा के साथ हैं साथ ही समाज को भी जायरा जैसी युवा प्रतिभाओं की सराहना करनी चाहिए न कि उनके खिलाफ ऐसी दकियानूसी सोच का इजहार करना चाहिए। पहलवान गीता फोगट ने भी इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि एक उभरती प्रतिभा को मानसिक रूप से इस कदर प्रताड़ित किया जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उसने कहा कि जायरा को इन धमकियों से भयभीत होने या माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है। पूरा देश उसके साथ है।"/> नयी दिल्ली,  केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा है कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार सिफारिश करती है तो दंगल फिल्म में पहलवान गीता फोगट का किरदार निभाने वाली अदाकार जायरा वसीम को केन्द्र की ओर से हर संभव सुरक्षा प्रदान की जा सकती है। श्री रिजिजू का यह बयान ऐसे समय आया है जब जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मु्फ्ती से मुलाकात के बाद से जायरा को सोशल मीडिया में जान से मारने की कई धमकियां मिली हैं। श्री रिजिजू ने इस संबंध में आज पत्रकारों की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार कहेगी तो केन्द्र जायरा की सुरक्षा के पूरे इंतजाम करेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह जायरा को जम्मू कश्मीर सरकार की ओर से सुरक्षा प्रदान करने की बात पहले ही कह चुके हैं। जायरा और सुश्री मुफ्ती की मुलाकात को लेकर विवाद तब खड़ा हुआ जब सुश्री मुफ्ती ने अपने एक ट्वीट संदेश में जायरा को कश्मीरी युवाओं का रोल मॉडल कह दिया। कश्मीर के अलगाववादी और कट्टरपंथी सोच वालों ने इस पर जायरा के खिलाफ अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकाली और उसे तथा गीता फोगट को भारत का एजेंट करार देते हुए दोनो के खिलाफ कई तरह की आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के साथ ही जायरा को जान से मारने की धमकी भी दे डाली। सोशल मीडिया पर ऐसी प्रतिक्रिया देखते ही जायरा ने सार्वजनिक रूप से मांफी मांगते हुए कहा कि उसका इरादा किसी की भावनाओं को आहत पहुंचाने का नहीं है। अनजाने में किए गए उसके किसी काम या बात से यदि किसी को तकलीफ पहुंची है तो वह इसके लिए माफी मांगती है। हालांकि इस विवाद में खुद दंगल फिल्म के निर्माला आमिर खान,जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्य मंत्री उमर अब्दुल्ला तथा श्री जितेन्द्र सिंह ने खुले रूप से जायरा का समर्थन करते हुए कहा है कि वह सब जायरा के साथ हैं साथ ही समाज को भी जायरा जैसी युवा प्रतिभाओं की सराहना करनी चाहिए न कि उनके खिलाफ ऐसी दकियानूसी सोच का इजहार करना चाहिए। पहलवान गीता फोगट ने भी इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि एक उभरती प्रतिभा को मानसिक रूप से इस कदर प्रताड़ित किया जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उसने कहा कि जायरा को इन धमकियों से भयभीत होने या माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है। पूरा देश उसके साथ है।">

जम्मू कश्मीर सरकार कहेगी तो जायरा को दी जा सकती है सुरक्षा : रिजिजू

2017/01/18



नयी दिल्ली,  केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा है कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार सिफारिश करती है तो दंगल फिल्म में पहलवान गीता फोगट का किरदार निभाने वाली अदाकार जायरा वसीम को केन्द्र की ओर से हर संभव सुरक्षा प्रदान की जा सकती है। श्री रिजिजू का यह बयान ऐसे समय आया है जब जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मु्फ्ती से मुलाकात के बाद से जायरा को सोशल मीडिया में जान से मारने की कई धमकियां मिली हैं। श्री रिजिजू ने इस संबंध में आज पत्रकारों की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि यदि जम्मू कश्मीर सरकार कहेगी तो केन्द्र जायरा की सुरक्षा के पूरे इंतजाम करेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह जायरा को जम्मू कश्मीर सरकार की ओर से सुरक्षा प्रदान करने की बात पहले ही कह चुके हैं। जायरा और सुश्री मुफ्ती की मुलाकात को लेकर विवाद तब खड़ा हुआ जब सुश्री मुफ्ती ने अपने एक ट्वीट संदेश में जायरा को कश्मीरी युवाओं का रोल मॉडल कह दिया। कश्मीर के अलगाववादी और कट्टरपंथी सोच वालों ने इस पर जायरा के खिलाफ अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकाली और उसे तथा गीता फोगट को भारत का एजेंट करार देते हुए दोनो के खिलाफ कई तरह की आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के साथ ही जायरा को जान से मारने की धमकी भी दे डाली। सोशल मीडिया पर ऐसी प्रतिक्रिया देखते ही जायरा ने सार्वजनिक रूप से मांफी मांगते हुए कहा कि उसका इरादा किसी की भावनाओं को आहत पहुंचाने का नहीं है। अनजाने में किए गए उसके किसी काम या बात से यदि किसी को तकलीफ पहुंची है तो वह इसके लिए माफी मांगती है। हालांकि इस विवाद में खुद दंगल फिल्म के निर्माला आमिर खान,जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्य मंत्री उमर अब्दुल्ला तथा श्री जितेन्द्र सिंह ने खुले रूप से जायरा का समर्थन करते हुए कहा है कि वह सब जायरा के साथ हैं साथ ही समाज को भी जायरा जैसी युवा प्रतिभाओं की सराहना करनी चाहिए न कि उनके खिलाफ ऐसी दकियानूसी सोच का इजहार करना चाहिए। पहलवान गीता फोगट ने भी इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि एक उभरती प्रतिभा को मानसिक रूप से इस कदर प्रताड़ित किया जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उसने कहा कि जायरा को इन धमकियों से भयभीत होने या माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है। पूरा देश उसके साथ है।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts