Breaking News :

सायबर पुलिस का खुलासा नवभारत न्यूज भोपाल, साइबर पुलिस ने एक ऐसे मामले का खुलासा किया है, जिसमें चचेरी बहन ने ही अपनी बहन को बदनाम करने के नियत से फर्जी फेसबुक बनाकर अश्लील मैसेज भेजे थे. साथ ही अश्लील मैसेज करने के साथ अश्लील वीडियो डालने की धमकी दी थी. साइबर सेल के मुताबिक 7 जून 2016 को फरियादिया कल्पना श्रीवास (परिवर्तित नाम) निवासी कोटरा सुल्तानाबाद ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कोई अज्ञात व्यक्ति फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर फेसबुक पर गंदी गंदी गालियां देता है और अश्लील बीडियो बनाकर फेसबुक पर बायरल की करने की धमकी देता है.साथ ही छात्रा के निजी जीवन में घटित घटनाओं को फेसबुक पर मैसेज से बताकर मानसिक प्रताडि़त करता है. इस तरह के मैसेज मिलने के बाद छात्रा परेशान रहने लगी थी. जब उसकी मां ने परेशान होने के बारे में पूछा तो उसने पूरी जानकारी दी. इसके बाद उन्होंने साइबर थाने में पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई. सायबर पुलिस ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जांच प्रारंभ की एवं अनावेदक की संदिग्ध आईडी दिनेश साहनी के यूआरएल प्राप्त कर फेसबुक लीगल विभाग कैलीफोर्निया से जानकारी बुलाई गई. प्राप्त जानकारी के विश्लेषण पर मामले में एक संदिंग्ध आईडिया कम्पनी का मोबाईल प्रयुक्त होना पाया गया. प्रकरण में त्वरित कार्रवाही करते हुए टीएसपी नोडल द्वारा मोबाईल नम्बर धारक की जानकारी प्राप्त की गई. फ रियादिया को बुलाकर जब मोबाईल नम्बर के धारक के फोटो की पहचान कराई गई तो वह संदेही उसी की चाची का होना पाया गया और मोबाईल नम्बर चाची की लडक़ी और उसी की चचेरी बहिन द्वारा उपयोग करना पाया गया है. पूछताछ में पता चला कि अनावेदिका एवं आवेदिका एक ही स्कूल में एक ही क्लास में पढ़ाई करती है. आवेदिका आपसी अनबन व जलन के चलते क्लास में अपनी बहन से जलती थी, साथ ही उसे उसकी बहन का क्लास के अन्य दोस्तों से बातचीत करना पसंद नहीं था. आपसी अनबन और जलन के चलते अपनी चचेरी बहन के अंदर डर की भावना पैदा करने के उद्देश्य से ही अनावेदिका द्वारा एक काल्पनिक आईडी बनाकर मैसेज किए गए थे.

सडक़ किनारे खड़े मासूम का मोबाइल लूटा

निशातपुरा क्षेत्र में रहने वाली एक महिला को 9 साल के बेटे को डांटकर सडक़ किनारे खड़ा करना महंगा पड़ गया. मासूम के हाथ में मोबाइल देख दो बदमाश उससे मोबाइल लूट ले गए. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस के अनुसार 30 वर्षीय उस्मा खान राजवंश कॉलोनी में रहती हैं. बीती रात करीब आठ बजे अपने नौ साले के बेटे के साथ एक्टिवा से करोंद चौराहे के पास खरीददारी करने गई थीं. बेटा परेशान करने लगा तो पीडि़ता ने अपने बेटे को स्मार्ट फोन देकर स्वास्तिक अस्पताल के पास एक्टिवा से उतारकर सडक़ किनारे खड़ा कर दिया. करीब 15 मिनट बाद लडक़े के दोस्त ने उस्मा को फोन कर बताया कि आपके बेटे का मोबाइल बदमाश लूट ले गए हैं. जब वे मौके पर पहुंची तो बेटे ने बताया कि बाइक सवार दो बदमाश उसके हाथ से मोबाइल लूटकर भाग गए. पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ लूट का मामला दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू कर दी है.  "/> सायबर पुलिस का खुलासा नवभारत न्यूज भोपाल, साइबर पुलिस ने एक ऐसे मामले का खुलासा किया है, जिसमें चचेरी बहन ने ही अपनी बहन को बदनाम करने के नियत से फर्जी फेसबुक बनाकर अश्लील मैसेज भेजे थे. साथ ही अश्लील मैसेज करने के साथ अश्लील वीडियो डालने की धमकी दी थी. साइबर सेल के मुताबिक 7 जून 2016 को फरियादिया कल्पना श्रीवास (परिवर्तित नाम) निवासी कोटरा सुल्तानाबाद ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कोई अज्ञात व्यक्ति फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर फेसबुक पर गंदी गंदी गालियां देता है और अश्लील बीडियो बनाकर फेसबुक पर बायरल की करने की धमकी देता है.साथ ही छात्रा के निजी जीवन में घटित घटनाओं को फेसबुक पर मैसेज से बताकर मानसिक प्रताडि़त करता है. इस तरह के मैसेज मिलने के बाद छात्रा परेशान रहने लगी थी. जब उसकी मां ने परेशान होने के बारे में पूछा तो उसने पूरी जानकारी दी. इसके बाद उन्होंने साइबर थाने में पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई. सायबर पुलिस ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जांच प्रारंभ की एवं अनावेदक की संदिग्ध आईडी दिनेश साहनी के यूआरएल प्राप्त कर फेसबुक लीगल विभाग कैलीफोर्निया से जानकारी बुलाई गई. प्राप्त जानकारी के विश्लेषण पर मामले में एक संदिंग्ध आईडिया कम्पनी का मोबाईल प्रयुक्त होना पाया गया. प्रकरण में त्वरित कार्रवाही करते हुए टीएसपी नोडल द्वारा मोबाईल नम्बर धारक की जानकारी प्राप्त की गई. फ रियादिया को बुलाकर जब मोबाईल नम्बर के धारक के फोटो की पहचान कराई गई तो वह संदेही उसी की चाची का होना पाया गया और मोबाईल नम्बर चाची की लडक़ी और उसी की चचेरी बहिन द्वारा उपयोग करना पाया गया है. पूछताछ में पता चला कि अनावेदिका एवं आवेदिका एक ही स्कूल में एक ही क्लास में पढ़ाई करती है. आवेदिका आपसी अनबन व जलन के चलते क्लास में अपनी बहन से जलती थी, साथ ही उसे उसकी बहन का क्लास के अन्य दोस्तों से बातचीत करना पसंद नहीं था. आपसी अनबन और जलन के चलते अपनी चचेरी बहन के अंदर डर की भावना पैदा करने के उद्देश्य से ही अनावेदिका द्वारा एक काल्पनिक आईडी बनाकर मैसेज किए गए थे.

सडक़ किनारे खड़े मासूम का मोबाइल लूटा

निशातपुरा क्षेत्र में रहने वाली एक महिला को 9 साल के बेटे को डांटकर सडक़ किनारे खड़ा करना महंगा पड़ गया. मासूम के हाथ में मोबाइल देख दो बदमाश उससे मोबाइल लूट ले गए. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस के अनुसार 30 वर्षीय उस्मा खान राजवंश कॉलोनी में रहती हैं. बीती रात करीब आठ बजे अपने नौ साले के बेटे के साथ एक्टिवा से करोंद चौराहे के पास खरीददारी करने गई थीं. बेटा परेशान करने लगा तो पीडि़ता ने अपने बेटे को स्मार्ट फोन देकर स्वास्तिक अस्पताल के पास एक्टिवा से उतारकर सडक़ किनारे खड़ा कर दिया. करीब 15 मिनट बाद लडक़े के दोस्त ने उस्मा को फोन कर बताया कि आपके बेटे का मोबाइल बदमाश लूट ले गए हैं. जब वे मौके पर पहुंची तो बेटे ने बताया कि बाइक सवार दो बदमाश उसके हाथ से मोबाइल लूटकर भाग गए. पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ लूट का मामला दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू कर दी है.  "/> सायबर पुलिस का खुलासा नवभारत न्यूज भोपाल, साइबर पुलिस ने एक ऐसे मामले का खुलासा किया है, जिसमें चचेरी बहन ने ही अपनी बहन को बदनाम करने के नियत से फर्जी फेसबुक बनाकर अश्लील मैसेज भेजे थे. साथ ही अश्लील मैसेज करने के साथ अश्लील वीडियो डालने की धमकी दी थी. साइबर सेल के मुताबिक 7 जून 2016 को फरियादिया कल्पना श्रीवास (परिवर्तित नाम) निवासी कोटरा सुल्तानाबाद ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कोई अज्ञात व्यक्ति फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर फेसबुक पर गंदी गंदी गालियां देता है और अश्लील बीडियो बनाकर फेसबुक पर बायरल की करने की धमकी देता है.साथ ही छात्रा के निजी जीवन में घटित घटनाओं को फेसबुक पर मैसेज से बताकर मानसिक प्रताडि़त करता है. इस तरह के मैसेज मिलने के बाद छात्रा परेशान रहने लगी थी. जब उसकी मां ने परेशान होने के बारे में पूछा तो उसने पूरी जानकारी दी. इसके बाद उन्होंने साइबर थाने में पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई. सायबर पुलिस ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जांच प्रारंभ की एवं अनावेदक की संदिग्ध आईडी दिनेश साहनी के यूआरएल प्राप्त कर फेसबुक लीगल विभाग कैलीफोर्निया से जानकारी बुलाई गई. प्राप्त जानकारी के विश्लेषण पर मामले में एक संदिंग्ध आईडिया कम्पनी का मोबाईल प्रयुक्त होना पाया गया. प्रकरण में त्वरित कार्रवाही करते हुए टीएसपी नोडल द्वारा मोबाईल नम्बर धारक की जानकारी प्राप्त की गई. फ रियादिया को बुलाकर जब मोबाईल नम्बर के धारक के फोटो की पहचान कराई गई तो वह संदेही उसी की चाची का होना पाया गया और मोबाईल नम्बर चाची की लडक़ी और उसी की चचेरी बहिन द्वारा उपयोग करना पाया गया है. पूछताछ में पता चला कि अनावेदिका एवं आवेदिका एक ही स्कूल में एक ही क्लास में पढ़ाई करती है. आवेदिका आपसी अनबन व जलन के चलते क्लास में अपनी बहन से जलती थी, साथ ही उसे उसकी बहन का क्लास के अन्य दोस्तों से बातचीत करना पसंद नहीं था. आपसी अनबन और जलन के चलते अपनी चचेरी बहन के अंदर डर की भावना पैदा करने के उद्देश्य से ही अनावेदिका द्वारा एक काल्पनिक आईडी बनाकर मैसेज किए गए थे.

सडक़ किनारे खड़े मासूम का मोबाइल लूटा

निशातपुरा क्षेत्र में रहने वाली एक महिला को 9 साल के बेटे को डांटकर सडक़ किनारे खड़ा करना महंगा पड़ गया. मासूम के हाथ में मोबाइल देख दो बदमाश उससे मोबाइल लूट ले गए. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस के अनुसार 30 वर्षीय उस्मा खान राजवंश कॉलोनी में रहती हैं. बीती रात करीब आठ बजे अपने नौ साले के बेटे के साथ एक्टिवा से करोंद चौराहे के पास खरीददारी करने गई थीं. बेटा परेशान करने लगा तो पीडि़ता ने अपने बेटे को स्मार्ट फोन देकर स्वास्तिक अस्पताल के पास एक्टिवा से उतारकर सडक़ किनारे खड़ा कर दिया. करीब 15 मिनट बाद लडक़े के दोस्त ने उस्मा को फोन कर बताया कि आपके बेटे का मोबाइल बदमाश लूट ले गए हैं. जब वे मौके पर पहुंची तो बेटे ने बताया कि बाइक सवार दो बदमाश उसके हाथ से मोबाइल लूटकर भाग गए. पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ लूट का मामला दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू कर दी है.  ">

चचेरी बहन फर्जी फेसबुक से भेज रही थी अश्लील मैसेज

2018/01/20



सायबर पुलिस का खुलासा

नवभारत न्यूज भोपाल, साइबर पुलिस ने एक ऐसे मामले का खुलासा किया है, जिसमें चचेरी बहन ने ही अपनी बहन को बदनाम करने के नियत से फर्जी फेसबुक बनाकर अश्लील मैसेज भेजे थे. साथ ही अश्लील मैसेज करने के साथ अश्लील वीडियो डालने की धमकी दी थी. साइबर सेल के मुताबिक 7 जून 2016 को फरियादिया कल्पना श्रीवास (परिवर्तित नाम) निवासी कोटरा सुल्तानाबाद ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कोई अज्ञात व्यक्ति फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर फेसबुक पर गंदी गंदी गालियां देता है और अश्लील बीडियो बनाकर फेसबुक पर बायरल की करने की धमकी देता है.साथ ही छात्रा के निजी जीवन में घटित घटनाओं को फेसबुक पर मैसेज से बताकर मानसिक प्रताडि़त करता है. इस तरह के मैसेज मिलने के बाद छात्रा परेशान रहने लगी थी. जब उसकी मां ने परेशान होने के बारे में पूछा तो उसने पूरी जानकारी दी. इसके बाद उन्होंने साइबर थाने में पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई. सायबर पुलिस ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जांच प्रारंभ की एवं अनावेदक की संदिग्ध आईडी दिनेश साहनी के यूआरएल प्राप्त कर फेसबुक लीगल विभाग कैलीफोर्निया से जानकारी बुलाई गई. प्राप्त जानकारी के विश्लेषण पर मामले में एक संदिंग्ध आईडिया कम्पनी का मोबाईल प्रयुक्त होना पाया गया. प्रकरण में त्वरित कार्रवाही करते हुए टीएसपी नोडल द्वारा मोबाईल नम्बर धारक की जानकारी प्राप्त की गई. फ रियादिया को बुलाकर जब मोबाईल नम्बर के धारक के फोटो की पहचान कराई गई तो वह संदेही उसी की चाची का होना पाया गया और मोबाईल नम्बर चाची की लडक़ी और उसी की चचेरी बहिन द्वारा उपयोग करना पाया गया है. पूछताछ में पता चला कि अनावेदिका एवं आवेदिका एक ही स्कूल में एक ही क्लास में पढ़ाई करती है. आवेदिका आपसी अनबन व जलन के चलते क्लास में अपनी बहन से जलती थी, साथ ही उसे उसकी बहन का क्लास के अन्य दोस्तों से बातचीत करना पसंद नहीं था. आपसी अनबन और जलन के चलते अपनी चचेरी बहन के अंदर डर की भावना पैदा करने के उद्देश्य से ही अनावेदिका द्वारा एक काल्पनिक आईडी बनाकर मैसेज किए गए थे.

सडक़ किनारे खड़े मासूम का मोबाइल लूटा

निशातपुरा क्षेत्र में रहने वाली एक महिला को 9 साल के बेटे को डांटकर सडक़ किनारे खड़ा करना महंगा पड़ गया. मासूम के हाथ में मोबाइल देख दो बदमाश उससे मोबाइल लूट ले गए. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस के अनुसार 30 वर्षीय उस्मा खान राजवंश कॉलोनी में रहती हैं. बीती रात करीब आठ बजे अपने नौ साले के बेटे के साथ एक्टिवा से करोंद चौराहे के पास खरीददारी करने गई थीं. बेटा परेशान करने लगा तो पीडि़ता ने अपने बेटे को स्मार्ट फोन देकर स्वास्तिक अस्पताल के पास एक्टिवा से उतारकर सडक़ किनारे खड़ा कर दिया. करीब 15 मिनट बाद लडक़े के दोस्त ने उस्मा को फोन कर बताया कि आपके बेटे का मोबाइल बदमाश लूट ले गए हैं. जब वे मौके पर पहुंची तो बेटे ने बताया कि बाइक सवार दो बदमाश उसके हाथ से मोबाइल लूटकर भाग गए. पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ लूट का मामला दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू कर दी है.  


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts