Breaking News :

नयी दिल्ली, दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर और प्रतिभशाली बल्लेबाजी हिम्मत सिंह की विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल के लिए दिल्ली की टीम में वापसी हुई है। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ की सीनियर चयन समिति तथा कप्तान इशांत शर्मा ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम का चयन किया है लेकिन अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में मैच विजयी शतक बनाने वाले मनजोत कालरा को स्टैंड बाई में रखा गया है। है। टीम में तीन बदलाव किए गए हैं जिसमें क्षितिज शर्मा, सुबोध भाटी और मनन शर्मा के बदले गौतम गंभीर, हिम्मत सिंह और हर्ष त्यागी को लाया गया है। दिल्ली को क्वार्टर फाइनल में गुरूवार को पालम मैदान में आंध्र से खेलना है जिसने लीग में अपने सभी छह मैच जीते हैं जबकि दिल्ली के टीम लीग में लगातार चार मैच जीतने के बाद अगले दो मैच हार गयी थी। गंभीर टखने के चोट के कारण लीग चरण में नहीं खेल पाए थे। उन्होंने अपना फिटनेस प्रमाणपत्र टीम प्रबंधन को दिया और फिर उनका चुना जाना एक औपचारिकता मात्र रह गया। 21 वर्षीय हिम्मत ने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के फाइनल तक के सफर में 66, 60, 71, 99 और 45 रन बनाये थे जबकि लेफ्ट आर्म स्पिनर त्यागी को मनन शर्मा पर प्राथमिकता दी गयी। त्यागी का जूनियर सर्किट में शानदार प्रदर्शन रहा है।"/> नयी दिल्ली, दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर और प्रतिभशाली बल्लेबाजी हिम्मत सिंह की विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल के लिए दिल्ली की टीम में वापसी हुई है। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ की सीनियर चयन समिति तथा कप्तान इशांत शर्मा ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम का चयन किया है लेकिन अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में मैच विजयी शतक बनाने वाले मनजोत कालरा को स्टैंड बाई में रखा गया है। है। टीम में तीन बदलाव किए गए हैं जिसमें क्षितिज शर्मा, सुबोध भाटी और मनन शर्मा के बदले गौतम गंभीर, हिम्मत सिंह और हर्ष त्यागी को लाया गया है। दिल्ली को क्वार्टर फाइनल में गुरूवार को पालम मैदान में आंध्र से खेलना है जिसने लीग में अपने सभी छह मैच जीते हैं जबकि दिल्ली के टीम लीग में लगातार चार मैच जीतने के बाद अगले दो मैच हार गयी थी। गंभीर टखने के चोट के कारण लीग चरण में नहीं खेल पाए थे। उन्होंने अपना फिटनेस प्रमाणपत्र टीम प्रबंधन को दिया और फिर उनका चुना जाना एक औपचारिकता मात्र रह गया। 21 वर्षीय हिम्मत ने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के फाइनल तक के सफर में 66, 60, 71, 99 और 45 रन बनाये थे जबकि लेफ्ट आर्म स्पिनर त्यागी को मनन शर्मा पर प्राथमिकता दी गयी। त्यागी का जूनियर सर्किट में शानदार प्रदर्शन रहा है।"/> नयी दिल्ली, दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर और प्रतिभशाली बल्लेबाजी हिम्मत सिंह की विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल के लिए दिल्ली की टीम में वापसी हुई है। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ की सीनियर चयन समिति तथा कप्तान इशांत शर्मा ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम का चयन किया है लेकिन अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में मैच विजयी शतक बनाने वाले मनजोत कालरा को स्टैंड बाई में रखा गया है। है। टीम में तीन बदलाव किए गए हैं जिसमें क्षितिज शर्मा, सुबोध भाटी और मनन शर्मा के बदले गौतम गंभीर, हिम्मत सिंह और हर्ष त्यागी को लाया गया है। दिल्ली को क्वार्टर फाइनल में गुरूवार को पालम मैदान में आंध्र से खेलना है जिसने लीग में अपने सभी छह मैच जीते हैं जबकि दिल्ली के टीम लीग में लगातार चार मैच जीतने के बाद अगले दो मैच हार गयी थी। गंभीर टखने के चोट के कारण लीग चरण में नहीं खेल पाए थे। उन्होंने अपना फिटनेस प्रमाणपत्र टीम प्रबंधन को दिया और फिर उनका चुना जाना एक औपचारिकता मात्र रह गया। 21 वर्षीय हिम्मत ने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के फाइनल तक के सफर में 66, 60, 71, 99 और 45 रन बनाये थे जबकि लेफ्ट आर्म स्पिनर त्यागी को मनन शर्मा पर प्राथमिकता दी गयी। त्यागी का जूनियर सर्किट में शानदार प्रदर्शन रहा है।">

गौतम और हिम्मत की दिल्ली टीम में वापसी

2018/02/19



नयी दिल्ली, दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर और प्रतिभशाली बल्लेबाजी हिम्मत सिंह की विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल के लिए दिल्ली की टीम में वापसी हुई है। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ की सीनियर चयन समिति तथा कप्तान इशांत शर्मा ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम का चयन किया है लेकिन अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में मैच विजयी शतक बनाने वाले मनजोत कालरा को स्टैंड बाई में रखा गया है। है। टीम में तीन बदलाव किए गए हैं जिसमें क्षितिज शर्मा, सुबोध भाटी और मनन शर्मा के बदले गौतम गंभीर, हिम्मत सिंह और हर्ष त्यागी को लाया गया है। दिल्ली को क्वार्टर फाइनल में गुरूवार को पालम मैदान में आंध्र से खेलना है जिसने लीग में अपने सभी छह मैच जीते हैं जबकि दिल्ली के टीम लीग में लगातार चार मैच जीतने के बाद अगले दो मैच हार गयी थी। गंभीर टखने के चोट के कारण लीग चरण में नहीं खेल पाए थे। उन्होंने अपना फिटनेस प्रमाणपत्र टीम प्रबंधन को दिया और फिर उनका चुना जाना एक औपचारिकता मात्र रह गया। 21 वर्षीय हिम्मत ने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के फाइनल तक के सफर में 66, 60, 71, 99 और 45 रन बनाये थे जबकि लेफ्ट आर्म स्पिनर त्यागी को मनन शर्मा पर प्राथमिकता दी गयी। त्यागी का जूनियर सर्किट में शानदार प्रदर्शन रहा है।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts