Breaking News :

गोमा/डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो मध्य अफ्रीकी देश कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के इतुरी प्रांत में हेमा चरवाहे और लेंडू समुदाय के किसानों के बीच हुयी जातीय हिंसा में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गयी। स्थानीय अधिकारियों ने आज इस बात की जानकारी दी। इस माह में जातीय हिंसा की यह दूसरी घटना है। 1998-2003 के युद्ध के बाद से दोनों समूहों के बीच तनाव काफी कम हो गया था, लेकिन हाल के कुछ महीनाें में जमीन को लेकर जारी विवाद के कारण दोनों समूहों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। फरवरी में सशस्त्र हेमा और लेंडू समुदायों के बीच हुयी हिंसा में कम से कम 30 लोगों की मौत हुयी है। गौरतलब है कि युगांडा और रवांडा से सटे हुये पूर्वी कांगो के सीमावर्ती इलाकों में पिछले एक वर्ष के दौरान विद्रोही गतिविधियों में काफी इजाफा हुअा है। राष्ट्रपति जोसेफ कबीला ने दिसंबर 2016 में अपना कार्यकाल पूरा होने के बाद पद से हटने से इंकार कर दिया था।"/> गोमा/डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो मध्य अफ्रीकी देश कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के इतुरी प्रांत में हेमा चरवाहे और लेंडू समुदाय के किसानों के बीच हुयी जातीय हिंसा में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गयी। स्थानीय अधिकारियों ने आज इस बात की जानकारी दी। इस माह में जातीय हिंसा की यह दूसरी घटना है। 1998-2003 के युद्ध के बाद से दोनों समूहों के बीच तनाव काफी कम हो गया था, लेकिन हाल के कुछ महीनाें में जमीन को लेकर जारी विवाद के कारण दोनों समूहों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। फरवरी में सशस्त्र हेमा और लेंडू समुदायों के बीच हुयी हिंसा में कम से कम 30 लोगों की मौत हुयी है। गौरतलब है कि युगांडा और रवांडा से सटे हुये पूर्वी कांगो के सीमावर्ती इलाकों में पिछले एक वर्ष के दौरान विद्रोही गतिविधियों में काफी इजाफा हुअा है। राष्ट्रपति जोसेफ कबीला ने दिसंबर 2016 में अपना कार्यकाल पूरा होने के बाद पद से हटने से इंकार कर दिया था।"/> गोमा/डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो मध्य अफ्रीकी देश कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के इतुरी प्रांत में हेमा चरवाहे और लेंडू समुदाय के किसानों के बीच हुयी जातीय हिंसा में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गयी। स्थानीय अधिकारियों ने आज इस बात की जानकारी दी। इस माह में जातीय हिंसा की यह दूसरी घटना है। 1998-2003 के युद्ध के बाद से दोनों समूहों के बीच तनाव काफी कम हो गया था, लेकिन हाल के कुछ महीनाें में जमीन को लेकर जारी विवाद के कारण दोनों समूहों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। फरवरी में सशस्त्र हेमा और लेंडू समुदायों के बीच हुयी हिंसा में कम से कम 30 लोगों की मौत हुयी है। गौरतलब है कि युगांडा और रवांडा से सटे हुये पूर्वी कांगो के सीमावर्ती इलाकों में पिछले एक वर्ष के दौरान विद्रोही गतिविधियों में काफी इजाफा हुअा है। राष्ट्रपति जोसेफ कबीला ने दिसंबर 2016 में अपना कार्यकाल पूरा होने के बाद पद से हटने से इंकार कर दिया था।">

कांगो में जातीय हिंसा में 49 लोगों की मौत

2018/03/03



गोमा/डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो मध्य अफ्रीकी देश कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के इतुरी प्रांत में हेमा चरवाहे और लेंडू समुदाय के किसानों के बीच हुयी जातीय हिंसा में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गयी। स्थानीय अधिकारियों ने आज इस बात की जानकारी दी। इस माह में जातीय हिंसा की यह दूसरी घटना है। 1998-2003 के युद्ध के बाद से दोनों समूहों के बीच तनाव काफी कम हो गया था, लेकिन हाल के कुछ महीनाें में जमीन को लेकर जारी विवाद के कारण दोनों समूहों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। फरवरी में सशस्त्र हेमा और लेंडू समुदायों के बीच हुयी हिंसा में कम से कम 30 लोगों की मौत हुयी है। गौरतलब है कि युगांडा और रवांडा से सटे हुये पूर्वी कांगो के सीमावर्ती इलाकों में पिछले एक वर्ष के दौरान विद्रोही गतिविधियों में काफी इजाफा हुअा है। राष्ट्रपति जोसेफ कबीला ने दिसंबर 2016 में अपना कार्यकाल पूरा होने के बाद पद से हटने से इंकार कर दिया था।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts