Breaking News :

श्रीनगर,  कश्मीर घाटी में ताजा हिमपात और भूस्खलन की घटनाओं के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने से घाटी का आज लगातार चौथे दिन भी देश के अन्य हिस्सों से संपर्क कटा रहा। राजमार्ग बंद होने के बावजूद कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने दिया गया लेकिन इस दौरान जवाहर सुरंग की ओर लगभग 2000 खाली ट्रक,तेल टैंकर और फलों से लदे वाहन फंसे रहे। राजमार्ग बंद होने से राज्य में जरूरी सामानों,ताजे फल-सब्जियों,मीट और चिकन की भारी कमी हो गयी हैं वहीं कई क्षेत्रों में यह काफी मंहगे दामों में उपलब्ध है। एक यातायात पुलिस अधिकारी ने यूनीवार्ता को बताया कि सीमा सड़क संगठन(बीआरओ) लगातार राजमार्ग को साफ कर यातायात बहाल करने का प्रयास कर रहा है। राजमार्ग खासकर काजीगुंड,जवाहर सुरंग,शैतान नाला,बनिहाल में ताजा हिमपात और रामबन,रामुस एवं पटनीटॉप में भूस्खलन की वजह से यातायात व्यवस्था को बंद रखा गया है। सुरंग की तरफ कई जगहों पर भूस्खलन और चट्टान खिसकने की घटनायें हुयी है। हालांकि बीआरओ मुस्तैदी से राजमार्ग से मलबे को हटाने के काम में लगी हुयी है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने की अनुमति दी गयी है लेकिन अभी भी बड़ी संख्या में यहां वाहन फंसे हुये हैं।"/> श्रीनगर,  कश्मीर घाटी में ताजा हिमपात और भूस्खलन की घटनाओं के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने से घाटी का आज लगातार चौथे दिन भी देश के अन्य हिस्सों से संपर्क कटा रहा। राजमार्ग बंद होने के बावजूद कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने दिया गया लेकिन इस दौरान जवाहर सुरंग की ओर लगभग 2000 खाली ट्रक,तेल टैंकर और फलों से लदे वाहन फंसे रहे। राजमार्ग बंद होने से राज्य में जरूरी सामानों,ताजे फल-सब्जियों,मीट और चिकन की भारी कमी हो गयी हैं वहीं कई क्षेत्रों में यह काफी मंहगे दामों में उपलब्ध है। एक यातायात पुलिस अधिकारी ने यूनीवार्ता को बताया कि सीमा सड़क संगठन(बीआरओ) लगातार राजमार्ग को साफ कर यातायात बहाल करने का प्रयास कर रहा है। राजमार्ग खासकर काजीगुंड,जवाहर सुरंग,शैतान नाला,बनिहाल में ताजा हिमपात और रामबन,रामुस एवं पटनीटॉप में भूस्खलन की वजह से यातायात व्यवस्था को बंद रखा गया है। सुरंग की तरफ कई जगहों पर भूस्खलन और चट्टान खिसकने की घटनायें हुयी है। हालांकि बीआरओ मुस्तैदी से राजमार्ग से मलबे को हटाने के काम में लगी हुयी है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने की अनुमति दी गयी है लेकिन अभी भी बड़ी संख्या में यहां वाहन फंसे हुये हैं।"/> श्रीनगर,  कश्मीर घाटी में ताजा हिमपात और भूस्खलन की घटनाओं के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने से घाटी का आज लगातार चौथे दिन भी देश के अन्य हिस्सों से संपर्क कटा रहा। राजमार्ग बंद होने के बावजूद कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने दिया गया लेकिन इस दौरान जवाहर सुरंग की ओर लगभग 2000 खाली ट्रक,तेल टैंकर और फलों से लदे वाहन फंसे रहे। राजमार्ग बंद होने से राज्य में जरूरी सामानों,ताजे फल-सब्जियों,मीट और चिकन की भारी कमी हो गयी हैं वहीं कई क्षेत्रों में यह काफी मंहगे दामों में उपलब्ध है। एक यातायात पुलिस अधिकारी ने यूनीवार्ता को बताया कि सीमा सड़क संगठन(बीआरओ) लगातार राजमार्ग को साफ कर यातायात बहाल करने का प्रयास कर रहा है। राजमार्ग खासकर काजीगुंड,जवाहर सुरंग,शैतान नाला,बनिहाल में ताजा हिमपात और रामबन,रामुस एवं पटनीटॉप में भूस्खलन की वजह से यातायात व्यवस्था को बंद रखा गया है। सुरंग की तरफ कई जगहों पर भूस्खलन और चट्टान खिसकने की घटनायें हुयी है। हालांकि बीआरओ मुस्तैदी से राजमार्ग से मलबे को हटाने के काम में लगी हुयी है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने की अनुमति दी गयी है लेकिन अभी भी बड़ी संख्या में यहां वाहन फंसे हुये हैं।">

कश्मीर का संपर्क चौथे दिन भी देश के अन्य हिस्सों से कटा

2017/02/06



श्रीनगर,  कश्मीर घाटी में ताजा हिमपात और भूस्खलन की घटनाओं के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने से घाटी का आज लगातार चौथे दिन भी देश के अन्य हिस्सों से संपर्क कटा रहा। राजमार्ग बंद होने के बावजूद कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने दिया गया लेकिन इस दौरान जवाहर सुरंग की ओर लगभग 2000 खाली ट्रक,तेल टैंकर और फलों से लदे वाहन फंसे रहे। राजमार्ग बंद होने से राज्य में जरूरी सामानों,ताजे फल-सब्जियों,मीट और चिकन की भारी कमी हो गयी हैं वहीं कई क्षेत्रों में यह काफी मंहगे दामों में उपलब्ध है। एक यातायात पुलिस अधिकारी ने यूनीवार्ता को बताया कि सीमा सड़क संगठन(बीआरओ) लगातार राजमार्ग को साफ कर यातायात बहाल करने का प्रयास कर रहा है। राजमार्ग खासकर काजीगुंड,जवाहर सुरंग,शैतान नाला,बनिहाल में ताजा हिमपात और रामबन,रामुस एवं पटनीटॉप में भूस्खलन की वजह से यातायात व्यवस्था को बंद रखा गया है। सुरंग की तरफ कई जगहों पर भूस्खलन और चट्टान खिसकने की घटनायें हुयी है। हालांकि बीआरओ मुस्तैदी से राजमार्ग से मलबे को हटाने के काम में लगी हुयी है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को जाने की अनुमति दी गयी है लेकिन अभी भी बड़ी संख्या में यहां वाहन फंसे हुये हैं।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts