Breaking News :

नयी दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी ) के कैडेटों से स्वच्छता मिशन और नकदी रहित अर्थव्यस्था को एक आंदोलन के रूप में देश भर में फैलाने का आह्वान करते हुए आज कहा कि वे ज्यादा से ज्यादा लोगों को डिजिटल अर्थव्यवस्था से जोड़ने में एक कडी का काम करें। श्री मोदी ने गणतंत्र दिवस समारोह के तहत दिल्ली छावनी के परेड ग्राउंड में देश की दूसरी रक्षा पंक्ति कहे जाने वाली एनसीसी कैडेटों की रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह जब भी इन कैडेटों को देखते हैं तो उन्हें विश्वास होता है कि भारत का भविष्य सुरक्षित है और उन्हें देश की युवा शक्ति पर गर्व है। सरकार की ‘स्वच्छ भारत मिशन’ और ‘नकदी रहित’ अर्थव्यवस्था जैसी योजनाओं में एनसीसी कैडेटों के योगदान की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इन योजनाओं को एक आंदोलन के रूप में देशभर में फैलाने में एनसीसी कैडेटों को उत्प्रेरक की भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि भारत के लोग और विशेष रूप से युवा प्रौद्योगिकी को बहुत जल्दी और तेजी से अपनाते हैं। एनसीसी कैडेटों को इस बात को ध्यान में रखते हुए ‘भीम’ जैसी डिजिटल एप के जरिये लोगों को जागरूक बनाना होगा।"/> नयी दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी ) के कैडेटों से स्वच्छता मिशन और नकदी रहित अर्थव्यस्था को एक आंदोलन के रूप में देश भर में फैलाने का आह्वान करते हुए आज कहा कि वे ज्यादा से ज्यादा लोगों को डिजिटल अर्थव्यवस्था से जोड़ने में एक कडी का काम करें। श्री मोदी ने गणतंत्र दिवस समारोह के तहत दिल्ली छावनी के परेड ग्राउंड में देश की दूसरी रक्षा पंक्ति कहे जाने वाली एनसीसी कैडेटों की रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह जब भी इन कैडेटों को देखते हैं तो उन्हें विश्वास होता है कि भारत का भविष्य सुरक्षित है और उन्हें देश की युवा शक्ति पर गर्व है। सरकार की ‘स्वच्छ भारत मिशन’ और ‘नकदी रहित’ अर्थव्यवस्था जैसी योजनाओं में एनसीसी कैडेटों के योगदान की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इन योजनाओं को एक आंदोलन के रूप में देशभर में फैलाने में एनसीसी कैडेटों को उत्प्रेरक की भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि भारत के लोग और विशेष रूप से युवा प्रौद्योगिकी को बहुत जल्दी और तेजी से अपनाते हैं। एनसीसी कैडेटों को इस बात को ध्यान में रखते हुए ‘भीम’ जैसी डिजिटल एप के जरिये लोगों को जागरूक बनाना होगा।"/> नयी दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी ) के कैडेटों से स्वच्छता मिशन और नकदी रहित अर्थव्यस्था को एक आंदोलन के रूप में देश भर में फैलाने का आह्वान करते हुए आज कहा कि वे ज्यादा से ज्यादा लोगों को डिजिटल अर्थव्यवस्था से जोड़ने में एक कडी का काम करें। श्री मोदी ने गणतंत्र दिवस समारोह के तहत दिल्ली छावनी के परेड ग्राउंड में देश की दूसरी रक्षा पंक्ति कहे जाने वाली एनसीसी कैडेटों की रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह जब भी इन कैडेटों को देखते हैं तो उन्हें विश्वास होता है कि भारत का भविष्य सुरक्षित है और उन्हें देश की युवा शक्ति पर गर्व है। सरकार की ‘स्वच्छ भारत मिशन’ और ‘नकदी रहित’ अर्थव्यवस्था जैसी योजनाओं में एनसीसी कैडेटों के योगदान की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इन योजनाओं को एक आंदोलन के रूप में देशभर में फैलाने में एनसीसी कैडेटों को उत्प्रेरक की भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि भारत के लोग और विशेष रूप से युवा प्रौद्योगिकी को बहुत जल्दी और तेजी से अपनाते हैं। एनसीसी कैडेटों को इस बात को ध्यान में रखते हुए ‘भीम’ जैसी डिजिटल एप के जरिये लोगों को जागरूक बनाना होगा।">

एनसीसी कैडेट स्वच्छता और डिजिटल अर्थव्यवस्था के अग्रदूत बनें : मोदी

2017/01/28



नयी दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी ) के कैडेटों से स्वच्छता मिशन और नकदी रहित अर्थव्यस्था को एक आंदोलन के रूप में देश भर में फैलाने का आह्वान करते हुए आज कहा कि वे ज्यादा से ज्यादा लोगों को डिजिटल अर्थव्यवस्था से जोड़ने में एक कडी का काम करें। श्री मोदी ने गणतंत्र दिवस समारोह के तहत दिल्ली छावनी के परेड ग्राउंड में देश की दूसरी रक्षा पंक्ति कहे जाने वाली एनसीसी कैडेटों की रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह जब भी इन कैडेटों को देखते हैं तो उन्हें विश्वास होता है कि भारत का भविष्य सुरक्षित है और उन्हें देश की युवा शक्ति पर गर्व है। सरकार की ‘स्वच्छ भारत मिशन’ और ‘नकदी रहित’ अर्थव्यवस्था जैसी योजनाओं में एनसीसी कैडेटों के योगदान की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इन योजनाओं को एक आंदोलन के रूप में देशभर में फैलाने में एनसीसी कैडेटों को उत्प्रेरक की भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि भारत के लोग और विशेष रूप से युवा प्रौद्योगिकी को बहुत जल्दी और तेजी से अपनाते हैं। एनसीसी कैडेटों को इस बात को ध्यान में रखते हुए ‘भीम’ जैसी डिजिटल एप के जरिये लोगों को जागरूक बनाना होगा।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts