Breaking News :

उज्जैन, मध्यप्रदेश के उज्जैन में पहली बार दृष्टिबाधित दिव्यांगों के लिए आयोजित किक्रेट टूर्नामेंट में विश्व कप एवं एशिया कप विजेता सोनू गोलकर भी शामिल होंगे। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार अगले माह 25 अप्रैल को जिला प्रशासन, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग तथा दिव्यांगों के पुनर्वास हेतु कार्यरत संस्था स्नेह नागदा के संयुक्त तत्वावधान में यह टूर्नामेंट आयोजित किया जायेगा। यहां दृष्टिबाधित दिव्यांगों की चार टीमों के बीच एकदिवसीय टूर्नामेंट पॉलीटेक्निक काॅलेज में आयोजित किया जायेगा।इसका लोकार्पण केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचन्द गेहलोत करेंगे। कलेक्टर संकेत भोंडवे ने बताया कि खेल मैदान में नवनिर्मित दर्शक दीर्घा विशेष रूप से दिव्यांगों और वरिष्ठजनों को ध्यान में रखकर बनाई गई है।इस दर्शक दीर्घा में नीचे के स्टैंड दिव्यांगों एवं वरिष्ठजनों के लिये आरक्षित होंगे तथा उसमें रैम्प एवं व्हील चेयर जाने की विशेष व्यवस्था भी है। टूर्नामेन्ट में प्रदेश की चार दृष्टिबाधित दिव्यांग टीमों के बीच 10-10 ओवर के तीन मैच खेले जायेंगे और प्रत्येक टीम में चार पूर्णत: दृष्टिबाधित, तीन अल्पदृष्टिबाधित तथा चार सामान्य खिलाड़ी होंगे। उन्होंने बताया कि प्रथम दो मैचों में से विजेता रही टीमों के बीच फाइनल मैच खेला जायेगा।प्रथम पुरस्कार 51 हजार रूपये और ट्राफी, द्वितीय पुरस्कार 31 हजार रूपये तथा सान्त्वना पुरस्कार के रूप में 11 हजार रूपये नगद दिये जायेंगे।साथ ही मुख्यमंत्री के नदी बचाओ अभियान के तहत जन-जागृति पैदा करने के उद्देश्य से टीमों को शिप्रा, गंभीर, चंबल एवं कालीसिंध नाम दिये गये हैं। "/> उज्जैन, मध्यप्रदेश के उज्जैन में पहली बार दृष्टिबाधित दिव्यांगों के लिए आयोजित किक्रेट टूर्नामेंट में विश्व कप एवं एशिया कप विजेता सोनू गोलकर भी शामिल होंगे। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार अगले माह 25 अप्रैल को जिला प्रशासन, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग तथा दिव्यांगों के पुनर्वास हेतु कार्यरत संस्था स्नेह नागदा के संयुक्त तत्वावधान में यह टूर्नामेंट आयोजित किया जायेगा। यहां दृष्टिबाधित दिव्यांगों की चार टीमों के बीच एकदिवसीय टूर्नामेंट पॉलीटेक्निक काॅलेज में आयोजित किया जायेगा।इसका लोकार्पण केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचन्द गेहलोत करेंगे। कलेक्टर संकेत भोंडवे ने बताया कि खेल मैदान में नवनिर्मित दर्शक दीर्घा विशेष रूप से दिव्यांगों और वरिष्ठजनों को ध्यान में रखकर बनाई गई है।इस दर्शक दीर्घा में नीचे के स्टैंड दिव्यांगों एवं वरिष्ठजनों के लिये आरक्षित होंगे तथा उसमें रैम्प एवं व्हील चेयर जाने की विशेष व्यवस्था भी है। टूर्नामेन्ट में प्रदेश की चार दृष्टिबाधित दिव्यांग टीमों के बीच 10-10 ओवर के तीन मैच खेले जायेंगे और प्रत्येक टीम में चार पूर्णत: दृष्टिबाधित, तीन अल्पदृष्टिबाधित तथा चार सामान्य खिलाड़ी होंगे। उन्होंने बताया कि प्रथम दो मैचों में से विजेता रही टीमों के बीच फाइनल मैच खेला जायेगा।प्रथम पुरस्कार 51 हजार रूपये और ट्राफी, द्वितीय पुरस्कार 31 हजार रूपये तथा सान्त्वना पुरस्कार के रूप में 11 हजार रूपये नगद दिये जायेंगे।साथ ही मुख्यमंत्री के नदी बचाओ अभियान के तहत जन-जागृति पैदा करने के उद्देश्य से टीमों को शिप्रा, गंभीर, चंबल एवं कालीसिंध नाम दिये गये हैं। "/> उज्जैन, मध्यप्रदेश के उज्जैन में पहली बार दृष्टिबाधित दिव्यांगों के लिए आयोजित किक्रेट टूर्नामेंट में विश्व कप एवं एशिया कप विजेता सोनू गोलकर भी शामिल होंगे। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार अगले माह 25 अप्रैल को जिला प्रशासन, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग तथा दिव्यांगों के पुनर्वास हेतु कार्यरत संस्था स्नेह नागदा के संयुक्त तत्वावधान में यह टूर्नामेंट आयोजित किया जायेगा। यहां दृष्टिबाधित दिव्यांगों की चार टीमों के बीच एकदिवसीय टूर्नामेंट पॉलीटेक्निक काॅलेज में आयोजित किया जायेगा।इसका लोकार्पण केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचन्द गेहलोत करेंगे। कलेक्टर संकेत भोंडवे ने बताया कि खेल मैदान में नवनिर्मित दर्शक दीर्घा विशेष रूप से दिव्यांगों और वरिष्ठजनों को ध्यान में रखकर बनाई गई है।इस दर्शक दीर्घा में नीचे के स्टैंड दिव्यांगों एवं वरिष्ठजनों के लिये आरक्षित होंगे तथा उसमें रैम्प एवं व्हील चेयर जाने की विशेष व्यवस्था भी है। टूर्नामेन्ट में प्रदेश की चार दृष्टिबाधित दिव्यांग टीमों के बीच 10-10 ओवर के तीन मैच खेले जायेंगे और प्रत्येक टीम में चार पूर्णत: दृष्टिबाधित, तीन अल्पदृष्टिबाधित तथा चार सामान्य खिलाड़ी होंगे। उन्होंने बताया कि प्रथम दो मैचों में से विजेता रही टीमों के बीच फाइनल मैच खेला जायेगा।प्रथम पुरस्कार 51 हजार रूपये और ट्राफी, द्वितीय पुरस्कार 31 हजार रूपये तथा सान्त्वना पुरस्कार के रूप में 11 हजार रूपये नगद दिये जायेंगे।साथ ही मुख्यमंत्री के नदी बचाओ अभियान के तहत जन-जागृति पैदा करने के उद्देश्य से टीमों को शिप्रा, गंभीर, चंबल एवं कालीसिंध नाम दिये गये हैं। ">

उज्जैन में होगा दृष्टिबाधित दिव्यांगों का क्रिकेट टूर्नामेन्ट

2018/03/22



उज्जैन, मध्यप्रदेश के उज्जैन में पहली बार दृष्टिबाधित दिव्यांगों के लिए आयोजित किक्रेट टूर्नामेंट में विश्व कप एवं एशिया कप विजेता सोनू गोलकर भी शामिल होंगे। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार अगले माह 25 अप्रैल को जिला प्रशासन, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग तथा दिव्यांगों के पुनर्वास हेतु कार्यरत संस्था स्नेह नागदा के संयुक्त तत्वावधान में यह टूर्नामेंट आयोजित किया जायेगा। यहां दृष्टिबाधित दिव्यांगों की चार टीमों के बीच एकदिवसीय टूर्नामेंट पॉलीटेक्निक काॅलेज में आयोजित किया जायेगा।इसका लोकार्पण केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचन्द गेहलोत करेंगे। कलेक्टर संकेत भोंडवे ने बताया कि खेल मैदान में नवनिर्मित दर्शक दीर्घा विशेष रूप से दिव्यांगों और वरिष्ठजनों को ध्यान में रखकर बनाई गई है।इस दर्शक दीर्घा में नीचे के स्टैंड दिव्यांगों एवं वरिष्ठजनों के लिये आरक्षित होंगे तथा उसमें रैम्प एवं व्हील चेयर जाने की विशेष व्यवस्था भी है। टूर्नामेन्ट में प्रदेश की चार दृष्टिबाधित दिव्यांग टीमों के बीच 10-10 ओवर के तीन मैच खेले जायेंगे और प्रत्येक टीम में चार पूर्णत: दृष्टिबाधित, तीन अल्पदृष्टिबाधित तथा चार सामान्य खिलाड़ी होंगे। उन्होंने बताया कि प्रथम दो मैचों में से विजेता रही टीमों के बीच फाइनल मैच खेला जायेगा।प्रथम पुरस्कार 51 हजार रूपये और ट्राफी, द्वितीय पुरस्कार 31 हजार रूपये तथा सान्त्वना पुरस्कार के रूप में 11 हजार रूपये नगद दिये जायेंगे।साथ ही मुख्यमंत्री के नदी बचाओ अभियान के तहत जन-जागृति पैदा करने के उद्देश्य से टीमों को शिप्रा, गंभीर, चंबल एवं कालीसिंध नाम दिये गये हैं।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts