Breaking News :

भोपाल,  मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रदेश से लेकर देश के कई हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर सरकार से सवाल पूछा है कि प्रदेश में इतनी गंभीर घटना को लेकर सरकार से कैसे चूक हुई। नेता प्रतिपक्ष कार्यालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक श्री सिंह ने प्रदेश में बिजली, पानी और सड़क की स्थिति को लेकर भी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश की तरक्की के पीछे पिछली केंद्र सरकार की योजनाओं का हाथ है और प्रदेश सरकार कांग्रेस का सच निरंतर दबा रही है। श्री सिंह ने कहा है कि आज अस्पतालों में जो मुफ्त दवाइयां मिल रही हैं, यह क्या सरकार अपने बजट से करा रही है। यही सच बताया जा रहा है, पर ये झूठ है। यह योजना पूर्ववर्ती केंद्र सरकार की है। श्री सिंह ने किसान आंदोलन के संदर्भ में आरोप लगाया है कि आज जो आक्रोश किसानों के बीच फूटा है, किसान सरकार के झूठ के कारण कई साल से भुगत रहा था और इसलिए वह गुस्सा उबलकर सामने आ गया। पिछले दो महीने से किसान अपनी मांगों को लेकर संगठित हो रहे थे, पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पता ही नहीं था। उन्होंने आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान के उपवास पर बैठने को लेकर भी कटाक्ष किया।"/> भोपाल,  मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रदेश से लेकर देश के कई हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर सरकार से सवाल पूछा है कि प्रदेश में इतनी गंभीर घटना को लेकर सरकार से कैसे चूक हुई। नेता प्रतिपक्ष कार्यालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक श्री सिंह ने प्रदेश में बिजली, पानी और सड़क की स्थिति को लेकर भी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश की तरक्की के पीछे पिछली केंद्र सरकार की योजनाओं का हाथ है और प्रदेश सरकार कांग्रेस का सच निरंतर दबा रही है। श्री सिंह ने कहा है कि आज अस्पतालों में जो मुफ्त दवाइयां मिल रही हैं, यह क्या सरकार अपने बजट से करा रही है। यही सच बताया जा रहा है, पर ये झूठ है। यह योजना पूर्ववर्ती केंद्र सरकार की है। श्री सिंह ने किसान आंदोलन के संदर्भ में आरोप लगाया है कि आज जो आक्रोश किसानों के बीच फूटा है, किसान सरकार के झूठ के कारण कई साल से भुगत रहा था और इसलिए वह गुस्सा उबलकर सामने आ गया। पिछले दो महीने से किसान अपनी मांगों को लेकर संगठित हो रहे थे, पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पता ही नहीं था। उन्होंने आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान के उपवास पर बैठने को लेकर भी कटाक्ष किया।"/> भोपाल,  मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रदेश से लेकर देश के कई हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर सरकार से सवाल पूछा है कि प्रदेश में इतनी गंभीर घटना को लेकर सरकार से कैसे चूक हुई। नेता प्रतिपक्ष कार्यालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक श्री सिंह ने प्रदेश में बिजली, पानी और सड़क की स्थिति को लेकर भी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश की तरक्की के पीछे पिछली केंद्र सरकार की योजनाओं का हाथ है और प्रदेश सरकार कांग्रेस का सच निरंतर दबा रही है। श्री सिंह ने कहा है कि आज अस्पतालों में जो मुफ्त दवाइयां मिल रही हैं, यह क्या सरकार अपने बजट से करा रही है। यही सच बताया जा रहा है, पर ये झूठ है। यह योजना पूर्ववर्ती केंद्र सरकार की है। श्री सिंह ने किसान आंदोलन के संदर्भ में आरोप लगाया है कि आज जो आक्रोश किसानों के बीच फूटा है, किसान सरकार के झूठ के कारण कई साल से भुगत रहा था और इसलिए वह गुस्सा उबलकर सामने आ गया। पिछले दो महीने से किसान अपनी मांगों को लेकर संगठित हो रहे थे, पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पता ही नहीं था। उन्होंने आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान के उपवास पर बैठने को लेकर भी कटाक्ष किया।">

इतने गंभीर आंदोलन को लेकर सरकार से कैसे हुई चूक : अजय सिंह

2017/06/16



भोपाल,  मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रदेश से लेकर देश के कई हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर सरकार से सवाल पूछा है कि प्रदेश में इतनी गंभीर घटना को लेकर सरकार से कैसे चूक हुई। नेता प्रतिपक्ष कार्यालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक श्री सिंह ने प्रदेश में बिजली, पानी और सड़क की स्थिति को लेकर भी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश की तरक्की के पीछे पिछली केंद्र सरकार की योजनाओं का हाथ है और प्रदेश सरकार कांग्रेस का सच निरंतर दबा रही है। श्री सिंह ने कहा है कि आज अस्पतालों में जो मुफ्त दवाइयां मिल रही हैं, यह क्या सरकार अपने बजट से करा रही है। यही सच बताया जा रहा है, पर ये झूठ है। यह योजना पूर्ववर्ती केंद्र सरकार की है। श्री सिंह ने किसान आंदोलन के संदर्भ में आरोप लगाया है कि आज जो आक्रोश किसानों के बीच फूटा है, किसान सरकार के झूठ के कारण कई साल से भुगत रहा था और इसलिए वह गुस्सा उबलकर सामने आ गया। पिछले दो महीने से किसान अपनी मांगों को लेकर संगठित हो रहे थे, पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पता ही नहीं था। उन्होंने आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान के उपवास पर बैठने को लेकर भी कटाक्ष किया।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts