Breaking News :

नयी दिल्ली,  राजधानी में जहरीले प्रदूषण को काबू करने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार के सोमवार से चौपहिया वाहनों के लिए आॅड. ईवन योजना शुरु करने के फैसले पर राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने सवाल खड़े किए हैं। एनजीटी ने आज दिल्ली सरकार से पूछा कि आॅड-ईवन का फैसला लेने का आधार क्या है। अधिकरण दोपहर दो बजे बाद सरकार के इस फैसले की फिर समीक्षा करेगा।केजरीवाल सरकार ने 13 से 17 नवम्बर तक आॅड-ईवन योजना शुरु करने की घोषणा की है। इससे पहले पिछले साल भी सरकार एक से 15 जनवरी और 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक इस योजना को लागू कर चुकी है। एनजीटी ने दिल्ली सरकार से प्रदूषण को रोकने के लिए पिछले साल दो बार की गई आॅड-ईवन योजना से पर्यावरण पर होने वाले असर के आंकडे भी देने को कहा है। सरकार के इस फैसले का भारतीय जनता पार्टी समेत कई अन्य दल पहले ही विरोध कर रहे हैं।"/> नयी दिल्ली,  राजधानी में जहरीले प्रदूषण को काबू करने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार के सोमवार से चौपहिया वाहनों के लिए आॅड. ईवन योजना शुरु करने के फैसले पर राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने सवाल खड़े किए हैं। एनजीटी ने आज दिल्ली सरकार से पूछा कि आॅड-ईवन का फैसला लेने का आधार क्या है। अधिकरण दोपहर दो बजे बाद सरकार के इस फैसले की फिर समीक्षा करेगा।केजरीवाल सरकार ने 13 से 17 नवम्बर तक आॅड-ईवन योजना शुरु करने की घोषणा की है। इससे पहले पिछले साल भी सरकार एक से 15 जनवरी और 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक इस योजना को लागू कर चुकी है। एनजीटी ने दिल्ली सरकार से प्रदूषण को रोकने के लिए पिछले साल दो बार की गई आॅड-ईवन योजना से पर्यावरण पर होने वाले असर के आंकडे भी देने को कहा है। सरकार के इस फैसले का भारतीय जनता पार्टी समेत कई अन्य दल पहले ही विरोध कर रहे हैं।"/> नयी दिल्ली,  राजधानी में जहरीले प्रदूषण को काबू करने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार के सोमवार से चौपहिया वाहनों के लिए आॅड. ईवन योजना शुरु करने के फैसले पर राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने सवाल खड़े किए हैं। एनजीटी ने आज दिल्ली सरकार से पूछा कि आॅड-ईवन का फैसला लेने का आधार क्या है। अधिकरण दोपहर दो बजे बाद सरकार के इस फैसले की फिर समीक्षा करेगा।केजरीवाल सरकार ने 13 से 17 नवम्बर तक आॅड-ईवन योजना शुरु करने की घोषणा की है। इससे पहले पिछले साल भी सरकार एक से 15 जनवरी और 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक इस योजना को लागू कर चुकी है। एनजीटी ने दिल्ली सरकार से प्रदूषण को रोकने के लिए पिछले साल दो बार की गई आॅड-ईवन योजना से पर्यावरण पर होने वाले असर के आंकडे भी देने को कहा है। सरकार के इस फैसले का भारतीय जनता पार्टी समेत कई अन्य दल पहले ही विरोध कर रहे हैं।">

आॅड-ईवन योजना लागू करने का आधार बताये दिल्ली सरकार: एनजीटी

2017/11/10



नयी दिल्ली,  राजधानी में जहरीले प्रदूषण को काबू करने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार के सोमवार से चौपहिया वाहनों के लिए आॅड. ईवन योजना शुरु करने के फैसले पर राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने सवाल खड़े किए हैं। एनजीटी ने आज दिल्ली सरकार से पूछा कि आॅड-ईवन का फैसला लेने का आधार क्या है। अधिकरण दोपहर दो बजे बाद सरकार के इस फैसले की फिर समीक्षा करेगा।केजरीवाल सरकार ने 13 से 17 नवम्बर तक आॅड-ईवन योजना शुरु करने की घोषणा की है। इससे पहले पिछले साल भी सरकार एक से 15 जनवरी और 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक इस योजना को लागू कर चुकी है। एनजीटी ने दिल्ली सरकार से प्रदूषण को रोकने के लिए पिछले साल दो बार की गई आॅड-ईवन योजना से पर्यावरण पर होने वाले असर के आंकडे भी देने को कहा है। सरकार के इस फैसले का भारतीय जनता पार्टी समेत कई अन्य दल पहले ही विरोध कर रहे हैं।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts