Breaking News :

भोपाल,  शिक्षा विभाग में संविलियन नहीं होने तथा सातवें वेतनमान की मांग को लेकर अध्यापकों ने भेल स्थित दशहरा मैदान में प्रदर्शन किया. अध्यापकों द्वारा प्रदर्शन की खबर से शिक्षा विभाग सहित महकमा जाग गया और उनसे बातचीत करने अधिकारी पहुंच गए. उन्हें आश्वस्त किया गया कि 4 नवंबर को अध्यापकों का सम्मलेन बुलाया जाएगा जिसमें मुख्यमंत्री उनकी मांगों पर निराकरण करेंगे. इसके बाद अध्यापकों ने आंदोलन समाप्ति की घोषणा कर दी. दरअसल आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले अध्यापकों ने दशहरा मैदान में धरना प्रदर्शन किया. सुबह से ही वहां पर अध्यापकों का पहुंचना शुरू हो गया. दोपहर में पदाधिकारियों ने संबोधित किया. अध्यापकों के आंदोलन को देखते हुए जिला प्रशासन भी सतर्क रहा.आजाद अध्यापक संघ के अध्यक्ष भरत पटेल ने बताया कि शिक्षा विभाग में संविलियन व सातवें वेतनमान की मांग को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है. संविलियन नहीं होनेे से अध्यापकों में रोष है जिसके चलते आंदोलन करना पड़ा. लोक शिक्षण संचालनालय की संचालक अंजू पवन भदौरिया अध्यापकों के बीच पहुंची और कहा कि 4 नवंबर को राजधानी मेंं अध्यापकों के लिए पंचायत बुलाई जाएगी, जिसमें उनकी मांगों पर निर्णय होगा. इसके बाद अध्यापकों का प्रदर्शन खत्म हो गया."/> भोपाल,  शिक्षा विभाग में संविलियन नहीं होने तथा सातवें वेतनमान की मांग को लेकर अध्यापकों ने भेल स्थित दशहरा मैदान में प्रदर्शन किया. अध्यापकों द्वारा प्रदर्शन की खबर से शिक्षा विभाग सहित महकमा जाग गया और उनसे बातचीत करने अधिकारी पहुंच गए. उन्हें आश्वस्त किया गया कि 4 नवंबर को अध्यापकों का सम्मलेन बुलाया जाएगा जिसमें मुख्यमंत्री उनकी मांगों पर निराकरण करेंगे. इसके बाद अध्यापकों ने आंदोलन समाप्ति की घोषणा कर दी. दरअसल आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले अध्यापकों ने दशहरा मैदान में धरना प्रदर्शन किया. सुबह से ही वहां पर अध्यापकों का पहुंचना शुरू हो गया. दोपहर में पदाधिकारियों ने संबोधित किया. अध्यापकों के आंदोलन को देखते हुए जिला प्रशासन भी सतर्क रहा.आजाद अध्यापक संघ के अध्यक्ष भरत पटेल ने बताया कि शिक्षा विभाग में संविलियन व सातवें वेतनमान की मांग को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है. संविलियन नहीं होनेे से अध्यापकों में रोष है जिसके चलते आंदोलन करना पड़ा. लोक शिक्षण संचालनालय की संचालक अंजू पवन भदौरिया अध्यापकों के बीच पहुंची और कहा कि 4 नवंबर को राजधानी मेंं अध्यापकों के लिए पंचायत बुलाई जाएगी, जिसमें उनकी मांगों पर निर्णय होगा. इसके बाद अध्यापकों का प्रदर्शन खत्म हो गया."/> भोपाल,  शिक्षा विभाग में संविलियन नहीं होने तथा सातवें वेतनमान की मांग को लेकर अध्यापकों ने भेल स्थित दशहरा मैदान में प्रदर्शन किया. अध्यापकों द्वारा प्रदर्शन की खबर से शिक्षा विभाग सहित महकमा जाग गया और उनसे बातचीत करने अधिकारी पहुंच गए. उन्हें आश्वस्त किया गया कि 4 नवंबर को अध्यापकों का सम्मलेन बुलाया जाएगा जिसमें मुख्यमंत्री उनकी मांगों पर निराकरण करेंगे. इसके बाद अध्यापकों ने आंदोलन समाप्ति की घोषणा कर दी. दरअसल आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले अध्यापकों ने दशहरा मैदान में धरना प्रदर्शन किया. सुबह से ही वहां पर अध्यापकों का पहुंचना शुरू हो गया. दोपहर में पदाधिकारियों ने संबोधित किया. अध्यापकों के आंदोलन को देखते हुए जिला प्रशासन भी सतर्क रहा.आजाद अध्यापक संघ के अध्यक्ष भरत पटेल ने बताया कि शिक्षा विभाग में संविलियन व सातवें वेतनमान की मांग को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है. संविलियन नहीं होनेे से अध्यापकों में रोष है जिसके चलते आंदोलन करना पड़ा. लोक शिक्षण संचालनालय की संचालक अंजू पवन भदौरिया अध्यापकों के बीच पहुंची और कहा कि 4 नवंबर को राजधानी मेंं अध्यापकों के लिए पंचायत बुलाई जाएगी, जिसमें उनकी मांगों पर निर्णय होगा. इसके बाद अध्यापकों का प्रदर्शन खत्म हो गया.">

आश्वासन के बाद अध्यापकों ने आंदोलन किया स्थगित

2017/10/16



भोपाल,  शिक्षा विभाग में संविलियन नहीं होने तथा सातवें वेतनमान की मांग को लेकर अध्यापकों ने भेल स्थित दशहरा मैदान में प्रदर्शन किया. अध्यापकों द्वारा प्रदर्शन की खबर से शिक्षा विभाग सहित महकमा जाग गया और उनसे बातचीत करने अधिकारी पहुंच गए. उन्हें आश्वस्त किया गया कि 4 नवंबर को अध्यापकों का सम्मलेन बुलाया जाएगा जिसमें मुख्यमंत्री उनकी मांगों पर निराकरण करेंगे. इसके बाद अध्यापकों ने आंदोलन समाप्ति की घोषणा कर दी. दरअसल आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले अध्यापकों ने दशहरा मैदान में धरना प्रदर्शन किया. सुबह से ही वहां पर अध्यापकों का पहुंचना शुरू हो गया. दोपहर में पदाधिकारियों ने संबोधित किया. अध्यापकों के आंदोलन को देखते हुए जिला प्रशासन भी सतर्क रहा.आजाद अध्यापक संघ के अध्यक्ष भरत पटेल ने बताया कि शिक्षा विभाग में संविलियन व सातवें वेतनमान की मांग को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है. संविलियन नहीं होनेे से अध्यापकों में रोष है जिसके चलते आंदोलन करना पड़ा. लोक शिक्षण संचालनालय की संचालक अंजू पवन भदौरिया अध्यापकों के बीच पहुंची और कहा कि 4 नवंबर को राजधानी मेंं अध्यापकों के लिए पंचायत बुलाई जाएगी, जिसमें उनकी मांगों पर निर्णय होगा. इसके बाद अध्यापकों का प्रदर्शन खत्म हो गया.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts