Breaking News :

दोहा, भारत के 17 बार के विश्व चैंपियन पंकज आडवाणी के लिए पिछली स्पर्धा बहुत अच्छा अनुभव नहीं रहा था. उन्हें आईबीएसएफ विश्व बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के लंबे प्रारूप के सेमीफाइनल में इंग्लैंड के माइक रसेल के हाथों हार गए थे जिसके कारण उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था. लेकिन पंकज ने यहां विश्व चैंपियनशिप के राउंड रोबिन चरण में जीत के साथ स्नूकर स्पर्धा के नाकआउट चरण में जगह बनाई. आडवाणी ने आज कतर के खामिस अलोबेदली को 4-1 से हराकर 'एलिमिनेशन ड्रा आफ 64'  में जगह बनाई जिसकी शुरुआत दो दिन बाद होगी. लीग चरण में आडवाणी को अभी एक मैच और खेलना है लेकिन अब तक के अपने प्रदर्शन के आधार पर उन्होंने नाकआउट में जगह पक्की कर ली है. आडवाणी ने पहले मैच में फिनलैंड के हेकी निवा को 4-0 से हराने के बाद आयरलैंड के कार्ल फिट्जपैट्रिक को भी 4-1 से शिकस्त दी. आडवाणी ने 12 नवंबर को 150 अप प्रारूप में अपने विश्व बिलियर्ड्स खिताब का सफलता पूर्वक बचाव किया था जो उनका 17वां विश्व खिताब था. अडवाणी किसी भी खेल में किसी भारतीय द्वारा सबसे ज्यादा विश्व खिताब हासिल करने वाले खिलाड़ी है. वे विश्व बिलियर्ड्स और विश्व स्नूकर जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी भी हैं."/> दोहा, भारत के 17 बार के विश्व चैंपियन पंकज आडवाणी के लिए पिछली स्पर्धा बहुत अच्छा अनुभव नहीं रहा था. उन्हें आईबीएसएफ विश्व बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के लंबे प्रारूप के सेमीफाइनल में इंग्लैंड के माइक रसेल के हाथों हार गए थे जिसके कारण उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था. लेकिन पंकज ने यहां विश्व चैंपियनशिप के राउंड रोबिन चरण में जीत के साथ स्नूकर स्पर्धा के नाकआउट चरण में जगह बनाई. आडवाणी ने आज कतर के खामिस अलोबेदली को 4-1 से हराकर 'एलिमिनेशन ड्रा आफ 64'  में जगह बनाई जिसकी शुरुआत दो दिन बाद होगी. लीग चरण में आडवाणी को अभी एक मैच और खेलना है लेकिन अब तक के अपने प्रदर्शन के आधार पर उन्होंने नाकआउट में जगह पक्की कर ली है. आडवाणी ने पहले मैच में फिनलैंड के हेकी निवा को 4-0 से हराने के बाद आयरलैंड के कार्ल फिट्जपैट्रिक को भी 4-1 से शिकस्त दी. आडवाणी ने 12 नवंबर को 150 अप प्रारूप में अपने विश्व बिलियर्ड्स खिताब का सफलता पूर्वक बचाव किया था जो उनका 17वां विश्व खिताब था. अडवाणी किसी भी खेल में किसी भारतीय द्वारा सबसे ज्यादा विश्व खिताब हासिल करने वाले खिलाड़ी है. वे विश्व बिलियर्ड्स और विश्व स्नूकर जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी भी हैं."/> दोहा, भारत के 17 बार के विश्व चैंपियन पंकज आडवाणी के लिए पिछली स्पर्धा बहुत अच्छा अनुभव नहीं रहा था. उन्हें आईबीएसएफ विश्व बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के लंबे प्रारूप के सेमीफाइनल में इंग्लैंड के माइक रसेल के हाथों हार गए थे जिसके कारण उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था. लेकिन पंकज ने यहां विश्व चैंपियनशिप के राउंड रोबिन चरण में जीत के साथ स्नूकर स्पर्धा के नाकआउट चरण में जगह बनाई. आडवाणी ने आज कतर के खामिस अलोबेदली को 4-1 से हराकर 'एलिमिनेशन ड्रा आफ 64'  में जगह बनाई जिसकी शुरुआत दो दिन बाद होगी. लीग चरण में आडवाणी को अभी एक मैच और खेलना है लेकिन अब तक के अपने प्रदर्शन के आधार पर उन्होंने नाकआउट में जगह पक्की कर ली है. आडवाणी ने पहले मैच में फिनलैंड के हेकी निवा को 4-0 से हराने के बाद आयरलैंड के कार्ल फिट्जपैट्रिक को भी 4-1 से शिकस्त दी. आडवाणी ने 12 नवंबर को 150 अप प्रारूप में अपने विश्व बिलियर्ड्स खिताब का सफलता पूर्वक बचाव किया था जो उनका 17वां विश्व खिताब था. अडवाणी किसी भी खेल में किसी भारतीय द्वारा सबसे ज्यादा विश्व खिताब हासिल करने वाले खिलाड़ी है. वे विश्व बिलियर्ड्स और विश्व स्नूकर जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी भी हैं.">

आडवाणी विश्व स्नूकर के नाकआउट में

2017/11/22



दोहा, भारत के 17 बार के विश्व चैंपियन पंकज आडवाणी के लिए पिछली स्पर्धा बहुत अच्छा अनुभव नहीं रहा था. उन्हें आईबीएसएफ विश्व बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के लंबे प्रारूप के सेमीफाइनल में इंग्लैंड के माइक रसेल के हाथों हार गए थे जिसके कारण उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था. लेकिन पंकज ने यहां विश्व चैंपियनशिप के राउंड रोबिन चरण में जीत के साथ स्नूकर स्पर्धा के नाकआउट चरण में जगह बनाई. आडवाणी ने आज कतर के खामिस अलोबेदली को 4-1 से हराकर 'एलिमिनेशन ड्रा आफ 64'  में जगह बनाई जिसकी शुरुआत दो दिन बाद होगी. लीग चरण में आडवाणी को अभी एक मैच और खेलना है लेकिन अब तक के अपने प्रदर्शन के आधार पर उन्होंने नाकआउट में जगह पक्की कर ली है. आडवाणी ने पहले मैच में फिनलैंड के हेकी निवा को 4-0 से हराने के बाद आयरलैंड के कार्ल फिट्जपैट्रिक को भी 4-1 से शिकस्त दी. आडवाणी ने 12 नवंबर को 150 अप प्रारूप में अपने विश्व बिलियर्ड्स खिताब का सफलता पूर्वक बचाव किया था जो उनका 17वां विश्व खिताब था. अडवाणी किसी भी खेल में किसी भारतीय द्वारा सबसे ज्यादा विश्व खिताब हासिल करने वाले खिलाड़ी है. वे विश्व बिलियर्ड्स और विश्व स्नूकर जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी भी हैं.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts