Breaking News :

काबुल, अफगानिस्तान के दक्षिण प्रांत हेल्मंद में तालिबानी कमांडरों की एक बैठक के दौरान अमेरिकी वायु सेना के हमले में 50 से अधिक शीर्ष कमांडर मारे गए हैं। अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मार्टिन ओ डोनेल ने आज बताया कि हेल्मंद प्रांत के मूसा कला जिले में स्थित तालिबानी लड़ाकों के एक महत्वपूर्ण गढ़ में अमेरिका हमले से इतने कमांडरों का एक साथ मारा जाना तालिबान के लिए बहुत बड़ा झटका है। अमेरिकी सेना के अनुसार गत 24 मई को हुई इस बैठक में फराह सहित अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों से तालिबानी लड़ाके शामिल हुए थे। श्री डोनेल ने कहा, “हमारा मानना है कि यह बैठक उनकी अगली योजना का हिस्सा थी लेकिन अमेरिकी सैनिकों के हमले से उनकी योजना विफल हो गई है। उन्होंने कहा, “निश्चित रूप से यह एक एक जाेरदार हमला है।” उन्होंने बताया कि पिछले 10 दिनों में अमेरिकी सैनिकों द्वारा किये गए हमलों में कई अन्य शीर्ष तथा कम रैंक के तालिबानी कमांडर मारे गए हैं। उधर, तालिबान ने अमेरिकी सेना के इस दावे को खारिज करते हुए इसे महज दुष्प्रचार करार दिया और कहा कि अमेरिकी सेना ने मूसा कला में दो रिहायशी इमारतों पर हमला किया, जिसमें पांच नागरिक मारे गए तथा तीन अन्य लोग घायल हुए हैं। तालिबान के प्रवक्ता कारी युसफ अहमदी ने एक बयान जारी कर कहा, “यह रिहायशी क्षेत्र है जिसका तालिबान के साथ कोई संबंध नहीं है।”"/> काबुल, अफगानिस्तान के दक्षिण प्रांत हेल्मंद में तालिबानी कमांडरों की एक बैठक के दौरान अमेरिकी वायु सेना के हमले में 50 से अधिक शीर्ष कमांडर मारे गए हैं। अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मार्टिन ओ डोनेल ने आज बताया कि हेल्मंद प्रांत के मूसा कला जिले में स्थित तालिबानी लड़ाकों के एक महत्वपूर्ण गढ़ में अमेरिका हमले से इतने कमांडरों का एक साथ मारा जाना तालिबान के लिए बहुत बड़ा झटका है। अमेरिकी सेना के अनुसार गत 24 मई को हुई इस बैठक में फराह सहित अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों से तालिबानी लड़ाके शामिल हुए थे। श्री डोनेल ने कहा, “हमारा मानना है कि यह बैठक उनकी अगली योजना का हिस्सा थी लेकिन अमेरिकी सैनिकों के हमले से उनकी योजना विफल हो गई है। उन्होंने कहा, “निश्चित रूप से यह एक एक जाेरदार हमला है।” उन्होंने बताया कि पिछले 10 दिनों में अमेरिकी सैनिकों द्वारा किये गए हमलों में कई अन्य शीर्ष तथा कम रैंक के तालिबानी कमांडर मारे गए हैं। उधर, तालिबान ने अमेरिकी सेना के इस दावे को खारिज करते हुए इसे महज दुष्प्रचार करार दिया और कहा कि अमेरिकी सेना ने मूसा कला में दो रिहायशी इमारतों पर हमला किया, जिसमें पांच नागरिक मारे गए तथा तीन अन्य लोग घायल हुए हैं। तालिबान के प्रवक्ता कारी युसफ अहमदी ने एक बयान जारी कर कहा, “यह रिहायशी क्षेत्र है जिसका तालिबान के साथ कोई संबंध नहीं है।”"/> काबुल, अफगानिस्तान के दक्षिण प्रांत हेल्मंद में तालिबानी कमांडरों की एक बैठक के दौरान अमेरिकी वायु सेना के हमले में 50 से अधिक शीर्ष कमांडर मारे गए हैं। अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मार्टिन ओ डोनेल ने आज बताया कि हेल्मंद प्रांत के मूसा कला जिले में स्थित तालिबानी लड़ाकों के एक महत्वपूर्ण गढ़ में अमेरिका हमले से इतने कमांडरों का एक साथ मारा जाना तालिबान के लिए बहुत बड़ा झटका है। अमेरिकी सेना के अनुसार गत 24 मई को हुई इस बैठक में फराह सहित अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों से तालिबानी लड़ाके शामिल हुए थे। श्री डोनेल ने कहा, “हमारा मानना है कि यह बैठक उनकी अगली योजना का हिस्सा थी लेकिन अमेरिकी सैनिकों के हमले से उनकी योजना विफल हो गई है। उन्होंने कहा, “निश्चित रूप से यह एक एक जाेरदार हमला है।” उन्होंने बताया कि पिछले 10 दिनों में अमेरिकी सैनिकों द्वारा किये गए हमलों में कई अन्य शीर्ष तथा कम रैंक के तालिबानी कमांडर मारे गए हैं। उधर, तालिबान ने अमेरिकी सेना के इस दावे को खारिज करते हुए इसे महज दुष्प्रचार करार दिया और कहा कि अमेरिकी सेना ने मूसा कला में दो रिहायशी इमारतों पर हमला किया, जिसमें पांच नागरिक मारे गए तथा तीन अन्य लोग घायल हुए हैं। तालिबान के प्रवक्ता कारी युसफ अहमदी ने एक बयान जारी कर कहा, “यह रिहायशी क्षेत्र है जिसका तालिबान के साथ कोई संबंध नहीं है।”">

अमेरिकी हमले में 50 से अधिक तालिबानी कमांडर मारे गए

2018/05/30



काबुल, अफगानिस्तान के दक्षिण प्रांत हेल्मंद में तालिबानी कमांडरों की एक बैठक के दौरान अमेरिकी वायु सेना के हमले में 50 से अधिक शीर्ष कमांडर मारे गए हैं। अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मार्टिन ओ डोनेल ने आज बताया कि हेल्मंद प्रांत के मूसा कला जिले में स्थित तालिबानी लड़ाकों के एक महत्वपूर्ण गढ़ में अमेरिका हमले से इतने कमांडरों का एक साथ मारा जाना तालिबान के लिए बहुत बड़ा झटका है। अमेरिकी सेना के अनुसार गत 24 मई को हुई इस बैठक में फराह सहित अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों से तालिबानी लड़ाके शामिल हुए थे। श्री डोनेल ने कहा, “हमारा मानना है कि यह बैठक उनकी अगली योजना का हिस्सा थी लेकिन अमेरिकी सैनिकों के हमले से उनकी योजना विफल हो गई है। उन्होंने कहा, “निश्चित रूप से यह एक एक जाेरदार हमला है।” उन्होंने बताया कि पिछले 10 दिनों में अमेरिकी सैनिकों द्वारा किये गए हमलों में कई अन्य शीर्ष तथा कम रैंक के तालिबानी कमांडर मारे गए हैं। उधर, तालिबान ने अमेरिकी सेना के इस दावे को खारिज करते हुए इसे महज दुष्प्रचार करार दिया और कहा कि अमेरिकी सेना ने मूसा कला में दो रिहायशी इमारतों पर हमला किया, जिसमें पांच नागरिक मारे गए तथा तीन अन्य लोग घायल हुए हैं। तालिबान के प्रवक्ता कारी युसफ अहमदी ने एक बयान जारी कर कहा, “यह रिहायशी क्षेत्र है जिसका तालिबान के साथ कोई संबंध नहीं है।”


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts