Breaking News :

इस्लामाबाद, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने दावा किया है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्वीट आधिकारिक नीति नहीं हो सकता है। पाकिस्तान के अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने श्री अब्बासी के हवाले से कहा 'आधिकारिक नीतियां ट्वीट के माध्यम से नहीं बतायी जाती है।नीतिगत फैसले आधिकारिक कागजातों के जरिए अथवा बैठकों में लिये जाते हैं।' श्री अब्बासी ने कहा कि श्री ट्रंप जो कह रहे हैं उसका जमीनी हकीकत से कुछ लेना-देना नहीं है।हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने को लेकर प्रतिबद्ध हैं।इसके लिए दो रास्ते संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में लगातार अमेरिका को अपनी जमीन इस्तेमाल करने के लिए देता रहा है।इसको लेकर पाकिस्तान के साथ कोई समझौता अथवा कोई भुगतान की बात नहीं है।श्री ट्रंप के ट्वीट से इन मामलों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।अमेरिका की ओर से सुरक्षा के नाम पर पाकिस्तान कोई आर्थिक सहायता प्राप्त नहीं करता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिमी सीमा पर हमारे दो लाख सैनिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं।हमने 65 हजार सैनिक खोये हैं।अफगानिस्तान में जिन लोगों को हराने में पूरी दुनिया कामयाब नहीं हुई उसे हमने हराया है। गौरतलब है कि श्री ट्रंप ने ट्वीट में पाकिस्तान पर झूठ बोलने और धोखा देने तथा आतंकवादियों को पनाह देते हुए अमेरिकी नेताओं को मूर्ख बनाने का आरोप लगाया था।"/> इस्लामाबाद, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने दावा किया है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्वीट आधिकारिक नीति नहीं हो सकता है। पाकिस्तान के अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने श्री अब्बासी के हवाले से कहा 'आधिकारिक नीतियां ट्वीट के माध्यम से नहीं बतायी जाती है।नीतिगत फैसले आधिकारिक कागजातों के जरिए अथवा बैठकों में लिये जाते हैं।' श्री अब्बासी ने कहा कि श्री ट्रंप जो कह रहे हैं उसका जमीनी हकीकत से कुछ लेना-देना नहीं है।हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने को लेकर प्रतिबद्ध हैं।इसके लिए दो रास्ते संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में लगातार अमेरिका को अपनी जमीन इस्तेमाल करने के लिए देता रहा है।इसको लेकर पाकिस्तान के साथ कोई समझौता अथवा कोई भुगतान की बात नहीं है।श्री ट्रंप के ट्वीट से इन मामलों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।अमेरिका की ओर से सुरक्षा के नाम पर पाकिस्तान कोई आर्थिक सहायता प्राप्त नहीं करता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिमी सीमा पर हमारे दो लाख सैनिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं।हमने 65 हजार सैनिक खोये हैं।अफगानिस्तान में जिन लोगों को हराने में पूरी दुनिया कामयाब नहीं हुई उसे हमने हराया है। गौरतलब है कि श्री ट्रंप ने ट्वीट में पाकिस्तान पर झूठ बोलने और धोखा देने तथा आतंकवादियों को पनाह देते हुए अमेरिकी नेताओं को मूर्ख बनाने का आरोप लगाया था।"/> इस्लामाबाद, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने दावा किया है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्वीट आधिकारिक नीति नहीं हो सकता है। पाकिस्तान के अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने श्री अब्बासी के हवाले से कहा 'आधिकारिक नीतियां ट्वीट के माध्यम से नहीं बतायी जाती है।नीतिगत फैसले आधिकारिक कागजातों के जरिए अथवा बैठकों में लिये जाते हैं।' श्री अब्बासी ने कहा कि श्री ट्रंप जो कह रहे हैं उसका जमीनी हकीकत से कुछ लेना-देना नहीं है।हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने को लेकर प्रतिबद्ध हैं।इसके लिए दो रास्ते संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में लगातार अमेरिका को अपनी जमीन इस्तेमाल करने के लिए देता रहा है।इसको लेकर पाकिस्तान के साथ कोई समझौता अथवा कोई भुगतान की बात नहीं है।श्री ट्रंप के ट्वीट से इन मामलों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।अमेरिका की ओर से सुरक्षा के नाम पर पाकिस्तान कोई आर्थिक सहायता प्राप्त नहीं करता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिमी सीमा पर हमारे दो लाख सैनिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं।हमने 65 हजार सैनिक खोये हैं।अफगानिस्तान में जिन लोगों को हराने में पूरी दुनिया कामयाब नहीं हुई उसे हमने हराया है। गौरतलब है कि श्री ट्रंप ने ट्वीट में पाकिस्तान पर झूठ बोलने और धोखा देने तथा आतंकवादियों को पनाह देते हुए अमेरिकी नेताओं को मूर्ख बनाने का आरोप लगाया था।">

अमेरिकी नीति नहीं ट्रंप का ट्वीट : अब्बासी

2018/01/27



इस्लामाबाद, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने दावा किया है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्वीट आधिकारिक नीति नहीं हो सकता है। पाकिस्तान के अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने श्री अब्बासी के हवाले से कहा 'आधिकारिक नीतियां ट्वीट के माध्यम से नहीं बतायी जाती है।नीतिगत फैसले आधिकारिक कागजातों के जरिए अथवा बैठकों में लिये जाते हैं।' श्री अब्बासी ने कहा कि श्री ट्रंप जो कह रहे हैं उसका जमीनी हकीकत से कुछ लेना-देना नहीं है।हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने को लेकर प्रतिबद्ध हैं।इसके लिए दो रास्ते संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में लगातार अमेरिका को अपनी जमीन इस्तेमाल करने के लिए देता रहा है।इसको लेकर पाकिस्तान के साथ कोई समझौता अथवा कोई भुगतान की बात नहीं है।श्री ट्रंप के ट्वीट से इन मामलों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।अमेरिका की ओर से सुरक्षा के नाम पर पाकिस्तान कोई आर्थिक सहायता प्राप्त नहीं करता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिमी सीमा पर हमारे दो लाख सैनिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं।हमने 65 हजार सैनिक खोये हैं।अफगानिस्तान में जिन लोगों को हराने में पूरी दुनिया कामयाब नहीं हुई उसे हमने हराया है। गौरतलब है कि श्री ट्रंप ने ट्वीट में पाकिस्तान पर झूठ बोलने और धोखा देने तथा आतंकवादियों को पनाह देते हुए अमेरिकी नेताओं को मूर्ख बनाने का आरोप लगाया था।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts