अपहरण एवं बलात्कार का आरोपी महाराष्ट्र के नासिक से गिरफ्तार


बरगवां पुलिस की कार्रवाई, पुलिस ने आरोपी न्यायालय में किया पेश, पहुंचा जेल

सिंगरौली :बरगवां पुलिस ने अपहरण करके दुराचार करने वाले आरोपी को महाराष्ट्र के नासिक जिले से हिरासत में लिया है।गौरतलब है कि 11 जनवरी को थाना बरगवॉ में अपहृता किशोरी के परिजनों द्वारा इस आशय की रिपोर्ट दर्ज कराई गई कि इनकी पुत्री रात्रि मे खाना पीना खाकर घर मे सोयी थी, सुबह उठे तो घर मे नही मिली, सोचे कि कही गई होगी, किन्तु जब दोपहर तक घर वापस नही आयी तो आस पड़ोस एवं रिस्तेदारियों तथा उसके सहेलियो के यहॉ पता किये, किन्तु कोई पता नही चला तब थाना में उसके गुमसुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई। परिजनों ने उससे मिलने-जुलने वाले शिवम् रजक पर आशंका जाहिर की। रिपोर्ट पर धारा 363 भादवि कायम कर विवेचना प्रारम्भ की गई।

विवेचना के दौरान संदेही शिवम् की तलाश की गई तथा उसके परिजनो से भी पूछताछ की गई, किन्तु परिजनों द्वारा अनभिज्ञता जाहिर करते हुए उसका कोई पता नही बताया गया तथा संदेही शिवम् का भी मोबाईल बन्द हो गया। दौरान विवेचना काफी प्रयास एवं हिकमत अमली से संदेही उपरोक्त का नया मोबाईल नम्बर ज्ञात कर तथा मुखबिर मामुर कर पतारसी उठाई गई, तो पता चला कि संदेही शिवम् रजक के गॉव तथा रिस्तेदारी के कुछ लोग नाशिक महाराष्ट्र तरफ मजदूरी करते है जो सम्भावना है कि लड़की का अपहरण कर संदेही नाशिक तरफ गया होगा। अपहृता के तलाश हेतु सउनि विशेषर प्रसाद साकेत के नेतृत्व मे प्र.आर. 273 अरूणेन्द्र पटेल की टीम गठित कर नाशिक रवाना किया गया, लोकल पुलिस की मदद से काफी प्रयास के बाद संदेही शिवम् रजक के साथ अपहृता कस्बा मलेगा जिला नाशिक महाराष्ट्र में 22 जनवरी को दस्तयाब हुई।

जिसे पुलिस टीम उसके पिता के साथ लेकर लगातार करीब 40 घंटे सफर कर 23 जनवरी को अर्ध रात्रि के आस पास बरगवॉ पहुंचे। अपहृता को उसके माता पिता को सुपुर्द कर आरोपी शिवम् रजक से पूछताछ की गई तो उसने अपहृता के साथ शादी करना स्वीकार किया। उसने बताया कि शिवम् रजक उसे बहला फुसला कर नाशिक महाराष्ट्र ले जाकर तीन-चार माह पूर्व शादी कर लिया था तथा वहीं पत्नी की तरह अपने पास रखा था। अपहृता के कथन पर शिवम् रजक के विरूद्ध प्रकरण में धारा 366, 376 (2) (एन) भा.द.वि., 4 / 6 पाक्सो एक्ट बढ़ाई जाकर आरोपी शिवम् रजक उर्फ शुभम पिता हीरालाल रजक उम्र 22 वर्ष निवासी बरहवाटोला थाना बरगवॉ को 24 जनवरी को गिरफ्तार कर बुधवार को न्यायिक अभिरक्षा में विशेष न्यायाधीश देवसर के न्यायालय में भेजा गया, जहाँ से आरोपी को जेल भेज दिया गया। उक्त कार्रवाई में निरी आरपी. सिंह थाना प्रभारी बरगवॉ के नेतृत्व में सउनि विशेषर प्रसाद साकेत एवं प्र.आर अरूणेन्द्र पटेल तथा म.प्रआर रामकली पनिका व अन्य की भूमिका सराहनीय रही।


नव भारत न्यूज

Next Post

युवक की मौत के बाद 10 घण्टे बाधित रहा रजमिलान मार्ग

Thu Jan 26 , 2023
कोल वाहन की टक्कर से युवक की हुई थी मौत, दूसरा हुआ था घायल, ग्रामीणों ने दिनभर किया बवाल,समझौते के बाद समाप्त हुआ धरना सिंगरौली : माड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत चौराहा के पास स्थित पेट्रोल पम्प के पास रोड पर अडाणी पावर बंधौरा के खड़े कोल से टकराकर बुधवार रात […]