साहबानो का हाल,नौनिहाल बेहाल,समूह मालामाल,एमडीएम का हाल


जिला व खण्ड स्तर के डेढ़ दर्जन से अधिक सरकार के नुमाइंदों को मध्यान्ह भोजन एवं विद्यालयों के निरीक्षण करने का है जिम्मा, जांच पड़ताल सब हवा-हवाई,अधिकारी भोजन के मीनू से भी बेखबर

सिंगरौली : साहबों की अनदेखी से महिला स्व सहायता समूह मालामाल हो रहे हैं। विद्यालयों में प्रधानमंत्री पोषण शक्ति योजना के तहत मध्यान्ह भोजन पक रहा है कि नहीं, निर्धारित मीनू का पालन किया जा रहा है कि नहीं इन्हीं सब बिंदुओं को जानने नवभारत ने पड़ताल किया। पड़ताल में पता चला कि कई अधिकारियों को एमडीएम के मीनू का भी जानकारी नहीं है और न ही विद्यालयों का निरीक्षण करते हैं।गौरतलब हो कि म.प्र.शासन प्रमुख सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग भोपाल ने 6 अपै्रल 2022 को प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण के संबंध में जिला स्तर से स्कूल स्तर तक निरीक्षण प्रणाली व्यवस्था लागू करने का निर्देश जारी किया था।

जिसके तहत कलेक्टर, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी, एमडीएम के जिला प्रभारी, जिला स्तर पर मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम अंतर्गत पदस्थ टास्क मैनेजर एवं क्वालिटी मानीटर, ब्लाक स्तर पर सीईओ जनपद पंचायत, बीआरसी, क्लस्टर स्तर पर पीसीओ, क्लस्टर का नोडल अधिकारी, प्रभारी अधिकारी को महीने में कितने विद्यालयों का निरीक्षण करना है इसके लिए व्यवस्था बनायी गयी है। नवभारत ने जब इस संबंध में पड़ताल किया तो पता चला कि जिले का मध्यान्ह भोजन व्यवस्था बेहाल है। कई समूह मालामाल हो रहे हंै। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग भोपाल के प्रमुख सचिव का आदेश ठण्डे बस्ते मेें चला गया है।

जिले में तकरीबन एक दर्जन से अधिक अधिकारी, कर्मचारियों को स्कूलों का निरीक्षण करने की जिम्मेदारियां दी गयी है। लेकिन एक नमूना बतौर पर करीब जिला एवं ब्लाक स्तर के अधिकारियों से हाल जानने का कोशिश किया गया। जिसमें अधिकारियों के बयान चौकाने वाले थे। इकलौते माड़ा एसडीएम ने वरिष्ठ अधिकारियों के आदेश को तरजीह दिया है। बाकी अधिकारी, कर्मचारियों ने कुछ न कुछ बहाना बताकर अपनी समस्याएं सुनाते रहे। हैरानी की बात है कि पंचायत विभाग के अधिकारी अपने प्रमुख सचिव के आदेश को तरजीह नहीं दे रहे हैं तो दूसरे विभाग से उम्मीद कैसे की जा सकती है।

प्रभारी जिला पंचायत सीईओ ने डेढ़ महीने से बीमारी का बहाना बता दिया और उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि कितने विद्यालयों और स्व सहायता समूहों का निरीक्षण किया है और न ही विद्यालयों का नाम याद है। इसी से स्पष्ट होता है कि मध्यान्ह भोजन व्यवस्था सब कुछ समूहों के जिम्मे कर दिया गया है। नौनिहालों को पोषण आहार मिल रहा है कि नहीं इससे बहुत वास्ता नहीं है। प्रयास यही रहता है कि शिकायत न पहुंचे और यदि शिकायत आयी तो जांच के नाम पर कई अधिकारी, कर्मचारी समूहों पर दरियादिली दिखाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ते और यदि उनकी मंशा पर खरे नहीं उतरे तो समूह बदलने में जिला पंचायत पिछे भी नहीं रहता। इसके कई उदाहरण हैं।

इनका कहना है
मेरे द्वारा अब तक 15 से 20 माध्यमिक स्तर के विद्यालयों का निरीक्षण किया गया है। इस दौरान विद्यालयों में मीनू के अनुसार ही खाना बनना पाया गया। खाने में और सुधार किये जाने को लेकर समूह संचालकों को हिदायत दी गयी है।
बीपी पाण्डेय,एसडीएम, माड़ा

मै करीब डेढ़ महीने से अस्वस्थ्य हूॅ, इसलिए एक भी विद्यालय का निरीक्षण नहीं किया गया है। इसके पूर्व में मेरे द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण किया गया था। डायरी देखने के बाद जानकारी दे पाऊंगा। जानकारी लेने का उद्देश्य क्या है। हालांकि समूह संचालक पूर्ण रूपेण मीनू के अनुसार स्कूलों में बच्चों को भोजन नहीं दे रहे हैं यह बात सत्य है।
अनुराग मोदी
प्रभारी एवं अतिरिक्त सीईओ
जिला पंचायत सिंगरौली

अभी तक दो महीने में पांच विद्यालयों का निरीक्षण किया गया है। जिनमें अजगुढ़ में 2 व सुकहर के 3 विद्यालय शामिल हैं। इस दौरान एमडीएम मीनू अनुसार पाया गया।
छेदीलाल साकेत
सीईओ,ज.पं.चितरंगी
अभी हमें करीब एक सप्ताह ही जिले में ज्वाइन किये हुआ है। हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी की माध्यमिक स्तर तक की शिक्षा व्यवस्था बेहतर से बेहतर हो। साथ ही स्कूलों में एमडीएम को लेकर भी हमारी पैनी नजर रहेगी। यदि गड़बड़ी पायी जाती है तो संंबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी।
आरएल शुक्ला, डीपीसी,सिंगरौली
अभी 20-25 दिनों से मेरे द्वारा एक भी स्कूलों का निरीक्षण नहीं किया गया है। इसके पूर्व विद्यालयों का निरीक्षण किया गया था इस दौरान एमडीएम के संबंध में कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है बल्कि बच्चों से बर्तन धुलाये जाने की बात सामने आयी थी। जहां हमने समूह संचालक को इसके लिए हिदायत दी थी। बाकी मीनू के अनुसार स्कूलों में मध्यान्ह भोजन बन रहा है।
अशोक मिश्रा
सीईओ,ज.पं.बैढऩ,प्रभारी देवसर

अभी एक महीने ज्वाइन किये हुआ है। जन शिक्षकों को स्कूल निरीक्षण करने के लिए निर्देशित किया गया है। अभी तक मेरे द्वारा एक भी विद्यालयों का निरीक्षण नहीं किया गया है। मध्यान्ह भोजन के संबंध में किसी तरह की शिकायत नहीं मिली है। यदि शिकायत मिलती है तो निश्चित रूप से कार्रवाई होगी।
धनराज सिंह,बीआरसीसी, देवसर

मैं अभी बीआरसीसी के पूर्ण चार्ज में नहीं हूॅ। 25 दिनों से छुट्टी में था इसके पूर्व मेरे द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण किया जाता रहा है आज भी मैं विद्यालयों के निरीक्षण में रैला में मौजूद हूॅ। जहां पीएस व एमएस स्कूलों का निरीक्षण किया जा रहा है। मध्यान्ह भोजन मीनू अनुसार अच्छा दिया जा रहा है। लापरवाही पाने पर निश्चित रूप से कार्रवाई होगी।
फूलचन्द पटेल,बीएसी, बैढऩ

आज तक मैं केवल एक विद्यालय ही निरीक्षण के लिए जा पाया हूॅ। बैढऩ बीआरसीसी के लिए दो अधिकारी नियुक्त हैं। अभी प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन है। बाकी स्कूलों में मध्यान्ह भोजन का निरीक्षण सीएसी, बीएसी के द्वारा किया जा रहा है। मध्यान्ह भोजन के संबंध में अभी कोई शिकायत मिली नहीं है। यदि मिलती है तो निश्चित रूप से कार्रवाई होगी।
एपी सिंह,बीआरसीसी,बैढऩ

निरीक्षण किये, मीनू का भी नहीं था पता
आज बुधवार को इस संबंध मेें बीएसी फूलचन्द पटेल से जानकारी ली गयी तो उनका कहना था कि स्कूलों का सतत् निरीक्षण किया जा रहा है। निर्धारित मीनू के अनुसार समूहों के द्वारा भोजन पकाया जा रहा है। उन्होंने एक फोटो वाट्सअप किया जहां लिखा कि रैला माध्यमिक विद्यालय का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में एमडीएम सब कुछ ठीक-ठाक मिला। किन्तु बच्चों के थाली में दाल,चावल संभवत: मिक्स दाल परोसा गया था। मध्यान्ह भोजन के इस नजारे को देख बीएसी से बात की गयी तो उन्हे इस बात की जानकारी नहीं थी कि डे-वाई-डे एमडीएम का मीनू क्या है? उन्होंने तत्काल यू टर्न लेेते हुए कहा कि हो सकता है कि धोखे से फोटो वाट्सअप कर दिया हो फोटो कल मंगलवार का है। मंगलवार को पूरी पुलाव,खीर बनाने का मीनू है। थाली में चावल दाल ही नजर आ रहा है।


नव भारत न्यूज

Next Post

शिवपुरी के जैन मंदिर से अष्टधातु की मूर्तियां चुरा ले गए चोर, दानपात्र भी पार

Thu Jan 12 , 2023
शिवपुरी: देहात थाना क्षेत्र के गुरुद्वारा चौक स्थित छत्री जैन मंदिर से चोर मूर्तियों को चुरा ले गए जबकि यह क्षेत्र सबसे सुरक्षित माना जाता है। मौके पर पुलिस अधीक्षक, कलेक्टर ने पड़ताल शुरू कर दी है।जानकारी के अनुसार दिगंबर जैन छत्री मंदिर में बीती रात चोरों ने ऑटो पार्ट्स […]