सरपंच पत्नियों संग पतियों की भोपाल जाने की जिद करवा देंगी अतिरिक्त खर्च!


जिले में 527 संरपच, इनमें से आधी महिलाएं, जिला पंचायत को केवल सरपंच को लाने प्रदान की जाएगी राशि
जबलपुर: मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार ने मिशन 2023 की तैयारियों को तेज कर दिया है। यही वजह है कि पार्टी लगातार बैठकें और सम्मेलन आयोजित कर रही है। इसी कड़ी में सरकार प्रदेशभर के सरपंचों का सम्मेलन आयोजित करने जा रही है। जिसकी तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। इस आयोजन में जिले के 527 सरपंचों को लाने का जिम्मा जिला पंचायत को दिया गया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की ओर से इस संबंध में पत्र भी आ चुका है लेकिन बड़ी चनौती सरपंच पतियों की होगी। दरअसल जिले में कुल सरपंचों की संख्या 527 है। इनमें से आधी महिलाएं हैं। अधिकांश महिलाओं के साथ उनके पति भी जाने की जिद करने लगे है, जबकि जिला पंचायत को केवल सरपंच को लाने की राशि प्रदान की जाएगी। ऐसे में उनके पतियों पर होने वाला खर्च अतिरिक्त हो जाएगा। ऐसे में जिला पंचायत के अफसर चिंतित है कि सरपंच पतियों को यह कैसे समझायें।
सरपंचों की पाठशाला, अफसर चिंतित
नव निर्वाचित सरपंचों भोपाल में पाठशाला के आयोजन को लेकर जिला पंचायत के अफसर चिंचित दिख रहे है। सूत्रों के मुताबिक आयोजन को लेकर प्रशासन के अधिकारियों की सांस इस बात को लेकर फूल रही है कि कार्यक्रम का समय 10 बजे तय किया गया है। ठंड के दिनों में सरपंचों को अलसुबह इक_ा करना और फिर भोपाल भेजना सहज नहीं है। रात में जल्दी लेकर निकलने से भोपाल में उनके लिए अतिरिक्त इंतजाम करना होंगे, इसलिए अफसर पसोपेश में हैं। इसके अलावा सरपंचों के साथ पतियों के साथ जाने की जिद को लेकर भी असफर चिंतित है।
सीएम सरपंचों से होंगे रूबरू
सरपंच सम्मेलन में जन-प्रतिनिधियों को ऐसी जानकारी दी जाए, जिससे वे सम्मान के साथ अपने अधिकारों का उपयोग कर सकें। जनता द्वारा चुने गए जन-प्रतिनिधियों को प्रभावशाली बनाने के लिए कार्यक्रम में पूरी कोशिश की जाएगी। सम्मेलन में सरपंचों से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह खुद रू-ब-रू होंगे। कार्यक्रम में नव निर्वाचित सरपंचों का एक दिवसीय उन्मुखीकरण प्रशिक्षण भी होगा। सीएम ने नव निर्वाचित जन-प्रतिनिधियों के लिए होने वाले राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम की समीक्षा कर चुके है। उन्होंने कहा है कि जन-प्रतिनिधि हमारी ताकत हैं। नवनिर्वाचित जन-प्रतिनिधियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम बेहतर होना चाहिए।
नवाचार संबंधी दिखाई जाएगी वीडियो फिल्म
इसके अलावा सरपंचों को पंचायतों के नवाचार संबंधी वीडियो फिल्म भी दिखाई जाएगी। मध्यप्रदेश की त्रि-स्तरीय पंचायतीराज व्यवस्था में ग्राम पंचायत सरपंच की भूमिका एवं कार्यों की विस्तृत जानकारी दी जाएगी।


नव भारत न्यूज

Next Post

मंथर गति से हो रहा नेशनल हाईवे का फोरलेन सड़क निर्माण कार्य

Mon Dec 5 , 2022
सीधी-सिंगरौली के बीच आवागमन को लेकर लोगों की बढ़ी मुसीबतें, निर्माण कार्य को लेकर लापरवाह बनी तिरूपति बिल्डकॉन कम्पनी सीधी : सीधी-सिंगरौली नेशनल हाइवे के निर्माण कार्य में तेजी नहीं दिख रही है। लिहाजा सीधी से सिंगरौली के बीच यात्रा करने वाले लोगों की काफी फजीहतें हो रही हैं। सीधी […]