गुजरात विस चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान शुरू


गांधीनगर 05 दिसंबर (वार्ता) गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण में उत्तर और मध्य गुजरात के 14 जिलों की 93 सीटों पर सोमवार को प्रात: आठ बजे मतदान शुरू हो गया।

सुचारु एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिए तैयारियां कल ही पूरी कर ली गयीं थी।
इस चुनाव में 27 साल से राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी पी भारती ने बताया कि गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण के लिए तैयारियां पहले ही पूरी कर ली गयी थीं।
मतदान केन्द्रों और कर्मचारियों की सभी जरूरी व्यवस्था और चुनाव में उपयोग में ली जानेवाली ईवीएम और वीवीपैट (37,432 बीयू, 36157 सीयू और 40,066 वीवीपीएटी) भी तैयार कर ली गयी थीं।
दूसरे चरण में 18-पाटण सीट पर 16 उम्मीदवार होने से दो बैलेट यूनिट होंगी, जबकि अहमदाबाद के 47-नरोडा निर्वाचन क्षेत्र में 17, 49-बापुनगर में 29 और 50-अमराईवाडी में 17 उम्मीदवार होने से दो बैलेट यूनिट होंगी।
दूसरे चरण के मतदान से 48 घंटे पहले प्रचार बंद करने के नियम के तहत शनिवार की शाम पांच बजे चुनावी शोर थम गया था।
इसके बाद कोई अनधिकृत बाहरी व्यक्ति चुनाव वाले क्षेत्रों में नहीं रहने दिया गया।
मतदान सुबह आठ बजे से पांच बजे तक होगा।

उन्होंने बताया कि मतदान के लिए 1,13,325 कर्मचारी/अधिकारी तैनात किये गये जिनमें 29,062 निर्वाचन अधिकारी और 84,263 चुनाव कर्मी शामिल हैं।

दूसरे चरण की 93 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए कुल 833 प्रत्याशी मैदान में रह गए हैं जिनमें 764 पुरुष और 69 महिलाएं हैं।
इनमें 74 सामान्य, छह अनुसूचित जाति और 13 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित सीटें हैं।
चुनाव में शामिल होने वाले दलों की कुल संख्या 61 है।

राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा सभी 93 सीटों पर आठ महिला और 85 पुरुष, मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने आठ महिलाओं सहित कुल 90 सीटों पर, आम आदमी पार्टी (आप) ने एक महिला सहित सभी 93सीटों पर, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने चार महिलाओं सहित 44 सीटों पर, गरवी गुजरात पार्टी ने तीन महिलाएं और 22 पुरुष 25 सीटों पर, भारतीय ट्राइबल पार्टी ने 12 पुरुष और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन ने दो महिलाओं सहित सात सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि 285 निर्दलीय प्रत्याशियों में 21 महिलाएं और 264 पुरुष शामिल हैं।

इस चुनाव के लिए राज्य के उत्तरी और मध्य क्षेत्रों के 14 जिलों के बनासकांठा की (09), पाटन (04), मेहसाणा (07), साबरकांठा (04), अरवल्ली (03), गांधीनगर (05), अहमदाबाद (21), आणंद (07), खेड़ा (06), महीसागर (03), पंचमहाल (05), दाहोद (06), वड़ोदरा (10) और छोटाउदेपुर की (03) सीटों सहित 14 जिलों में कुल 93 सीटों के लिए दूसरे चरण में 2,51,58,730 मतदाता हैं, जिनमें 1,29,26,501 पुरुष, 22,31,335 महिला और 894 ट्रांसजेंडर मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।
49-बापुनगर में सबसे अधिक 29 उम्मीदवार और सबसे कम तीन उम्मीदवार 28-ईडर में हैं।
सबसे कम मतदाता 49-बापूनगर में 2,07,461 मतदाता और सबसे ज्यादा मतदाता 41-घाटलोडिया में 4,28,542 मतदाता हैं।
क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र 51-दरियापुर (06 वर्ग किमी) और सबसे बड़ा क्षेत्र 16-राधनपुर (2,544 वर्ग किमी)।
वेबकास्टिंग 13,319 मतदान केंद्रों पर की जाएगी।
इस चरण में 505 पुरुष और 155 महिला समेत 660 एनआरआई मतदाता भी अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।
राज्य की 93 विधानसभा सीटों के लिए दूसरे चरण में 2904 शहरी मतदान स्थलों पर 8533 मतदान केन्द्र हैं, जबकि 12,071 ग्रामीण मतदान स्थलों पर 17,876 मतदान केन्द्र हैं।
विशिष्ट मतदान केंद्रों में 93 मॉडल मतदान केंद्र, 93 दिव्यांग संचालित, 93 इको फ्रेंडली, 651 सखी, 14 युवा संचालित मतदान केंद्र हैं।

दूसरे चरण में 17,607 पुरुष और 664 महिला मतदाता समेत 18,271 सेवा मतदाता, 99 वर्ष से अधिक आयु के 5,412 और 18 से 19 वर्ष की आयु के 5,96,328 मतदाता होंगे।
दूसरे चरण में सोमवार पांच दिसंबर को 14 जिलों में मतदान होना है जिनमें छह उत्तर गुजरात के बनासकांठा, पाटन, साबरकांठा, महेसाणा, अरावल्ली, गांधीनगर हैं और मध्य गुजरात के अहमदाबाद,खेड़ा, आणंद, वडोदरा, दाहोद, पंचमहाल, महिसागर तथा छोटा उदेपुर हैं।

द्वितीय चरण में राज्य के 14 जिलों में पांच दिसंबर को मतदान के लिए सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा अवकाश घोषित किया गया है।
इसके अलावा श्रम आयुक्त कार्यालय ने किसी भी व्यवसाय, औद्योगिक इकाई या किसी अन्य प्रतिष्ठान में कार्यरत कर्मचारियों और दैनिक कर्मचारियों को मतदान के दिन सवैतनिक अवकाश देने की घोषणा की है।
पहले चरण में दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र के 19 जिलों जिनमें दक्षिण गुजरात के वलसाड, नवसारी, सूरत, तापी, नर्मदा, भरूच, डांग हैं और सौराष्ट्र के सुरेन्द्रनगर, राजकोट, मोरबी, जामनगर, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, गिर सोमनाथ, जूनागढ़, अमरेली, भावनगर, बोटाद तथा कच्छ में एक दिसंबर को मतदान हुआ था।

श्रीमती भारती ने ‘यूनीवार्ता’ को बताया कि दूसरे चरण के लिए अधिसूचना 10 नवंबर को जारी होने के साथ ही नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गयी थी।
दूसरे चरण के लिए 10 से 17 नवंबर तक नामांकन दाखिल किये गए।
नामांकन के अंतिम दिन 17 नवंबर तक कुल 1515 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र भरे थे।
इनकी 18 नवंबर को जांच की गयी।
नामांकन पत्रों की जांच के दौरान 403 पर्चे रद्द किए गए और 1112 नामांकन पत्र वैध मिले।
नाम वापसी की अंतिम तारीख तक विभिन्न दलों के डमी उम्मीदवारों समेत 279 ने नामांकन वापस ले लिये और अब कुल 833 प्रत्याशी मैदान में रह गए हैं।
मध्य गुजरात एवं उत्तर गुजरात की कुल 93 सीटों पर पांच दिसंबर को मतदान होगा।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय ने अनुसार पहले चरण के लिए पोस्टल बैलेट वोटिंग की गणना और संकलन का काम जारी है।
शुरुआती औसत अनुमानित मतदाता टर्नआउट रुझान 60.23 प्रतिशत से अधिक था जो 63.31 प्रतिशत पर पहुंच गया है, इसमें पोस्टल बैलेट वोटिंग (डाक मतपत्र से मतदान) के आंकड़े शामिल नहीं हैं।
सबसे अधिक नर्मदा जिले में 78.42 प्रतिशत, तापी जिले में 77.04 प्रतिशत, डांग में 67.33, गिर सोमनाथ में 65.94 प्रतिशत, अमरेली में 57.60, कच्छ 59.85, जामनगर 60.01, जूनागढ़ 59.54, देवभूमि द्वारका 61.71, नवसारी 71.06,पोरबंदर 59.50, भरूच 67.19, भावनगर में 60.83, मोरबी 69.95, राजकोट 60.63, वलसाड़ 69.40, सूरत 62.23, सुरेन्द्रनगर 62.84 और सबसे कम बोटाद 57.59 प्रतिशत मतदान हुआ है।
पोस्टल बैलेट वोटिंग (डाक मतपत्र से मतदान) के आंकड़े शामिल नहीं हैं।
इससे मतदान प्रतिशत बढ़ने की संभावना है।

उन्होंने बताया कि कड़ी सुरक्षा के बीच पहले चरण का मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा और कहीं से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली थी।
पिछले चुनाव में वर्ष 2017 में इन्ही क्षेत्रों में 89 सीटों पर हुए पहले चरण के मतदान में 66.79 प्रतिशत वोटिंग हुई थी।
इस बार पिछली बार से करीब तीन प्रतिशत कम मतदान हुआ है।
राज्य के 33 जिलों की कुल 182 विधानसभा सीटों के लिये दो चरणों में मतदान होना है।
राज्य के 89 सीटों पर पहले चरण में एक दिसंबर को 63.31 प्रतिशत हो गया और शेष 93 सीटों पर पांच दिसंबर को दूसरे चरण में मतदान होगा।
पहले चरण के लिए 70 महिलाओं सहित 788 और दूसरे चरण के लिए 69 महिलाओं 833 सहित कुल 1621 प्रत्याशी मैदान में रह गये हैं।
दोनों चरणों के मतदान की गणना एक साथ आठ दिसंबर को और मतदान की प्रक्रिया 10 दिसंबर को पूरी कर ली जाएगी।
हिमाचल प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना भी आठ दिसंबर को ही होनी है।


नव भारत न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सरपंच पत्नियों संग पतियों की भोपाल जाने की जिद करवा देंगी अतिरिक्त खर्च!

Mon Dec 5 , 2022
जिले में 527 संरपच, इनमें से आधी महिलाएं, जिला पंचायत को केवल सरपंच को लाने प्रदान की जाएगी राशि जबलपुर: मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार ने मिशन 2023 की तैयारियों को तेज कर दिया है। यही वजह है कि पार्टी लगातार बैठकें और सम्मेलन आयोजित कर रही है। इसी कड़ी में […]

You May Like