दीपोत्सव मेला, गोहर महल में आज से


भोपाल-दीपावली त्यौहार पर मिट्टी,  हाथकरघा एवं हस्तशिल्प के कारीगरों को रोजगार मुहैया कराने के लिए कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग द्वारा गोहर महल में दीपोत्सव मेला 17 से 23 अक्टूबर तक आयोजित किया गया है। मेले का शुभारंभ प्रसिद्ध संतूर वादक सुश्री स्मृति अधिकारी ने किया।

आयुक्त हाथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास निगम श्रीमती अनुभा श्रीवास्तव ने बताया कि तीज-त्यौहार के उत्सव पर संबंधित शिल्पकारों को भरपूर रोजगार मिले, इस उद्देश्य से मेला लगाया गया है। इसमें शहरवासियों को दीपावली पर घरों को सजाने और स्वयं के सजने से संबंधित हाथकरघा और हस्तशिल्प के विभिन्न उत्पाद उपलब्ध रहेंगे। उन्होंने बताया कि  राज्य सरकार द्वारा त्यौहारों पर मिट्टी, बांस, हाथकरघा एवं हस्तशिल्प के कलाकार और कारीगरों को पर्याप्त रोजगार देने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। साथ ही लोकल फार वोकल को बढ़ावा दिया जा रहा है। मेला में विभिन्न उत्पादों के 55 स्टॉल लगाए गए हैं, जिसमें डिंडोरी धामना का टेराकोटा का दीया मुख्य उत्पाद होगा। साथ ही  बैतूल का बेल मेटल, मालवा की छपाई, भैरोगढ़ उज्जैन का बाटिक प्रिंट, खराद शिल्प बुधनी, महेश्वर, अशोक नगर और चंदेरी की साड़ियां, टीकमगढ़ का प्रसिद्ध ब्रास सहित लक्ष्मी, गणेश एवं अन्य पूजा संबंधित सामग्री के स्टॉल शामिल है।

आयुक्त श्रीमती श्रीवास्तव ने बताया कि मेला में मिट्टी के बर्तनों के साथ ही बांस के सामान सहित हाथकरघा और हस्तशिल्प के विभिन्न उत्पाद उपलब्ध हैं। मध्यप्रदेश का हर तरह का क्राफ्ट गोहर महल में उपलब्ध है। दीपोत्सव मेला को भव्य रूप देने के लिए प्रवेश द्वार पर एक गेट बनाया जा रहा है। इसकी सजावट में टेराकोटा और मढ़ना का उपयोग किया जा रहा है। गेरू और चूने से कलाकारों द्वारा दीपोत्सव की सजावट की जा रही है। दीपोत्सव मेले में मध्यप्रदेश के खजुराहो धामन एवं माटीकला बोर्ड के मिट्टी शिल्पकार, कुम्हार अपने हाथों से बनाए कलात्मक उत्पाद लेकर शामिल होंगे। नारियल एवं गुजरी के आकार में बने दीए आकर्षण का केंद्र होंगे। 


नव भारत न्यूज

Next Post

मध्यप्रदेश में गैर पारम्परिक सौर ऊर्जा स्रोतों के उपयोग को बढ़ावा

Tue Oct 18 , 2022
मुख्यमंत्री श्री चौहान को निवेशकों ने निवेश प्रस्तावों की दी जानकारी   भोपाल – मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए इच्छुक निवेशकों को सदैव पूरा सहयोग दिया गया है। यही नीति भविष्य में भी जारी रहेगी। प्रदेश में निवेश प्रोत्साहन से कारोबार बढ़ेगा। […]