टाटा पावर करेगी राजस्थान में हरित ऊर्जा उत्पादन को दोगुना


जयपुर, 07 अक्टूबर (वार्ता) टाटा पावर ने शुक्रवार को कहा कि अगले पांच वर्षों में कंपनी की राजस्थान में 8,000 मेगावाट बिजली सुविधाओं संबंधी परियोजनाओं, 1,000 मेगावाट की सौर रूफटॉप और 1,50,000 सौर पंपों को विकसित करने की योजना है।
राजस्थान में निवेश सम्मेलन में भाग लेते हुए टाटा पावर के सीईओ एवं एमडी प्रवीर सिन्हा ने कहा कि आगामी पांच वर्षों में कंपनी के पास राज्य में 10,000 मेगावाट नवीकरणीय ऊर्जा पोर्टफोलियो होने की योजना है।
श्री सिन्हा ने कहा कि कंपनी ने राज्य में 5,000 मेगावाट की कुल बिजली उत्पादन क्षमता लगाने के लिए निवेश किया था जिसमें से 2,000 मेगावाट पहले से ही चालू है और शेष 3,000 मेगावाट विभिन्न चरणों में है जो आगामी 12-24 महीनों में पूरा हो जाएगी।उन्होंने कहा, “आगामी पांच वर्षों में हमारी योजना क्षमता को 10,000 मेगावाट करने की है। ”
उन्होंने कहा कि टाटा पावर, राजस्थान को भविष्य के लिए तैयार करते हुए इसकी पूरी क्षमता को साकार करने और देश के हरित ऊर्जा का एक केंद्र (ग्रीन पावर हाउस) के रूप में उभरने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
श्री सिन्हा ने कहा, “ हम राज्य के किसानों, उद्योगों और आम नागरिकों के लाभ के लिए अपने तीनों कारोबार ईपीसी, सौर पंप और सौर रूफटॉप का निर्माण जारी रखेंगे। ”
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज राजस्थान में निवेश को लेकर आयोजित दो-दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया।


नव भारत न्यूज

Next Post

साबरमती आश्रम से खड़गे ने की चुनाव प्रचार की शुरुआत

Sat Oct 8 , 2022
नयी दिल्ली,  (वार्ता) कांग्रेस अध्यक्ष पद के उम्मीदवार मल्लिकार्जुन खड़गे ने गुजरात के अहमदाबाद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रसिद्ध साबरमती आश्रम में बापू को नमन करते हुए शुक्रवार को अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत की। श्री खड़गे कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन वापस लेने की आखिरी […]