प्रणव ने भाजपाईयों के मंशा पर फेरा पानी


प्रणव ने चंद घण्टे बाद ही अफवाहों पर किया खंडन

सिंगरौली :जनपद अध्यक्ष चुनाव जीतने के बाद प्रणव पाठक बीजेपी नेताओं के साथ भाजपा कार्यालय बैढऩ ढोटी रोड विन्ध्यनगर पहुंचे। जहां प्रणव पाठक का भाजपा नेताओं ने गर्मजोशी से स्वागत करते हुए ऐलान किया कि प्रणव अब भाजपा के हो गये। किन्तु कुछ घण्टे बाद ही प्रणव पाठक ने भाजपाईयों को ऐसा झटका दिया कि सब सुनकर सन्न रह गये। प्रणव के इस निर्णय से कई मायने निकाले जा रहे हैं।
दरअसल कल बुधवार को जनपद पंचायत देवसर में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का चुनाव हुआ और इस चुनाव में कांग्रेस समर्थित प्रणव पाठक ने बीजेपी मण्डल अध्यक्ष धु्रवेन्द्रनाथ चतुर्वेदी को 1 मत से पराजित कर अध्यक्ष चुन लिये गये। चर्चा है की प्रणव को अध्यक्ष बनाने में भाजपा का एक धड़ा काम कर रहा था जिसमें पूर्व विधायक विश्वामित्र पाठक व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अजय पाठक शामिल थे।

प्रणव को जीत हासिल होने के बाद उन्हें रात करीब 8 बजे भाजपा कार्यालय बैढऩ लाया गया। उनके साथ में पूर्व विधायक विश्वामित्र पाठक भी थे। प्रणव पाठक के भाजपा कार्यालय में पहुंचते ही प्रदेश से नियुक्त पर्यवेक्षक अभिलाष पाण्डेय, सिंगरौली विधायक रामलल्लू बैस, जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र गोयल, रामनिवास शाह व अन्य भाजपाईयों ने गर्मजोशी से स्वागत करते हुए उन्हें फूल माला व बीजेपी का गमछा पहनाया गया। कुछ देर बाद बीजेपी कार्यालय से प्रेस विज्ञप्ति जारी हुई की प्रणव पाठक अब बीजेपी में शामिल हो गये और यह खबर सोशल मीडिया में भी वायरल होने लगी। कांग्रेसी भी सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर भाजपाईयों के साथ-साथ प्रणव को कोसने लगे। बुधवार-गुरूवार की रात करीब 12 बजे प्रणव पाठक ने फेसबुक पर एक पोस्ट किया जिसमें उन्होंने पूरी हकीकत बया कर दिया। प्रणव ने बीजेपी में शामिल होने की बातों का खण्डन कर बीजेपी नेताओं को चौका दिया है।

बीजेपी नेताओं ने मेरा सहयोग किया है: प्रणव
जनपद पंचायत देवसर के नवनिर्वाचित जनपद अध्यक्ष प्रणव पाठक ने बुधवार की रात करीब 12 बजे फेसबुक पर एक पोस्ट किया है। उन्होंने लिखा है की जनपद पंचायत अध्यक्ष के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेताओं एवं जनपद सदस्यों का सहयोग मिला। उसी सिलसिले में सौहार्द्र भेंट मुलाकात हुई है। जिसको राजनैतिक रंग दिया जा रहा है। मैं न तो कांग्रेस पार्टी छोड़ा हूॅ और न ही भाजपा की सदस्यता लिया हूॅ। प्रणव पाठक के इस पोस्ट के बाद जहां कांग्रेसियों ने राहत की सांस लिया है वहीं मुख्यमंत्री के ट्वीट को लेकर कांग्रेसी तरह-तरह के सवाल खड़े कर रहे हैं।


नव भारत न्यूज

Next Post

जिले की चार जनपदों में चुने गए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का निर्वाचन

Fri Jul 29 , 2022
मैहर में नारायण के पुत्र निर्विरोध उपाध्यक्ष चुने गए सतना:जिले की प्रतिष्ठापूर्ण चार जनपदों में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का निर्वाचन काफी उलटपुलट भरा रहा.अध्यक्ष के लिए सभी की निगाहें अमरपाटन और रामपुर बाघेलान में टिकी हुई थी.रामपुर में विधायक जहां पूरी ताकत से लगे हुए थे ,वही अमरपाटन में वर्तमान […]