पीएम आवास पात्र,अपात्र के लिए बनायी गयी है जिला स्तरीय अपील समिति


ग्राम स्तरीय पांच सदस्यीय सत्यापन समिति का हुआ है गठन, एक सप्ताह की समय सीमा तय

सिंगरौली :  प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्र अपात्र हितग्राहियों के परीक्षण का कार्य 13 बिंदुुओं के आधार पर किया जा रहा है। इसके लिए समयसीमा भी निर्धारित है। इस दौरान ऐसे आवेदकों की पात्रता व अपात्रता के निराकरण के लिए जिला अपील समिति बनायी गयी है। जहां एक सप्ताह के अंदर अपना पक्ष रख सकते हैं।जिला पंचायत सिंगरौली के मुख्य कार्यपालन अधिकारी साकेत मालवीय आईएएस ने तत्संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत आवास प्लस के माध्यम से शामिल किये गये 38843 हितग्राहियों के ग्राम पंचायत स्तरीय 5 सदस्यीय सत्यापन समिति जिसमें ग्राम पंचायत सचिव, रोजगार सहायक, पटवारी, उपयंत्री और पंचायत समन्वयक अधिकारी के संयुक्त दल से पात्रता, अपात्रता का सत्यापन कराया गया।

जिसका अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत द्वारा शासन के 13 बिंदुओं के आधार पर परीक्षण उपरांत अनुसंशित किये गये हैं। उन्होंने आगे बताया कि ऐसे आवेदकों की पात्रता, अपात्रता के निराकरण के लिए जिला अपील समिति के समक्ष एक सप्ताह की समयसीमा निर्धारित की गयी है। इसके तहत जनपद पंचायत चितरंगी से 19590 हितग्राहियों, जनपद पंचायत देवसर से 9293 हितग्राहियों एवं जनपद पंचायत बैढऩ से 9960 हितग्राहियों का आवास प्लस पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण किया जाकर सत्यापन उपरांत सूचियां जनपद पंचायतों से जिला पंचायत को प्राप्त हुई हैं।

इस संबंध में संबंधित आवेदक जिनके नाम आवास योजना के मापदण्ड अनुरूप पात्रता सूची से बाहर किये गये हैं और उन्हें इस संबंध में कोई भी दावे आपत्ति प्रस्तुत करना है तो वह आज जारी प्रेस विज्ञप्ति दिनांक से 1 सप्ताह के भीतर अपना आवेदन निर्धारित प्रारूप में प्रमाण सहित जिला अपीलीय समिति जिला पंचायत सिंगरौली के समक्ष प्रस्तुत कर सकते हैं। निर्धारित समय अवधि व्यतीत हो जाने के बाद इस प्रकार के प्रकरणों में कोई आवेदन स्वीकार नहीं किया जा सकेगा।


नव भारत न्यूज

Next Post

अवैध रेत का उत्खनन हुआ तो निलंबन की कार्रवाई तय

Tue Apr 19 , 2022
एसपी ने मासिक अपराधों का किया समीक्षा सिंगरौली :  जिले में कहीं भी रेत का अवैध उत्खनन, परिवहन की शिकायत मिली तो संबंधित थाना व चौकी इंचार्ज का निलंबन तय है। फिर किसी भी हालत में बच पाना मुश्किल है। उक्त बातें पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र कुमार सिंह ने आज सोमवार […]