सरकारी पैसे का ऐसा दुरुपयोग!


ऑनलाइन भी खरीदते तो 9 हजार में मिल जाता 15 हजार वाला लैपटॉप
कलेक्टर तक पहुंची शिकायत, जांच हुई तो सकता है बड़ा खुलासा
गुना। स्कूलों में टेबलेट खरीदी के दौरान सरकारी राशि के दुरुपयोग का मामला सामने आया है। मामले की शिकायत गुना कलेक्टर तक पहुंची है। शिकायतकर्ता ने दावा किया है कि अगर जांच हुई तो सामने आ जाएगा कि कैसे 9 हजार रुपए का टेबलेट 15 हजार रुपए तक खरीदा गया। जबकि खरीदी ऑनलाइन भी होती तो टेबल इतना महंगा नहीं पड़ता। शिकायतकर्ता ने कलेक्टर से जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शिक्षा विभाग स्कूलों में पढ़ाई के लिए वी-7 टेबलेट खरीदने के निर्देश शिक्षकों को दिए हैं। शिक्षकों ने भी टेबलेट की खरीदी जोर-शोर से की। एक विशेष ब्रांड का टेबलेट खरीदा गया। जिसकी ऑनलाइन कीमत 8 हजार 999 रुपए दिखाई दे रही है। लेकिन दावा किया है कि शिक्षकों को एक ही दुकान से टेबलेट खरीदने के लिए मजबूर किया गया और 14 से 15 हजार रुपए का भुगतान किया गया। आरोप है कि विभाग में पदस्थ एक बाबू ने शाला प्रमुखों से पूर्व में ही चैक बनवा लिए और एक विशेष दुकान से खरीदी हो गई। हालांकि गड़बड़ी पकड़ में न आए इसके लिए कोटेशन तीन अलग-अलग लगाए गए। लेकिन टेबलेट की कीमत इतनी कम है कि थोड़ी ही पड़ताल में गड़बड़झाला सामने आ जाएगा। क्योंकि प्रत्येक इलेक्ट्रॉनिक वस्तु ऑनलाइन उपलब्ध है और जो टेबलेट खरीदा गया है उसकी कीमत बेहद कम है। शिकायतकर्ता ने कलेक्टर के साथ ही मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री व शिक्षा विभाग के सचिव से भी विस्तृत जांच करते हुए वित्तीय अनियमितता के मामले में कार्रवाई करने की मांग की है।


नव भारत न्यूज

Next Post

गांव की बदलेगी सूरत, हर घर पहुँचेगा जल, पानी की एक-एक बूँद को सहेजें: सीएम

Sat Feb 5 , 2022
जिले के विपिन ने मुख्यमंत्री से किया वर्चुअल संवाद जबलपुर: केन्द्र और राज्य सरकार गाँव की सूरत बदलने का काम कर रही हैं।गाँव में पेयजल की सहज उपलब्धता के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नेजल जीवन मिशन की सौगात दी है, जो विशेषकर ग्रामीण महिलाओं के लिये वरदानसाबित हो रही है। […]