निलंबित लिपिक के विरूद्ध महिला आंतरिक परिवार समिति ने शुरू की जांच


सिंगरौली : वन मंडल अधिकारी कार्यालय में बीते 9 फरवरी को कर्मचारी शिवराज सिंह के द्वारा महिला कर्मचारी के साथ बदसूलकी के मामले को लेकर आज सोमवार को महिला आंतरिक परिवार समिति की अध्यक्ष जया त्रिपाठी ने प्रेस वार्ता आयोजित कर पत्रकारों को बताया कि कर्मचारी दोषी हैं। उनको निलंबित कर दिया गया है । इस मामले में वीडियो साक्ष्य है, मामला साफ है कि महिला के साथ शिवराज सिंह ने बदसुलकी की है अवश्य कार्रवाई की जाएगी।इधर ज्ञातब्य हो कि वन विभाग कार्यालय सिंगरौली में शराब पीकर महिला के साथ अभद्रता का वीडियो वायरल होने के बाद अब वन मंडलाधिकारी ने शराबी कर्मचारी शिवराज सिंह को निलंबित कर जांच शुरू कर दी है।

महिला आंतरिक परिवाद समिति की अध्यक्ष जया त्रिपाठी ने प्रेस वार्ता कर बताया कि 9 तारीख को सरकारी दफ्तर में कर्मचारी शिवराज सिंह महिला ऑपरेटर के साथ न केवल अभद्रता की बल्कि खुद की गर्दन कटवाने के लिए उसकी टेबल पर कुल्हाड़ी रख दी। जिसका वीडियो भी सामने आया है। साथी महिला ने शिकायत की थी। जिसके आधार पर महिला आंतरिक परिवार समिति ने एक टीम गठित कर कर्मचारी शिवराज सिंह की जांच शुरू कर दी है। वीडियो वायरल होने के बाद शिवराज सिंह को तत्काल निलंबित कर दिया गया है और अब जांच की जा रही है।

जिस तरीके से कार्यालय के अंदर अपने दफ्तर में बैठकर शिवराज सिंह के द्वारा शराब पीने के बाद कुल्हाड़ी निकालकर टेबल पर रखकर खुद काटने की बात कह रहे हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि कार्यालय के अंदर कहीं ना कहीं उनकी दबंगई बनी हुई है। जहां आज वन विभाग की एसडीओ व महिला आंतरिक परिवार समिति की अध्यक्ष जया त्रिपाठी ने भी माना कि शिवराज सिंह ने गलत किया है। इसकी सजा उन्हें अवश्य मिलेगी। इस पूरे मामले को लेकर महिला कर्मचारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं थी हां इतना जरूर है कि अध्यक्ष ने बताया कि 9 फ रवरी को यह घटना घटित हुई है और उसी दिन पुलिस अधीक्षक कार्यालय में महिला कर्मचारियों ने जाकर शिकायत की और वही काफ ी डीएफओ को भी दी थी। उसी के आधार पर कर्मचारी शिवराज सिंह के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

शराब की बोतल में दवा थी

इस मामले को लेकर पीडि़त महिला मीडिया के सामने नहीं आई, लेकिन आरोपित शराबी कर्मचारी शिवराज सिंह मीडिया के सामने आकर बताया कि उसकी तबीयत पिछले कुछ दिनों से खराब थी। लिहाजा वह दवाई लेकर ऑफिस आया करता था। लेकिन पिछले दिनों दवाई की सीसी का ढक्कन स्लिप हो गया। जहां पास में पड़ी एक शराब की बोतल दिखाई दी तो उन्होंने अपनी दवाई उस शराब की बोतल पर डाल दिया और वही वाटल लेकर दफ्तर चले गए। जहां वह कप में डालकर दवाई पी रहे थे ।


नव भारत न्यूज

Next Post

कंटीले तारों से रोकने की बजाय किसानों से बात करें मोदी : कांग्रेस

Tue Feb 13 , 2024
नयी दिल्ली, 13 फरवरी (वार्ता) कांग्रेस ने कहा है कि अपनी मांगों को लेकर दिल्ली कूच कर रहे किसानों को सड़क पर किलेबंदी कर और कंटीले तार लगाकर रोकने की बजाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को किसानों से मिलकर उनकी बात सुननी चाहिए। कांग्रेस ने कहा कि दिल्ली आ रहे किसानों […]