खंडवा में टसल:दोनों प्रत्याशियों में जीत की जिद


खंडवा: जिले की चार विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ चुके प्रत्याशियों में विधानसभा पहुंचने की बेचैनी साफ दिख रही है। मुख्य रूप से 8 प्रत्याशियों को साफ लग रहा है,कि वे ही विधानसभा में अपने क्षेत्रों का नेतृत्व करेंगे। आम लोगों की नब्ज किसी पारखी वैद्य की तरह पकडक़र अपनी बेचैनी नापने की कोशिश कर रहे हैं। आम लोग भी असलियत नहीं भांप पा रहे हैं। हालांकि इतना जरूर है कि इनमें से केवल चार ही नेतृत्वकर्ता साबित होंगे।खंडवा सीट सबसे हाट तरीकों से चर्चाओं में हैं। यहाँ टक्कर भाजपा व कांग्रेस में ही है। भाजपा क ी कंचन तनवे हार-जीत के बारे में चुप हैं। चाणक्य कहे जाने वाले उनके पति मुकेश तनवे को पूरा भरोसा है कि वे ही चुनाव जीत रहे हैं।

शिवराज सरकार के कामों, लाडला बहना योजना व छोटे-बड़े कार्यकर्ताओं और खुद की व्यवहारकुशलता के साथ संघ की मेहनत को श्रेय दे रहे हैं। उनका कहना है कि जनता ने कंचन तनवे और कमल देखकर वोटिंग की है।खंडवा सीट पर ही कांग्रेस से चुनाव लड़े कांग्रेस प्रत्याशी कुंदन मालवीय चुनाव जीतने के प्रति पूरी तरह आश्वस्त हैं। उनका कहना है कि मध्यप्रदेश में भी इस बार कांग्रेस की सरकार बन रही है। लोगों का विश्वास भाजपा की शिवराज सरकार से उठ चुका है। किसानों का कर्जा माफ, 5 सौ में गैस की टंकी,किसानों को बिजली मुफ्त वाले फैक्टर मध्यप्रदेश के किसानों को बड़ी राहत देगा। कार्यकर्ताओं और लोगों का मुझ पर विश्वास ही जीत के बिंदु तय करेंगे।

कितने वोटों से जीतूंगा,यह जनता ही बता सकती है। भाजपा में पड़ी बड़ी दरार के कारण भी उनकी जीत मतदान से पहले लोग सुनिश्चित कर रहे थे। 18 साल में लोग शिवराज का चेहरा बदलकर कमलनाथ जैसे डायनामिक पर्सन को एमपी के सीएम पद पर देखना चाहते हैं। शहर में नगर निगम की कार्यप्रणाली ही भाजपा के वोट काट चुकी है।कुल मिलाकर कुंदन मालवीय के समर्थकों का यहाँ तक मानना है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो कुंदन का राज्यमंत्री बनना भी तय है। बहरहाल स्थिति 3 दिसंबर को दोपहर 12 बजे तक साफ हो पाएगी,कि कौन जीतेगा?


नव भारत न्यूज

Next Post

विधानसभा क्षेत्र 2 में बढ़त कायम रख पाएंगे मेंदोला!

Wed Nov 29 , 2023
सियासत विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 2 को कांग्रेस क्षेत्र क्रमांक 4 की तरह ही भाजपा का किला मानती है. भाजपा यहां से लगातार 1993 से जीत रही है, 2013 में रमेश मेंदोला ने 91000 मतों से जीत प्राप्त कर एक नया कीर्तिमान बनाया था. पिछली बार जब प्रदेश में कांग्रेस की […]