गोदरेज एंड बॉयस ने की हरित उत्‍पादों से 50 प्रतिशत राजस्‍व हासिल करने के लक्ष्‍यों की घोषणा


मुंबई, (वार्ता) गोदरेज समूह की प्रमुख कंपनी गोदरेज एंड बॉयस ने मंगलवार को कहा कि कंपनी ने अगले एक दशक में अपने कुल राजस्‍व का 50 प्रतिशत हिस्‍सा अच्‍छे और हरित उत्‍पाद पोर्टफोलियो से हासिल करने का महत्‍वाकांक्षी लक्ष्‍य निर्धारित किया है।

कंपनी ने 2032 के लिये अपने परिवर्तनकारी टिकाऊ लक्ष्‍यों की भी घोषणा की है।कंपनी ने कहा कि उसका लक्ष्‍य सभी भारतीयों के लिये जिम्‍मेदार विकल्‍पों को अपनाना है।

गोदरेज एंड बॉयस के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक जमशेद एन गोदरेज ने कहा, “हमारा लक्ष्‍य केवल विकास करना नहीं है, बल्कि सभी स्‍तरों पर सार्थक सहयोग के माध्‍यम से तथा तालमेल से स्‍थायी प्रगति हासिल करना है।

पिछले एक दशक में, हमने अपनी सतत यात्रा में कुछ महत्‍वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं और आने वाले दशक के लिये और उपलब्धियां हासिल करने का प्रण लिया है।

एक संपूर्ण हरित आपूर्ति श्रृंखला की दिशा में आगे बढ़ते हुये, रोजगार बढ़ाने के लिये अपने कौशल कार्यक्रमों को बेहतर बनाने से लेकर अपने राजस्‍व का कम से कम 50 प्रतिशत हिस्‍सा अच्‍छे और हरित उत्‍पादों से प्राप्‍त करने तक, हम अपने टिकाऊ लक्ष्‍यों को आगे बढ़ा रहे हैं, जो जलवायु संरक्षण और सामाजिक विकास के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं।

उन्होंने कहा कि गोदरेज एंड बॉयस ने कठोर पर्यावरण और सामाजिक मानदंडों पर जोर देते हुये अच्‍छे और हरित उत्‍पादों के लिये अपने मानदंड को और भी मजबूत किया है।

हरित उत्‍पाद संसाधन दक्षता, कम कार्बन उत्‍सर्जन, रिसाइ‍कलिंग और जहरीले पदार्थों से सुरक्षा के साथ टिकाऊ सामग्री के उपयोग का समर्थन करते कंपनी अपने अच्‍छे और हरित आचरण अपनाने का एक दशक पूरा होने का जश्‍न मना रही है।

इस दशक की महत्‍वपूर्ण उपलब्धियों में कुल राजस्‍व में अच्‍छे और हरित उत्‍पादों की हिस्‍सेदारी एक तिहाई होना, 600 से अधिक हरित इमारतों का निर्माण, ऊर्जा उत्‍पादकता को दोगुना करना और 180,000 से अधिक युवाओं को व्‍यावसायिक कौशल प्रशिक्षण प्रदान करना शामिल है।

अगले दशक के लिए स्थिरता लक्ष्‍य संभावनाओं को पुन: परिभाषित करने के लिये निर्धारित किये गये हैं, जिसमें अच्‍छे और हरित उत्‍पादों के माध्‍यम से 50 प्रतिशत राजस्‍व अर्जित करना, ऊर्जा उत्‍पादकता में 60 प्रतिशत की वृद्धि, कार्बन उत्‍सर्जन में 60 प्रतिशत की कमी, 40 प्रतिशत अक्षय ऊर्जा का इस्‍तेमाल, शत-प्रतिशत नेट-जीरो इमारतें, और हरित आपूर्तिकर्ताओं से 80 प्रतिशत घरेलू खरीद शामिल है।


नव भारत न्यूज

Next Post

अदाणी समूह ने अहमदाबाद में ग्रीन हाइड्रोजन ब्लेंडिंग परियोजना की घोषणा की

Wed Nov 29 , 2023
अहमदाबाद, (वार्ता) अदाणी समूह की अग्रणी ऊर्जा और इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी, अदाणी टोटल गैस लिमिटेड (एटीजीएल) ने मंगलवार को अहमदाबाद में ‘ग्रीन हाइड्रोजन ब्लेंडिंग पायलट प्रोजेक्ट’ शुरु करने की घोषणा की जिसमें से प्राकृतिक गैस में ग्रीन हाइड्रोजन मिला ईंधन प्रस्तुत किया जाएगा। कंपनी को उम्मीद है कि यह परियोजना वर्ष […]