उत्तराखंड में श्रमवीरों के सकुशल बाहर आने पर कुमाऊं में खुशी की लहर


नैनीताल, 28 नवंबर (वार्ता) उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में उत्तरकाशी के सिलक्यारा टनल में फंसे 41 श्रमवीरों के बाहर निकलने से खुशी की लहर व्याप्त है और लोगों ने आतिशबाजी के साथ ही मिष्ठान वितरण कर खुशी व्यक्त की और एक दूसरे को बधाई दी।

उत्तरकाशी के सिलक्यारा टनल में पिछले 17 दिनों से 41 मजदूर फंसे हुए थे। कुमाऊं की जनता और तमाम संगठन इन श्रमीवीरों के बाहर निकलने के लिये लगातार दुआ कर रही थी। सभी लोगों की इस अभियान पर निगाहें लगी हुई थी।

आज जब इस अभियान अंतिम चरण में पहुंचा और लोगों को संचार माध्यमों से पहले श्रमवीर के बाहर निकलने की सूचना मिली तो पूरे कुमाऊं मंडल में खुशी की लहर दौड़ गयी और लोगों ने अपनी खुशी व्यक्त की।

लोगों ने इस अवसर पर जबरदस्त आतिशबाजी की, साथ ही भारत मां की जय के नारे लगाये। आतिशबाजी से लगा जैसे दीपावली एक बार फिर लौट आयी है। नैनीताल मंडल मुख्यालय में देर तक आतिशबाजी हुई, एक दूसरे को मिठाई खिलाई गयी और भारत मां की जय के नारे लगाये गए।

इसी प्रकार हल्द्वानी, अल्मोड़ा, बागेश्वर, चंपावत, पिथौरागढ़ और ऊधमसिंह नगर में भी लोगों ने श्रमवीरों के बाहर आने पर राहत की सांस ली और आतिशबाजी के साथ ही मिष्ठान वितरित किया। लोगों ने इस अभियान में लगे लोगों और सभी एजेंसियों की सराहना की और कुछ लोगों ने नारे लगाये कि मोदी है तो मुमकिन है।

केन्द्रीय पर्यटन एवं रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट ने सभी श्रमवीरों के सकुशल बाहर आने पर बधाई दी और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राज्य सरकार के कुशल निर्देशन में यह अभियान सफल हुआ है।


नव भारत न्यूज

Next Post

जल्द बनेगा सुलक्यारा सुरंग के बाहर भगवान बौखनाग का भव्य मंदिर : धामी

Tue Nov 28 , 2023
सिलक्यारा/देहरादून, 28 नवंबर (वार्ता) उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को कहा कि बाबा बौखनाग और देवभूमि के देवी-देवताओं की कृपा से सुरंग में फंसे लोगों को निकालने का अभियान सफल हुआ है। उन्होंने कहा कि बौखनाग देवता का सिलक्यारा में भव्य मंदिर बनाया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों […]