इंजीनियरिंग निर्यात अक्टूबर में 18 प्रमुख बाजारों में बढ़ा


नयी दिल्ली, (वार्ता) भारत से इंजीनियरिंग वस्तुओं के निर्यात में वैश्विक स्तर पर अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी सहित 25 शीर्ष बाजारों में से 18 बाजारा में अक्टूबर 2023 में वृद्धि दर्ज की गयी।

भारतीय इंजीनियरिंग निर्यात संवर्धन परिषद (ईईपीसी) ने एक विज्ञप्ति में कहा कि चीन, इटली, सिंगापुर और इंडोनेशिया उन देशों में शामिल हैं, जहां इस अवधि के दौरान भारत से इंजीनियरिंग शिपमेंट में गिरावट देखी गई।

विज्ञप्ति के अनुसार अक्टूबर में अमेरिका को इंजीनियरिंग निर्यात का मूल्य 139.15 करोड़ डॉलर था, जो अक्टूबर 2022 में 1,36.1 करोड़ डालर के मुकाबले साल-दर-साल 2.2% अधिक है।

इसी तरह संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को इंजीनियरिंग निर्यात साल-दर-साल 2.9 प्रतिशत बढ़कर 34.86 करोड़ डॉलर हो गया।
इस अवधि में ब्रिटेन को इंजीनियरिंग निर्यात अक्टूबर 2023 में 60.3% की वार्षिक वृद्धि के साथ 30.25 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया।

अक्टूबर में जर्मनी को इंजीनियरिंग निर्यात 20% बढ़ा पर इसी माह चीन को इंजीनियरिंग निर्यात 6.4 प्रतिशत घटकर 21.32 करोड़ , इंडोनेशिया को निर्यात 18.2% गिरकर 12.29 करोड़ डॉलर रहा।

कुल मिलाकर, भारत से इंजीनियरिंग निर्यात अक्टूबर 2022 के 7,55 करोड़ डालर से बढ़कर अक्टूबर 2023 में 8,09.420 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया, जो साल-दर-साल 7.2% की वृद्धि दर्ज करता है।

अप्रैल-अक्टूबर 2023-24 के लिए संचयी इंजीनियरिंग निर्यात में 1.61% की गिरावट आई, और यह 61.63 अरब डॉलर रहा।

ईईपीसी इंडिया के अध्यक्ष अरुण कुमार गरोडिया ने कहा, “इस गिरावट में सबसे बड़ा कारण धातु क्षेत्र में गिरावट , विशेष रूप से लोहा और इस्पात क्षेत्र में गिरावट का रहा ।

इस्पात क्षेत्र में गिरावट 20% और एल्यूमीनियम तथा उसके उत्पादों के निर्यात में गिरावट लगभग 25% की रही।


नव भारत न्यूज

Next Post

बुदनी-बरखेड़ा के मध्य नॉन इंटरलॉकिंग कार्य के चलते कुछ गाड़ियां प्रभावित

Tue Nov 28 , 2023
भोपाल, (वार्ता) भोपाल मण्डल के भोपाल-इटारसी रेल खंड पर बुदनी-बरखेड़ा के मध्य तीसरी लाइन चालू करने के लिए आज से 09 दिसंबर 2023 तक बुदनी, मिडघाट, चौका एवं बरखेड़ा स्टेशनों पर प्री नॉन/नॉन इंटरलॉकिंग का कार्य किया जा रहा है, जिसके कारण इस खंड पर चल रहीं कुछ गाड़ियों को […]