पागल समझते थे तो कर दी पिता और बहन की हत्या


संयोगितागंज पुलिस ने दोहरे हत्या कांड के आरोपी को किया गिरफ्तार
तकनीकी जांच के आधार पर पुलिस पहुंची आरोपी तक

इंदौर: संयोगितागंज में दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपी को संयोगितागंज पुलिस ने पणजी गोवा से गिरफ्तार किया है. आरोपी बेटे ने पिता और बहन की हत्या की थी. पुलिस उन्नत तकनीकी जांच एवं बेहतर पुलिसिंग के आधार पर आरोपी तक पहुंची. आरोपी ने बताया कि मेरे पिता और बहन मुझे पागल समझते थे इसलिए मैंने उनकी हत्या की है.जानकारी के अनुसार थाना संयोगितागंज क्षेत्र में स्थित आईडिया स्कीम नं.98 वासुदेव कुटुम्बकम संवाद नगर में 8 नवंबर को कमलकिशोर पिता शंकरलाल धामंदे (78) और उनकी लडकी रमा पति नवीन अरोरा (53) की आरोपी पुलिन पिता कमलकिशोर ने हत्या कर दी थी.

आरोपी पुलिन घटना दिनांक से फरार चल रहा था. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए डीसीपी जोन 3 पंकज पांडे द्वारा अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त रामसनेही मिश्रा तथा सहायक पुलिस आयुक्त तुषार सिंह को निर्देशित किया गया. संयोगितागंज थाना प्रभारी विजय तिवारी ने प्रकरण की जांच में पाया कि आरोपी द्वारा किसी प्रकार का मोबाईल फोन का उपयोग नहीं किया जा रहा है. केवल अपने पिता मृतक कमलकिशोर के बैंक खाता के चार एटीएम कार्ड को साथ में ले गया है. इसका उपयोग कर आरोपी द्वारा कुछ ट्राजेंक्शन किये गये हैं. इसके आधार पर पुलिस को पता चला कि आरोपी बड़ोदरा में हैं. इस पर पुलिस टीम बडोदरा भेजी गई. वहां पता चला कि आरोपी अब पणजी गोवा में है. इसके बाद टीम को पणजी भेजा गया. वहां पुलिस टीम ने आरोपी की लोकेशन के आसपास के करीबन 50 सीसीटीवी कैमरा के वीडियो फुटेज निकाले.

आरोपी के जाने आने का रुट मैप तैयार कर तलाश की गई. इसमें पता चला कि आरोपी एक होटल में रुका था लेकिन उसमें से वह कुछ दिन बाद चेक आउट कर चला गया है. इसके बाद पुलिस टीम ने पुनः आरोपी के सीसीटीवी कैमरे की विडियो फुटेज के आधार पर रुट मैप तैयार किया. संभावित जगहों पर लॉज, होटल, केसीनो, बार, दुकानों, बस स्टैंड पर लोगों से पूछताछ की गई. ट्रेवल एजेंट, ट्रेवल गाईड, टेक्सी ड्रायवर को आरोपी की पेंपलेट बनाकर दिखाई और वितरित की गई. इसके बाद पता चला कि आरोपी को सुबह-शाम में बस स्टैंड पर आते-जाते दिखा है. इसके बाद पुलिस टीम ने बस स्टैंड पर लगातार निगाह रखी. इसके बाद बस स्टैंड के पास से आरोपी कोपकड़ा गया.
एंजॉय करने गया था गोवा
पूछताछ में आरोपी ने बताया कि मेरे पिता और बहन मुझे पागल समझते थे जिससे मैं जिंदगी को बेहतर तरीके से नहीं जी पा रहा था. इससे परेशान होकर मैंने उनकी हत्या की है. घटना के बाद मैं बडोदरा व गोवा गया ताकि जिंदगी को बेहतर तरीके से एंजाय कर सकूं. पुलिस द्वारा आरोपी पुलिन को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया. आरोपी के विरुद्ध विवेचना के आधार पर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जा रही है. आरोपी की गिरफ्तारी पर 10,000 रुपये की ईनाम घोषित किया गया था.


नव भारत न्यूज

Next Post

मतदान केन्द्रवार डेटा फीड , राउंडवार परिणाम तैयार,

Tue Nov 28 , 2023
एनकोर एप्लीकेशन पर मतगणना के परिणाम दर्ज करने की हुई रिहर्सल ईटीपीबीएस की स्केनिंग का भी किया गया अभ्यास   जबलपुर: विधानसभा चुनाव की मतगणना की चल रही तैयारियों के तहत सोमवार को जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्व विद्यालय परिसर स्थित मतगणना स्थल पर एनकोर काउण्टिंग एप्लीकेशन के परफार्मेंस टेस्ट के […]