कहीं धंसे तो कहीं ऊंचे चैंबर


शहर में सीवर लाइन डालकर भूले

जबलपुर: शहर में सीवर लाइन कार्य कई सालों से चल रहा है। कई क्षेत्रों पर तो बहुत पहले ही सीवर लाइन डाल दी गई थी तो कहीं कहीं पर सडक़ निर्माण के समय सीवर लाइन को डालने का कार्य किया जा रहा है। लेकिन उन्हीं सीवर लाइन के चैंबरों को सही ढंग से बनाया नहीं गया है, जिससे कई जगहों पर चैंबर तो सडक़ों के अंदर धंस गए हैं तो कहीं नई-नई सडक़ों के ऊपर बनाए गए चैंबर की ऊंचाई बढ़ा दी गई है। जिससे आए दिन किसी दुर्घटना होने का भय इन चैंबरों के ऊपर बना रहता है।
शहर को मिलने वाली थी सौगात
शहर में विगत 10 वर्ष पूर्व शहर की सडक़ों पर सिविल लाइन डालने का कार्य शुरू कर दिया गया था। जिसमें लोगों को यह बताया गया था कि सीवर लाइन शुरू हो जाने के बाद से शहर में होने वाले जल प्लावन और नालियों द्वारा मचने वाली गंदगी को कम किया जा सकता है । वहीं इसके बाद सीवर लाइन शुरू हो जाने से लोगों को काफी सुगमता भी होगी। जिससे सडक़ किनारे बड़े नाले और नालियों को पूरी तरह से ढक दिया जाएगा और नई प्रणाली के रूप में शहर विकसित होता नजर आएगा। जिससे हमारा शहर जबलपुर भी स्मार्ट सिटी के रुप में जाना जायेगा।
सफाई के लिए बनाए गए थे चैंबर
शहर में सीवर लाइन डालने के लिए कहीं-कहीं बीच सडक़ पर खुदाई की गई थी,तो कहीं सडक़ के किनारे सीवर लाइन को डाला गया था। जिसकी सफाई करने के लिए जगह-जगह चैंबर भी बनाए गए थे। देखा जाए तो वर्षों पहले जिन जगहों पर सीवर लाइन और चैंबर का कार्य किया गया था, वहां के चैंबरों की स्थिति जर्जर हो चुकी है। वहीं जो नई सडक़ों के ऊपर सीवर लाइन डाली जा रही है, उनके चैंबर सडक़ से कुछ ऊंचाई तक बना दिए गए हैं। जिससे वाहन चलाते समय कभी दुर्घटना होने का भय बना रहता है। जो पुराने चैंबर बने हुए थे वह सडक़ से नीचे तक धंस गए हैं, उन पर भी वाहनों से आवागमन करने पर हादसा होने का अंदेशा लगा रहता है।


नव भारत न्यूज

Next Post

मटर की गाडिय़ां आने लगी मंडी,

Tue Nov 28 , 2023
बढ़ा ट्रैफिक दवाब जबलपुर: मटर का सीजन आने से शहर की कृषि उपज मंडी में हर जगह पर सिर्फ मटर ही मटर दिखाई पड़ रहा है। जिसको लाने वाली गाडिय़ों की कतारें चुंगी नाका से कृषि उपज मंडी के मुख्य गेट तक लगी रहती हैं। इन दिनों कृषि उपज मंडी […]