शाह ने वोटरों से तेलंगाना में भाजपा को मजबूत जनादेश देने का किया आग्रह


हुजूराबाद/पेद्दापल्ली (तेलंगाना) 27 नवंबर (वार्ता) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जनता से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को महत्वपूर्ण जनादेश देने की अपील की और भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव को जोरदार संदेश दिया कि लोग भाजपा के साथ खड़े हैं।

श्री शाह ने हुजूराबाद में एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करते हुये और पेद्दापल्ली में एक रैली में भाग लेते हुये, मतदाताओं से भाजपा उम्मीदवार एटाला राजेंदर के लिए भारी बहुमत से जीताने का आग्रह किया। साथ ही श्री राव को स्पष्ट संदेश देने के महत्व पर जोर दिया कि अगले चुनाव में बीआरएस के किसी उम्मीदवार की जमानत सुरक्षित नहीं रहना चाहिए।

श्री शाह ने कहा,“कांग्रेस के लिए कोई भी वोट अनिवार्य रूप से बीआरएस को फायदा पहुंचायेगा। यदि आप सरकार में बदलाव चाहते हैं, तो अपना वोट भाजपा को दें। कांग्रेस या बीआरएस के लिए वोट केवल परिवार के शासन को कायम रखेगा। मैंने पूरे तेलंगाना का दौरा किया है, और वहां भाजपा के पक्ष में जनता से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली।”

पार्टी के सत्ता में आने के बाद पिछड़ा वर्ग (बीसी) समुदाय से एक मुख्यमंत्री नियुक्त करने का वादा करते हुए, श्री शाह ने मुसलमानों को दिये गये चार प्रतिशत आरक्षण को वापस लेने और इसे एससी, एसटी तथा बीसी के लिए आरक्षण पुनर्निर्देशित करने का वादा किया।

उन्होंने श्री राव पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असादुदीन ओवैसी के डर से मुक्ति दिवस के आयोजन से बचने का आरोप लगाया।

श्री शाह ने केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा तेलंगाना को दी गई वित्तीय सहायता पर प्रकाश डाला और इसकी तुलना तत्कालीन आंध्र प्रदेश को यूपीए शासन की सहायता से की।

उन्होंने वैट में कटौती, एक रुपये सहित विभिन्न पहलों का वादा किय, जिसमें किसानों के लिए 2,500 रुपये की इनपुट सब्सिडी, न्यूनतम समर्थन मूल्य। धान के लिए 3,100 रुपये, राज्य हल्दी बोर्ड की स्थापना, सभी किसानों के लिए फसल बीमा प्रीमियम का भुगतान, चार मुफ्त गैस सिलेंडर का वितरण और स्वास्थ्य बीमा इत्यादि शामिल हैं।

इसके अतिरिक्त, श्री शाह ने घोषणा की कि अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी, 2024 को होगी और भाजपा सरकार राज्य में सत्ता संभालने के बाद राम मंदिर तक जाने की मुफ्त यात्रा की सुविधा देगी।


नव भारत न्यूज

Next Post

आरिफ के तुष्टीकरण से रोशन हुई दरगाह की मशाल सरकारी जमीन पर सरकारी अधिकारी ने बनवा दी दरगाह, तबादले के बाद नहीं हुए थे रिलीव

Mon Nov 27 , 2023
शाजापुर, 27 नवंबर. अभी तक तुष्टीकरण राजनीति में देखने को मिलता था, लेकिन अब प्रशासनिक हलकों में भी तुष्टीकरण देखने को मिल रहा है. सरकारी जमीन पर सरकारी अधिकारी ने बनवा दी दरगाह और लगे हाथ पौधारोपण भी कर दिया. गौरतलब है कि ग्राम पंचायत कांजा में राजस्व विभाग के […]