विंध्य के दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा लगी दांव पर 


विंध्य की डायरी
डा0 रवि तिवारी

विधानसभा चुनाव पूरे प्रदेश में सम्पन्न हो चुके है और अब जनादेश बाहर आने की घडिया नजदीक आती जा रही है. सभी दिल थाम कर बैठे है कि जनादेश क्या निकलेगा. विंध्य के दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा इस बार दांव में लगी हुई है. विंध्य ने हमेशा राजनीति के नये समीकरण बनाये है और चौकाने वाले परिणाम भी दिये है. इस बार भी कुछ ऐसा ही होने वाला है. दरअसल साइलेंट वोटर ने सभी की धडक़ने बढ़ा दी है. मतदान का प्रतिशत बढ़ा है, इसको लेकर राजनीतिक दल अपने-अपने तरीके से आकलन कर रहे है. कोई भी सीट ऐसी नही है जहां काटे की टक्कर न हो. सभी जगह कांटे का मुकाबला रहा है, यही वजह है कि राजनीत के गणित बैठाने वाले चुनावी समीकरण को हल नही कर पा रहे है. दिग्गज नेताओं की बात करे तो कांग्रेस के कद्दावर नेता अजय सिंह राहुल की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है.

पिछला चुनाव हार गये थे, वही अमरपाटन से राजेन्द्र सिंह, सांसद गणेश सिंह, रीती पाठक, विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम, मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, रामखेलावन पटेल, कमलेश्वर पटेल जैसे दिग्गज नेताओं का फैसला होगा. दरअसल इन सभी नेताओं के सीट पर कांटे का मुकाबला रहा है. सभी ने चुनावी गणित बैठाकर पूरी ईमानदारी से चुनाव भी लड़ा है. मतदाता साइलेंट हो गये ऐसे में चुनाव का रूझान भी समझ में नही आया कि आखिर मतदाताओं का झुकाव किसकी ओर हुआ है. कांग्रेस-भाजपा के समर्थक और कार्यकर्ता जीत के दावे अपने हिसाब से कर रहे है पर असल मतदाता शांत है जिसके वोट से फैसला होना है. 3 दिसम्बर का सभी को इंतजार है. जनादेश बाहर आने के बाद विंध्य के दिग्गज नेताओं के राजनीतिक भविष्य का निर्धारण होगा.

त्रिकोणीय मुकाबले में उलझे नेता 

विंध्य क्षेत्र में इस बार कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधे लड़ाई नही रही. कई विधानसभा सीट ऐसी है जहां पर त्रिकोणीय मुकाबला रहा है और कोई भी दल के प्रत्याशी किसी से कम नही रहे है. त्रिकोणीय मुकाबले के चलते चुनाव के मैदान में उतरे नेता उलझे हुए है और आने वाले जनादेश से सभी आशंकित भी है. कही पर बसपा ने तो कही आप पार्टी ने त्रिकोणीय मुकाबला बना दिया. रीवा जिले की बात करे तो यहा चार सीटो पर त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिला है. जहां पर कांग्रेस भाजपा के साथ बसपा ने चुनाव को रोचक बना दिया है. जबकि कई जगह कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधी लड़ाई है. सिंगरौली और चोरहट में आप पार्टी ने भाजपा और कांग्रेस की गणित बिगाड़ दी है. जो समीकरण बनने थे वह नही बने, मैहर और सीधी सीट में भी त्रिकोणीय मुकाबला रहा है. ऐसे में इस बार विंध्य से जो चुनाव के परिणाम आयेगें वह चौकाने वाले होगे. यही वजह है कि सभी नेताओं की सांसे थमी हुई है, कुछ भी हो सकता है और जो होगा अप्रत्याशित होगा. वैसे भी विंध्य में हमेशा राजनीति की एक नई इबारत लिखी है उम्मीद है कि इस बार भी कुछ ऐसा ही होने वाला है.

विंध्य के लिये एक और ऐतिहासिक दिन 

विंध्य क्रिकेट जगत को एक और ऐतिहासिक उपलब्ध मिली है. रीवा के होनहार खिलाड़ी सौम्य पाण्डेय अगले माह दुबई में होने वाले अंडर-19 एशिया कप में भारत टीम के लिये चयनित हुए है और उप कप्तान बनाये गये है. यह विंध्य के लिये गौरव की बात है जब विंध्य के माटी में पले बढ़े सौम्य अपनी प्रतिभा का जौहर दिखायेगें. रीवा के केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक 1 की टीम से खेलते हुए विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से क्रिकेट क्षेत्र में अपना मुकाम बनाया है. मूलत: सीधी जिले के भरतपुर के रहने वाले है, इसके पूर्व ईश्वर पाण्डेय एवं कुलदीप सेन का भी चयन भारतीय टीम में हुआ था. अगले महीने दुबई में होने वाले एशिया कप में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवायेगें.

छेडख़ानी पड़ी मंहगी 

भाजपा अपने चाल चरित्र के लिये जानी जाती है पर इनके पदाधिकारी जब ऐसी हरकत कर बैठते है जिससे पार्टी की छवी खराब होती है. ऐसा ही एक मामला सतना के रैगांव विधानसभा क्षेत्र से सामने आया है. सोहावल मंडल के अध्यक्ष कल्याण सिंह के ऊपर एक नाबालिग छात्रा से छेडख़ानी का मामला दर्ज कराया गया. मामला दर्ज होते ही आनन-फानन इन्हे पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया. लेकिन इस हरकत से पार्टी की छवि धूमिल हुई है.

नव भारत न्यूज

Next Post

नक्सलियों ने मचाया उत्पात, डामर प्लांट में लगे 14 वाहन फूंके

Mon Nov 27 , 2023
दंतेवाडा, 27 नवंबर (वार्ता) छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के भांसी थाना क्षेत्र में माओवादी नक्सलियों ने एक डामर प्लांट में आगजनी करते हुए 14 वाहनों को आग के हवाले कर दिया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आर के बर्मन ने बताया कि भांसी थाना क्षेत्र के दो किलोमीटर दूर डामर पलांट […]