वैश्विक रुख का बाजार पर रहेगा असर


मुंबई 26 नवंबर (वार्ता) विश्व बाजार के कमजोर रुझान के बावजूद स्थानीय स्तर पर हुई लिवाली की बदौलत बीते सप्ताह बढ़त पर रहे घरेलू शेयर बाजार पर अगले सप्ताह विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) के निवेश प्रवाह, डॉलर सूचकांक और कच्चे तेल की कीमतों का असर रहेगा।

बीते सप्ताह बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 175.31 अर्थात 0.3 प्रतिशत की तेजी के साथ सप्ताहांत पर 65970.04 अंक पर पहुंच गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 62.9 अंक यानी 0.32 प्रतिशत की बढ़त लेकर 19794.70 अंक पर रहा।

समीक्षाधीन सप्ताह में बीएसई की दिग्गज कंपनियों की तरह मझौली और छोटी कंपनियों के शेयरों में लिवाली हुई। इससे सप्ताहांत पर मिडकैप 229.81 अंक 0.7 प्रतिशत उछलकर 33610.39 अंक और स्मॉलकैप 208.66 अंक यानी 0.53 प्रतिशत चढ़कर 39807.29 अंक पर रहा।

विश्लेषकाें के अनुसार, पूरे सप्ताह घरेलू सूचकांक सकारात्मक रुझान के साथ एक दायरे में कारोबार करते रहे। अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने सतर्क रुख अपनाया तथा यूरोपीय और जर्मन बाजारों के नरम रुख का असर घरेलू बाजार पर भी पड़ा। महंगाई कम होने और अमेरिका में हाल में जारी रोजगार आंकड़ों के साथ-साथ अमेरिकी बॉन्ड यील्ड में कमी ने विदेशी निवेशकों को उभरते बाजार की ओर आकर्षित किया है।

घरेलू बाजार में मुनाफावसूली का दबाव रहा। त्योहारी मांग में जोरदार उछाल के कारण टिकाऊ उपभोक्ता सामान और रियल्टी जैसे क्षेत्रों ने बढ़त हासिल की। हालांकि कमजोर वैश्विक रुख के दबाव में आईटी क्षेत्र का प्रदर्शन कमजोर रहा। साथ ही गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) द्वारा असुरक्षित ऋण देने की आरबीआई की जांच के बावजूद बीते सप्ताह बैंकिंग सूचकांक का प्रदर्शन लचीला रहा।

इन वैश्विक और स्थानीय परिदृश्य के बीच अगले सप्ताह बाजार पर एफआईआई निवेश प्रवाह, डॉलर सूचकांक और कच्चे तेल की कीमतों का बाजार पर असर रहेगा।

वैश्विक स्तर के कमजोर संकेतों के साथ ही घरेलू स्तर पर ऑटो, रियलटी, यूटिलिटी और कमोडिटी जैसे समूहों में हुयी बिकवाली के कारण सोमवार को सेंसेक्स 139.58 अंक टूटकर 65665.15 अंक पर और निफ्टी 37.80 अंक फिसलकर 19694 अंक पर रहा। वहीं, विदेशी बाजारों की गिरावट के बावजूद स्थानीय स्तर पर कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, रियल्टी, कमोडिटीज और हेल्थकेयर समेत बारह समूहों में हुई लिवाली की बदौलत मंगलवार को सेंसेक्स 275.62 अंक उछलकर 65930.77 अंक और निफ्टी 89.40 अंक चढ़कर 19783.40 अंक पर पहुंच गया।

इसी तरह विश्व बाजार के मिलेजुले रुख के बीच स्थानीय स्तर पर पावर, ऑटो, आईटी और हेल्थकेयर समेत बारह समूहों में हुई लिवाली की बदौलत बुधवार को सेंसेक्स 92.47 अंक चढ़कर 66 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 66023.24 अंक और निफ्टी 29.40 अंक बढ़कर 19812.80 अंक हो गया।

विश्व बाजार के सकारात्मक रुझान के बीच स्थानीय स्तर पर ऊर्जा, दूरसंचार, धातु, तेल एवं गैस और रियल्टी समेत बारह समूहों में 1.22 प्रतिशत तक की तेजी वहीं आईटी, टेक और हेल्थकेयर समेत आठ समूहों में 1.13 प्रतिशत तक की बिकवाली के दबाव में गुरुवार को सेंसेक्स 5.43 अंक फिसलकर 66017.81 अंक और निफ्टी 9.85 अंक की मामूली गिरावट लेकर 19802 अंक पर रहा। इसी तरह विश्व बाजार के मिलेजुले रुख के बीच स्थानीय स्तर पर एफएमसीजी, आईटी, तेल एवं गैस और टेक समेत नौ समूहों में हुई बिकवाली से शुक्रवार को सेंसेक्स 47.77 अंक टूटकर 65970.04 अंक और निफ्टी 7.30 अंक फिसलकर 19794.70 अंक रह गया।


नव भारत न्यूज

Next Post

राज्यपाल ने इन्फेंट्री के इतिहास को देखा और समझा

Sun Nov 26 , 2023
इन्फेंट्री रिसर्च सेंटर और संग्रहालय का अवलोकन किया इंदौर: राज्यपाल मंगूभाई पटेल ने आज अपने डॉ. अम्बेडकर नगर (महू) के भ्रमण के दौरान इन्फेंट्री रिसर्च सेंटर और संग्रहालय का अवलोकन किया. इस दौरान उन्होंने इन्फेंट्री संग्रहालय में सन 1757 से लेकर 2020 तक इन्फेंट्री कोर के इतिहास को देखा और […]