कोई जीत पक्की मान रहा तो कोई अब भी आंकलन में उलझा


3 को मतगणना: प्रत्याशियों, समर्थकों की धडक़नें हो रहीं तेज
जबलपुर:  जिले की आठों विधानसभा के 83 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई है। तीन दिसम्बर को मतगणना होनी है। जैसे-जैसे मतगणना की तारीख नजदीक आ रही है वैसे-वैसे प्रत्याशियोंं और उनके समर्थकों की धडक़नें भी तेज होती जा रही हैं। कोई जीत पक्की मान रहा तो कोई अब भी जीत-हार के गणित में उलझा हुआ है। कौन जीत रहा और कौन हार रहा,  किस बूथ से, कितने वोट, किस प्रत्याशी को मिल रहे है, किसकी सरकार बन रही है इसको लेकर भी चौक-चौराहों मेंं चर्चाएं तेज हो गई है। हालांकि जीत हार के इस रहस्य से तीन दिसम्बर को पर्दा उठ जायेगा।
 ख्वाबों में कट रही रातें
जीत का खुमार ऐसा चढ़ा हुआ है कि प्रत्याशियों और उनके समर्थकों की रातें भी ख्वाबों मेें कट रही है। कोई विधायक बनने का सपना देख रहा तो कोई फूलों से खुद का स्वागत होता देख रहा है तो किसी को हार के सपने भी आ रहे है।
कुछ तो जश्न की तैयारी में जुटे
कुछ प्रत्याशी और उनके समर्थक जीत पक्की मानकर जश्न की तैयारी में तक जुट गए है। किसी ने होटल, रेस्टोरेंट, डीजे बुक कर दिए है तो किसी ने फूल माला, मिष्ठान की दुकानों में पहले से ही ऑर्डर तक दे दिए है। कुछ प्रत्याशियों के समर्थकों का दावा है कि जीत तो पक्की है सिर्फ घोषणा होने बाकी है।
बंपर वोटिंग से कहीं खुशी तो कहीं टेंशन  
बंपर वोटिंग ने भी कुछ प्रत्याशियों और उनक समर्थकों की टेंशन बढ़ा दी है तो किसी की टेंशन बढ़ गई है। कोई दावा कर रहा है कि जब भी रिकॉर्ड तोड़ वोटिंग होती तो सरकार बदलने की भी संभावना बढ़ जाती है तो कोई बंपर वोटिंग से जीत हार के गणित में लगा हुआ है। विदित हो कि आठों विधानसभा क्षेत्र में 75.39 प्रतिशत मतदान हुआ है। यह वर्ष 2018 में हुये विधानसभा चुनाव की तुलना में करीब 5 फीसदी अधिक है। युवाओं, महिलाओं, बुजुर्गों और दिव्यांगजनों ने उत्साह के साथ अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर लोकतंत्र के इस महायज्ञ में आहुति दी है।


नव भारत न्यूज

Next Post

उम्रदराज नेताओं को मिलेगा प्रमोशन या होगी आखिरी पारी...

Fri Nov 24 , 2023
महाकौशल की डायरी अविनाश दीक्षित इस बार का विधानसभा चुनाव महाकौशल की राजनीति के कुछ माहिर खिलाड़ियों के लिए प्रमोशन वाला साबित होगा या फिर आखिरी पारी वाली होगा.. ? यदि कांग्रेस सत्ता में आई तो भारतीय जनता पार्टी के उम्रदराज नेताओं का पॉलिटिकल रिटायरमेंट हो जाएगा और यदि भाजपा […]