कांग्रेस प्रत्याशी के भाई समेत चार पर एफआईआर दर्ज


लापरवाही बरतने पर एसआई को एसपी ने किया सस्पेंड
जबलपुर: पूर्व विधानसभा में मतदान समाप्ति के आधे घंटे पहले भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशियों के सर्मथकों के बीच हुई फायरिंग, बमबाजी, पत्थरबाजी के मामले पुलिस ने पूर्व मंत्री एवं पूर्व विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी लखन घनघोरिया के भाई समेत चार अन्य के खिलाफ 307 समेत अन्य धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है। इस घटनाक्रम में लापरवाही उजागर होने पर पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने  एसआई बृजेन्द्र तिवारी को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है।

विदित हो कि शुक्रवार को वोटिंग के दौरान कई जगह विवाद की स्थिति बनी, लेकिन सबसे अधिक बवाल संवेदनशील विधानसभा पूर्व में मचा। जैसे पहले से तय था वैसा ही हुआ। वोटिंग के अंतिम चरण में भाजपा-कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच विवाद कांचघर स्थित कांग्रेस नेता कल्लन गुप्ता के कार्यालय से शुरू हुआ था जहां अंचल सोनकर अपने समर्थकों के साथ  पहुंचे थे, यहीं भाजपा और कांग्रेस के गुट आपस में टकरा हुआ और दोनों पक्षों की ओर से फायरिंग, बमबाजी के साथ पथराव हो गया था।  कांचघर के बाद भानतलैया में दोनों पक्ष भिड़ गए थे। दोनों पक्षों से कई लोग घायल हुए थे। इसके बाद देर रात रसल चौक स्थित होटल में भी बमबाजी हुई थी।
संदेहियों को हिरासत में लिया
मामले में पुलिस ने कुछ संदेहियों को हिरासत में ले लिया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा पुलिस सीसीटीव्ही फुटेज भी खंगालते हुए बवाल करने वालों को चिन्हित कर रही है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपी पकड़ लिए जाएंगे।
8 से 10 राउंड हुई फायरिंग
सूत्रों की माने तो दोनों पक्षों ने फायरिंग, बमबाजी के साथ पथराव किया। इस दौरान करीब आठ से दस राउंड फायरिंग हुई थी।  भाजपा प्रत्याशी अंचल सोनकर उनके चार समर्थकों समेत एएसआई समेत और दूसरे पक्ष से भी लोग घायल हुए थे।
वीडियो हुआ वायरल
इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।   जिसमें गोलियों, बमबाजी की आवाजें भी सुनाई दे रही है। इस घटनाक्रम से जुड़े करीब तीन से चार वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए है।
दूसरा पक्ष भी थाने में बैठा
मामले में भाजपा प्रत्याशी अंचल सोनकर की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई। जिस पर  पुलिस ने कांग्रेस प्रत्याशी लखन घनघोरिया के भाई जय घनघोरिया समेत चार अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। वहीं समाचार लिखे जाने तक दूसरा पक्ष भी थाने पहुंच चुका था। बताया जाता है कि पुलिस देर रात तक काउंटर केस दर्ज करेंगी।

भाजपा प्रत्याशी अंचल और उनके पुत्रों समेत 10 पर प्रकरण दर्ज
दूसरे पक्ष ने भी दर्ज कराई एफआईआर
संवदेनशील पूर्व विधानसभा में गत् दिवस शाम को हुए बवाल, पथराव, गोलीबारी व बमबाजी के मामले में दूसरे पक्ष ने भी एफआईआर दर्ज करवा दी है। पुलिस ने भाजपा प्रत्याशी अंचल सोनकर   उनके दोनों पुत्रों समेत अन्य 10 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।
जानकारी के मुताबिक कांग्रेस प्रत्याशी लखन घनघोरिया के समर्थक फूटाताल निवासी शिवांश चौरसिया ने एफआईआर दर्ज कराई कि वह कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ केन्द्रीय चुनाव कार्यालय में बैठा था। तभी घमापुर चौक की तरफ से अंचल सोनकर बेटे विवेक सोनकर, राम सोनकर, उमेश, चन्द्रकांत, अनिल, नरेन्द्र वर्मा समेत अन्य के साथ उनके कार्यालय के बाहर पहुंचे।

कार्यालय के बाहर रूकते ही भाजपा प्रत्याशी सोनकर और उनके बेटों ने चुनावी रंजिश के चलते कांग्रेस के केन्द्रीय चुनाव कार्यालय की ओर दनादन फायरिंग शुरू कर दी। आरोपियों ने सुअरमार बम पटके और पथराव भी किया। घटना में कांग्रेस कार्यकर्ता विपिन और विनय बुरी तरह जख्मी हो गए। वहीं  घमापुर थाने में भाजपा प्रत्याशी व पूर्व मंत्री अंचल सोनकर ने शिकायत दर्ज करायी  कि  वे शुक्रवार को मतदान वाली शाम करीब 5.30 बजे रामकृष्ण आश्रम स्कूल मतदान केंद्र बाई का बगीचा घमापुर की ओर अपने समर्थक नरेंद्र वर्मा, अनिल सोनकर, चंद्रकांत सोनकर, आकाश सोनकर एवं मोहित सोनकर के साथ जा रहे थे। जैसे ही विवेक गुप्ता उर्फ बब्लीस के घर के सामने पहुंचे तभी सामने से पूर्व विधानसभा कांग्रेस प्रत्याशी लखन घनघोरिया का भाई जय घनघोरिया अपने मित्रों कल्लन गुप्ता एवं शैन्की उर्फ  संदीप सोनकर के साथ पिस्टल लेकर आ गया। जिसने चुनावी रंजिश के चलते अंचल सोनकर के साथ गालीगलौज करते हुए हुए जान से मारने की नीयत उनके ऊपर फायरिंग शुरु कर दी। इस दौरान बमबाजी भी की गई।
  काउंटर केस में यह बने आरोपी
अंचल सोनकर की रिपोर्ट पर पुलिस ने जय घनघोरिया, कल्लन गुप्ता, संदीप सोनकर, अमित, नरेन्द्र वर्मा को आरोपी बनाया है। वहीं शिवांश की रिपोर्ट पर भाजपा प्रत्याशी अंचल सोनकर, उनके बेटे विवेराम सोनकर, राजा सोनकर समेत अन्य को आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने  हत्या के प्रयास, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और आम्र्स एक्ट की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

इनका कहना है
जय घनघोरिया समेत चार अन्य के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। दूसरे पक्ष की ओर से भी शिकायत आई है जांच चल रही है जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई होगी। फरार आरोपियों की तलाश जारी है। प्रकरण में लापरवाही बरतने पर एक एसआई को सस्पेंड किया गया है।
आदित्य प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक


नव भारत न्यूज

Next Post

निर्वाचन आयोग द्वारा सभी 230 सीटों का फाइनल वोटिंग प्रतिशत

Sun Nov 19 , 2023