फिर दौडऩे लगीं सडक़ों पर मेट्रो


हजारों लोगों को मिली सुगमता

जबलपुर: विगत माह मेट्रो बसों के संचालन में हाइकोर्ट ने रोक लगा दी थी। जिसके कारण शहर और आस- पास के उपनगरीय क्षेत्रों में लोगों को आने- जाने के लिए असुविधा का सामना करना पड़ रहा था। जिसके कारण जो लोग रोजाना शहर में आते हैं उनको बहुत ज्यादा परेशानी होने लगी थी। यहां तक कि जो लोग शहर में कार्य करते हैं और अपने क्षेत्र जैसे पनागर, भेड़ाघाट, तिलवारा, सुहागी, पाटन, करमेता आदि जगहों से शहर में काम के लिए आते थे उनको काफ़ी असुविधा होती थी। वहीं ऑटो चालकों और निजी बस संचालकों द्वारा मनमाना दाम वसूला जा रहा था।
चीफ जस्टिस ने दिया स्टे ऑडर
मेट्रो बस चलाने में लगी रोक पर चीफ जस्टिस ने स्टे लगा दिया है। जेसीटीएल सीईओ सचिन विश्वकर्मा के प्रयास से हुए लाखों जनता को अभी तक मिल रहे परिवहन कष्टों से अब मुक्ति मिलने लगी है।
ऑटो चालक सवारी के इंतजार में खड़े
मेट्रो बसों के पहिए थम जाने के बाद से ऑटो- चालक,ई – रिक्शा चालक और निजी बस संचालकों के मनमाने भाव से जनता त्रस्त हो चुकी थी। कहीं-कहीं पर ऑटो चालक अपनी मनमानी से दुगुना कराया भी सवारी से वसूल रहे थे । ऑटो रिक्शा चालकों ने लोगो की मजबूरी का यह फायदा उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। लेकिन अब मेट्रो बसों के संचालन फिर शुरू होने के बाद यह ऑटो चालक अब सवारी के इंतजार में ही खड़े रह जाते हैं।


नव भारत न्यूज

Next Post

सडक़ें बनी आवारा पशुओं का आशियाना, बढ़ रहे सडक़ हादसे

Wed Nov 8 , 2023
राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 39 में जगह-जगह बैठे मिलते हैं आवारा पशु, कागजों में हो रहा गौ अभ्यारण्य बनाने का वायदा सीधी : जिले की सडक़ें आवारा पशुओं का आशियाना बन जाने से लगातार सडक़ हादसे बढ़ रहे हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग क्र.39 में जगह-जगह पशुओं को बैठे हुये दिन-रात देखा जा […]